अपना शहर चुनें

States

Rajasthan: BTP और ओवैसी की पार्टी AIMIM के गठबंधन के संकेतों से गरमायी सियासत, कांग्रेस बोली- कोई फर्क नहीं पड़ता

असदुद्दीन ओवैसी ने वसावा के ट्वीट को हाथोंहाथ लेते हुये कांग्रेस-बीजेपी पर निशाना साधते हुये बीटीपी को किंगमेकर बताया है.
असदुद्दीन ओवैसी ने वसावा के ट्वीट को हाथोंहाथ लेते हुये कांग्रेस-बीजेपी पर निशाना साधते हुये बीटीपी को किंगमेकर बताया है.

असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) की पार्टी एआईएमआईएम (AIMIM) और बीटीपी (BTP) के गठबंधन के संकेतों से राजस्थान की राजनीति का सियासी पारा चढ़ा हुआ है.

  • Share this:
जयपुर. एआईएमआईएम (AIMIM) के नेता असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) की पार्टी और बीटीपी (BTP) के बीच गठबंधन की चर्चाओं से राजस्थान की सियासत (Politics) गर्माई हुई है. कांग्रेस नेता इस मामले में फिलहाल सधी हुई प्रतिक्रिया ही दे रहे हैं. प्रदेश की अशोक गहलोत सरकार के कद्दावर नेता और परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा कि राजस्थान का मिजाज अलग है, यहां वे कामयाब नहीं होंगे.

ओवैसी की पार्टी और बीटीपी के गठबंधन पर सरकारी मुख्य सचेतक महेश जोशी ने कहा कि सोशल मीडिया से चला सिलसिला सोशल मीडिया पर ही खत्म हो जाएगा. जब तक कुछ पुख्ता नहीं हो जाए तब तक इस पर क्या टिप्पणी की जाए. बीटीपी विधायकों की समर्थन वापसी के सवाल पर जोशी ने कहा कि अभी तक समर्थन वापसी की कोई सूचना नहीं है. अभी 14 अगस्त वाली स्थिति यथावत है. 14 अगस्त को जिन निर्दलीय और सहयोगी दलों के विधायकों ने समर्थन पत्र दिया था वह बरकरार है. जोशी बोले मंत्री मास्टर भंवरलाल और विधायक कैलाश त्रिवेदी के निधन के चलते 2 विधायकों की संख्या कम हुई है. बाकी 121 विधायक कांग्रेस के साथ हैं.

Rajasthan: बीटीपी को मिला ओवैसी का साथ, गठबंधन हुआ तो बिगाड़ सकते हैं 50 सीटों पर कांग्रेस का समीकरण

राष्ट्रीय पार्टियों पर असर नहीं पड़ेगा


पूर्व राज्यसभा सांसद अश्क अली टाक ने कहा कि जाति- धर्म की राजनीति करने वाली पार्टियों के मिलने का राष्ट्रीय पार्टियों पर असर नहीं पड़ेगा. कुछ पॉकेट्स में ये दल प्रयास कर सकते हैं. इन दलों के मिलने से कांग्रेस और बीजेपी को वोटों की लाभ हानि की भविष्यवाणी करना अभी जल्दबाजी होगा. उनका अपना प्रयास है.

बीटीपी की नाराजगी की यह है जड़
उल्लेखनीय है कि डूंगरपुर जिला परिषद के जिला प्रमुख चुनाव में बीटीपी को हराने के लिए कांग्रेस और बीजेपी एक हो गये थे. इससे बीटीपी कांग्रेस से नाराज है. बीटीपी के दो विधायकों ने प्रदेश की गहलोत सरकार को अपना समर्थन दे रखा है. लेकिन इस घटनाक्रम के बाद बीटीपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष छोटूभाई वासवा ने अपनी इस नाराजगी को सोशल मीडिया पर जाहिर भी किया है. उसके बाद असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने वसावा के ट्वीट को हाथोंहाथ लेते हुये कांग्रेस-बीजेपी पर निशाना साधते हुये बीटीपी को किंगमेकर बताया है. इसके साथ ही ओवैसी ने इस संघर्ष में बीटीपी का साथ देने की बात कहकर गठबंधन का न्यौता भी दे दिया था. ओवैसी के न्यौते पर बीटीपी ने भी उसे सकारात्मक जवाब दिया है. उसके बाद से प्रदेश की सियासी पारा चढ़ा हुआ है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज