लाइव टीवी

उम्मीद: ठंडक घुलने के साथ बढ़ी रबी की बुवाई, आंकड़ा पहुंच सकता है 1 करोड़ हैक्टेयर तक

Dinesh Sharma | News18 Rajasthan
Updated: November 5, 2019, 6:02 PM IST
उम्मीद: ठंडक घुलने के साथ बढ़ी रबी की बुवाई, आंकड़ा पहुंच सकता है 1 करोड़ हैक्टेयर तक
राज्य सरकार ने इस बार 15 लाख मीट्रिक टन खाद का आवंटन करवाया है. फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।

माहौल में हल्की ठंडक (Mild cool) घुलने के साथ ही रबी सीजन (Rabi season) के लिए बुवाई जोर पकड़ने लगी है. प्रदेश में अब तक 27 लाख हैक्टेयर से ज्यादा क्षेत्र में बुवाई (Sowing) हो चुकी है. उम्मीद (Expectation) जताई जा रही है कि इस बार रबी की बुवाई का क्षेत्रफल 1 करोड़ हैक्टेयर का आंकड़ा छू सकता है.

  • Share this:
जयपुर. माहौल में हल्की ठंडक (Mild cool) घुलने के साथ ही रबी सीजन (Rabi season) के लिए बुवाई जोर पकड़ने लगी है. प्रदेश में अब तक 27 लाख हैक्टेयर से ज्यादा क्षेत्र में बुवाई (Sowing) हो चुकी है. उम्मीद (Expectation) जताई जा रही है कि इस बार रबी की बुवाई का क्षेत्रफल 1 करोड़ हैक्टेयर का आंकड़ा छू सकता है. इस बार राज्य सरकार (State government) ने 15 लाख मीट्रिक टन खाद का आवंटन (Fertilizer allotment) करवाया है.

गेहूं और जौ के लिए अभी बुवाई का मुफीद समय नहीं है
प्रदेश में रबी सीजन के लिए बुवाई का दौर जारी है. माहौल में हल्की ठंडक घुलने के साथ ही बुवाई का क्षेत्रफल भी बढ़ता जा रहा है. गेहूं और जौ के लिए अभी बुवाई का मुफीद समय नहीं है. कृषि वैज्ञानिकों के मुताबिक गेहूं और जौ की बुवाई के लिए किसानों को अभी कुछ दिन और इंतजार करना चाहिए, जबकि राई और सरसों की बुवाई का समय अब करीब खत्म होने को है.

बुवाई के आंकड़ों पर एक नजर

- रबी सीजन में 93.30 लाख हैक्टेयर में बुवाई का लक्ष्य है.
- 4 नवंबर तक 27.11 लाख हैक्टेयर में बुवाई हो चुकी है.
- लक्ष्य के मुकाबले 29.06 प्रतिशत क्षेत्र में बुवाई हो चुकी है.
Loading...

- गेहूं की बुवाई लक्ष्य केवल 1.33 प्रतिशत पूरा हुआ है.
- चना की बुवाई 44.88 प्रतिशत क्षेत्र में हो चुकी है.
- राई-सरसों की बुवाई 65.62 प्रतिशत क्षेत्र में हो चुकी है.
- तारामीरा की बुवाई 49.80 प्रतिशत क्षेत्र में हो गई है.

आंकड़ा एक करोड़ हैक्टेयर के आसपास पहुंचने की उम्मीद है
कुछ दिनों बाद प्रदेश में जैसे ही तापमान थोड़ा और कम होगा बुवाई के आंकड़े में उसके साथ रफ्तार आएगी. कृषि वैज्ञानिकों का कहना है कि गेहूं और जौ की बुवाई के लिये न्यूनतम तापमान 19 और अधिकतम तापमान 26 डिग्री के करीब होना चाहिए. पिछले साल रबी सीजन में 89.63 लाख हैक्टेयर क्षेत्र में बुवाई हुई थी. इस बार चूंकि प्रदेश में मानसून अच्छा रहा है लिहाजा उसका फायदा रबी सीजन में भी मिलेगा. कृषि विभाग ने हालांकि लक्ष्य 93.30 लाख हैक्टेयर में बुवाई का रखा है, लेकिन आंकड़ा एक करोड़ हैक्टेयर के आसपास पहुंचने की उम्मीद है.

15 लाख मीट्रिक टन खाद का आवंटन करवाया गया है
एक अक्टूबर से रबी सीजन की शुरुआत हुई है और करीब 15 दिसंबर तक बुवाई का सिलसिला चलेगा. बुवाई का रकबा बढ़ने की उम्मीदों के चलते राज्य सरकार की ओर से इस बार केन्द्र सरकार से 15 लाख मीट्रिक टन खाद का आवंटन करवाया गया है. यह किश्तों में राज्य को उपलब्ध होगा. पहली बार राज्य में इतने बड़े स्तर पर खाद का अग्रिम आवंटन करवाया गया है.

मासूम से रेप और हत्या: रेपिस्ट बेटे को उम्रकैद, सह-आरोपी मां को 5 साल की सजा

PHOTOS: मिलिए करोड़ों के भैंसे 'भीम' से, रहन-सहन और खुराक जानकर हो जाएंगे हैरान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 5, 2019, 5:59 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...