होम /न्यूज /राजस्थान /Dungarpur News: आरएसी जवान को लाठी-पत्थरों से पीटा, अस्पताल ले जाते समय मौत

Dungarpur News: आरएसी जवान को लाठी-पत्थरों से पीटा, अस्पताल ले जाते समय मौत


बिछीवाड़ा थानाधिकारी रणजीतसिंह ने बताया कि मृतक के भाई की रिपोर्ट पर हमले, तोड़फोड़ व हत्या का केस दर्ज कर लिया है.

बिछीवाड़ा थानाधिकारी रणजीतसिंह ने बताया कि मृतक के भाई की रिपोर्ट पर हमले, तोड़फोड़ व हत्या का केस दर्ज कर लिया है.

Dungarpur Crime News: बिछीवाड़ा थाना क्षेत्र के शिशोद फला अंबाव में हथियारबंद हमलावरों ने आरएसी जवान देवीलाल लिम्बते के ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

    डूंगरपुर. जिले के बिछीवाड़ा थाना क्षेत्र के शिशोद फला अंबाव में एक साल पहले शिक्षक भर्ती को लेकर नेशनल हाइवे 48 पर हुए कांकरी डूंगरी उपद्रव में पुलिस एफआईआर में नाम लिखवाने का शक आरएसी जवान के परिवार पर भारी पड़ गया. आरोपियों ने पहले देख लेने की धमकी दी और 12 घंटे बाद 10 से 15 हथियारबंद हमलावरों ने आरएसी जवान के परिवार पर हमला कर दिया. हमलावरों ने घर मे जमकर तोड़फोड़ की. हमले के बाद परिवार के सदस्यों ने खेतों में छुपकर अपनी जान बचाई. हमलावरों ने आरएसी जवान के बेटे पर कार चढ़ाकर कुचलने के भी प्रयास किया, लेकिन वह अंधेरे में भाग गया. हमलवारों ने आरएसी जवान को घेरकर जमकर मारपीट की और हथियारों से कई वार किए, जिसमें गंभीर घायल जवान ने गुजरात के अस्पताल ले जाते समय दम तोड़ दिया. हमलावरों को गिरफ्तार करने की मांग को लेकर परिजन पोस्टमार्टम के लिए नहीं पंहुचे है, जिस कारण अब तक पोस्टमार्टम नहीं हो सका है.

    शिशोद फला अंबाव निवासी देवीलाल लिम्बात ने रिपोर्ट देकर बताया कि उसका बड़ा भाई रमेश लिम्बात (47 वर्ष) आरएसी 12वीं बटालियन जयपुर में जवान है. 15 सितंबर को वह छुट्टी लेकर अपने घर आए थे. इसके बाद कल शुक्रवार को सुबह साढ़े 9 बजे उसका बड़ा भाई रमेश व भतीजे सचिन लिम्बात के साथ मोटरसाइकिल पर बैठकर खेरवाडा जा रहे थे. इस दौरान शिशोद स्कूल के पास शिशोद गांव के ही अंकित अहारी, राहुल गमेती, मयंक अहारी, प्रवीण ढूहा व संजू ढूहा मिले और उन्हें रोक लिया. पुरानी रंजिश को लेकर आरोपियों ने सचिन को देख लेने की धमकी दी. इसके बाद आरोपी मौके से चले गए. वहीं देवीलाल, संजय व सचिन ने भी उनकी धमकी पर विश्वास नहीं किया.

    रात में आए हमलावर, जमकर पीटा

    पीड़ित देवीलाल ने बताया कि शुक्रवार रात करीब साढ़े 9 बजे बड़ा भाई रमेश, भतीजा सचिन और दोनों के परिवार घर के आंगन में बैठकर बातचीत कर रहे थे. उसी समय एक कार और मोटरसाइकिल लेकर कुछ लोग आए, जिसमें धमकी देने वाले आरोपी अंकित अहारी, राहुल गमेती, मयंक अहारी, प्रवीण ढूहा व संजू ढूहा समेत 10 से 15 लोग हथियारबद्ध होकर उतरे और अचानक हमला बोल दिया. हमलावरों ने उनके घर पर पथराव शुरू कर दिया, जिससे घर की महिलाएं व बच्चे घर के अंदर छुप गए और दरवाजे बंद कर दिए. हमलावरों ने जमकर तोड़फोड़ की. हमलावरों ने कार से सचिन को कुचलने के प्रयास भी किया, लेकिन वह खेतों की ओर भाग गया और मक्का की फसल के बीच छुपकर अपनी जान बचाई. वहीं देवीलाल भी खेतों में छुप गया.

    ये भी पढ़ें: Pali News: प्रेमी युगल ने खेत पर की आत्महत्या, रिश्ते में लगते थे भाई-बहन

    आरएसी जवान हिम्मत दिखाकर हमलावरों से लड़ता रहा

    आरएसी का जवान रमेश लिम्बात हमलावरों से लड़ता रह. हमलावरों ने उसे घेरकर जमकर मारपीट की. उसके शरीर पर कई वार किए. हमलवारों ने घर के आंगन में खड़ी 3 मोटरसाइकिल को भी भारी नुकसान पंहुचाया. इसके बाद हमलावर धमकियां देते हुए मौके से भाग गए. हमले में आरएसी का जवान रमेश लिम्बात लहूलुहान होकर गंभीर रूप से घायल हो गया. हमलावरों के भागने के बाद परिवार के लोग उसे लेकर बिछीवाड़ा अस्पताल लेकर पंहुचे, जहां रमेश की हालत गंभीर होने पर रैफर कर दिया, जिस पर परिवार के लोग गुजरात के हिम्मतनगर अस्पताल लेकर जा रहे थे कि रास्ते में ही रमेश ने दम तोड़ दिया. इसके बाद परिजन शव को लेकर वापस डूंगरपुर पंहुचे और जिला अस्पताल के मोर्चरी में शव को रखवाया गया।

    हमलावरों को गिरफ्तार करने की मांग पर अड़े परिजन

    हमले ओर हत्या की वारदात के बाद से शिशोद गांव में तनाव का माहौल हैं. गांव में बिछीवाड़ा थाना पुलिस के अलावा अतिरिक्त पुलिस बल को तैनात कर दिया गया है. हमलावरों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर परिजन बैठ गए हैं. आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद ही परिजन पोस्टमार्टम करवाने की मांग पर अड़े हुए हैं.

    दूसरे पक्ष ने भी दी मारपीट की रिपोर्ट

    हमले की वारदात के बाद दूसरे पक्ष से भी शिशोद निवासी अंकित अहारी ने मृतक रमेश लिम्बात समेत उसके परिवार पर धमकिया देने और मारपीट की रिपोर्ट बिछीवाड़ा थाने में दर्ज करवाई है. पुलिस ने उनकी रिपोर्ट भी दर्ज करते हुए मामले में अनुसंधान शुरू कर दिया है. मृतक पक्ष की ओर से छोटे भाई देवीलाल ने हत्या के साथ ही परिवार पर हमला करने, तोड़फोड़ का केस दर्ज करवाया है.

    ये भी पढ़ें:  हीरालाल सैनी के अश्लील Video के बाद अब पुष्कर में ‘गंदा काम’, स्पा सेंटर में सेक्स रैकेट चलाती मिली लड़कियां

    आरएसी जवान के परिवार पर हमले और हत्या की यह वारदात शक के चलते हुई है. शिशोद निवासी आरोपी अंकित अहारी, राहुल गमेती, मयंक अहारी, प्रवीण ढूहा, संजू ढूहा का नाम पिछले साल सितंबर 2020 में नेशनल हाइवे पर हुए उपद्रव में दर्ज है. इस मामले को लेकर आरोपी आरएसी जवान रमेश लिम्बात के बेटे सचिन लिम्बात पर नाम लिखवाने का शक जता रहे थे. सचिन 12वीं कक्षा का छात्र है. इसी शक के चलते आरोपियों ओर सचिन के बीच पिछले एक साल से रंजिश चल रही थी. पिछले साल दिसंबर 2020 में भी आरोपियों ने मिलकर सचिन के साथ मारपीट की थी.

    हत्या का केस दर्ज, आरोपियों की तलाश जारी

    बिछीवाड़ा थानाधिकारी रणजीतसिंह ने बताया कि मृतक के भाई देवीलाल की रिपोर्ट पर हमले, तोड़फोड़ और हत्या का केस दर्ज कर लिया है. वारदात में लिप्त आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की टीमें दबिश दे रही है. शव के पोस्टमार्टम को लेकर भी परिजनों से समझाइश के प्रयास चल रहे हैं. घटना को लेकर दूसरे पक्ष ने भी मारपीट की रिपोर्ट दी है, जिस पर जांच चल रही है.

    Tags: Dungarpur news, Dungarpur Police, Rajasthan news, Rajasthan news in hindi

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें