गर्लफ्रेंड ने शादी का दबाव बनाया तो पूर्व सरपंच ने कर दी हत्या, 10 माह की बेटी को भी मार डाला
Dungarpur News in Hindi

गर्लफ्रेंड ने शादी का दबाव बनाया तो पूर्व सरपंच ने कर दी हत्या, 10 माह की बेटी को भी मार डाला
डूंगरपुर पुलिस ने दोहरे हत्याकांड मामले को सुलझाने का दावा करते हुए मुख्य आरोपी पूर्व सरपंच बाबूराम समेत पांच लोगों को गिरफ्तार किया है

डूंगरपुर जिले के सदर थाना पुलिस ने सात दिन पहले हत्या कर अलग-अलग जगह पर फेंके गए एक महिला और 10 माह की बच्ची के शव का खुलासा करते हुए मुख्य आरोपी पूर्व सरपंच समेत पांच लोगों को गिरफ्तार किया है

  • News18Hindi
  • Last Updated: July 12, 2020, 12:43 AM IST
  • Share this:
डूंगरपुर. राजस्थान के डूंगरपुर (Dungarpur) में पिछले दिनों हुए डबल मर्डर (Double Murder) केस को पुलिस ने सुलझाने का दावा किया है. पुलिस के मुताबिक पूर्व सरपंच ने महिला के साथ अपने अवैध संबंधों (Extra Marital Affair) को छिपाने के लिए इस वारदात को अंजाम दिया था. इस सनसनीखेज दोहरे हत्याकांड का खुलासा करते हुए जिला पुलिस अधीक्षक (एसपी) जय यादव ने बताया कि पांच जुलाई को बिछीवाड़ा थाना क्षेत्र में हाइवे किनारे 10 माह की बच्ची का शव मिला था. उसी दरम्यान सदर थाना क्षेत्र के पाल देवल गांव के पास ही सड़क किनारे एक महिला का शव क्षत-विक्षत हालत में मिला था. इन दोनों शव की पहचान नहीं हो पाई थी. इसके बाद दोनों शवों को जिला अस्पताल के मुर्दाघर में रखवाया गया था.

एसपी जय यादव ने बताया कि दोनों शव मिलने के बाद एएसपी गणपति महावर, डीएसपी प्रभातीलाल जाट के निर्देशन में सदर थानाधिकारी कैलाश सोनी की ओर से जांच की जा रही थी. पुलिस दोनों शवों के तार आपस मे जोड़कर जांच कर रही थी. पुलिस ने इस मामले में लोगों के बताए अनुसार थाणा पंचायत के पूर्व सरपंच बाबूलाल ननोमा को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने अपना गुनाह कबूल कर लिया. पुलिस ने आरोपी बाबूलाल ननोमा, उसके बेटे सुनील, भाई प्रकाश, राकेश कोटेड और हरिलाल बरंडा को गिरफ्तार किया है.

आरोपी के मृतक महिला से पांच साल से थे प्रेम संबंध



पुलिस ने बताया कि आरोपी बाबूलाल के मृतक महिला से पिछले पांच साल से प्रेम संबंध थे. महिला ने 10 माह पहले एक बच्ची को जन्म दिया था. मृतका ने इंजीनियरिंग कर रखी थी और वो पिछले कुछ समय से पढ़ाई के कारण उदयपुर में किराए के कमरे में रहती थी. इस दौरान पूर्व सरपंच भी वहां आता-जाता रहता था. मृतका ने 10 महीने पूर्व डूंगरपुर शहर के दिशा अस्पताल में एक बेटी को जन्म दिया. पुलिस ने अस्पताल से बच्ची की पैदाइश के दस्तावेज बरामद किए हैं, जिसमें उसके पिता का नाम बाबूलाल लिखा हुआ है.
एसपी जय यादव ने बताया कि महिला आरोपी पर शादी करने का दबाव बना रही थी. इससे परेशान होकर उसने उसे रास्ते से हटाने की ठान ली. योजना के मुताबिक चार जुलाई को बाबूलाल ने महिला को उदयपुर से डूंगरपुर बुलाया. जहां आरोपी ने अपने बेटे सुनील, भाई प्रकाश, अपने साथी राकेश और हरिलाल के साथ मिलकर महिला की हत्या की योजना बनाई. घटना वाली रात शराब पीने के बाद आरोपियों ने पहले महिला के सिर पर हथियार से हमला किया. इसके बाद चुन्नी से गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी. इतना ही नहीं उन्होंने 10 माह की मासूम बच्ची को भी उसी चुनरी से गला घोंटकर मार डाला.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज