Rajasthan Political Crisis: सीएम गहलोत से मिले धर्मगुरु गाजी फ़कीर, फेयरमाउंट में विधायकों से भी चर्चा!
Jaipur News in Hindi

Rajasthan Political Crisis: सीएम गहलोत से मिले धर्मगुरु गाजी फ़कीर, फेयरमाउंट में विधायकों से भी चर्चा!
गाजी फकीर और सीएम गहलोत के मुलाकात की खबरें आ रही हैं.

Rajasthan Government Crisis: जानकारी के मुताबिक गाजी फकीर (Ghazi Fakari) फेयरमाउंट होटल पहुंचे हैं जहां सीएम अशोक गहलोत (ashok gehlot) से मुलाकात हुई है. इसके साथ ही गाजी फकीर के गहलोत समर्थक विधायकों से भी मुलाकात की बात सामने आ रही है.

  • Share this:
जयपुर. राजस्थान (Rajasthan) का सियासी घमासान उठापटक के बीच लगातार जारी है. एक तरफ जहां सचिन पायलट (Sachin Pilot) और टीम ने स्पीकर के नोटिस को हाईकोर्ट में चुनौती दी है, तो वहीं दूसरी ओर धर्मगुरु गाजी फकीर और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) के मुलाकात की खबरें सामने आ रही हैं. बताया जा रहा है कि गाजी फकीर फेयरमाउंट होटल पहुंचे हैं जहां सीएम अशोक गहलोत से मुलाकात हुई है. इसके साथ ही गाजी फकीर के गहलोत समर्थक विधायकों से भी मुलाकात की बात सामने आ रही है. मालूम हो कि गाजी फकीर मंत्री सालेह मोहम्मद (Saleh Mohammed) के पिता हैं.

वहीं, गहलोत मंत्रिमंडल का प्रस्तावित शपथ ग्रहण समारोह भी फिलहाल टाल दिया गया है. शपथ ग्रहण समारोह की तारीख में संशोधन हो गया है. कैबिनेट सचिवालय को 14 जुलाई को इस संबंध में निर्देश मिले थे. बता दें कि कैबिनेट सचिवालय को 16 जुलाई को शाम 4:30 बजे राजभवन में शपथ ग्रहण समारोह आयोजित करवाने के निर्देश दिये गए थे. लेकिन उसके बाद में कैबिनेट सचिवालय को उच्च स्तर से कोई निर्देश नहीं मिले हैं. कैबिनेट सचिवालय के अधिकारी दो दिन तक नए दिशा-निर्देशों का इंतजार करते करते रहे. फिलहाल, कैबिनेट सचिवालय के अधिकारी निर्देशों का इंतजार कर रहे हैं. नई तारीख क्या होगी अभी कुछ तय नहीं है.

तय नहीं हुआ नाम



गहलोत सरकार पर आये संकट के बाद सचिन पायलट और उनके समर्थक दो कैबिनेट मंत्रियों विश्वेन्द्र सिंह तथा रमेश मीणा को उनके पदों से हटा दिया गया था. उसके बाद उनके विभागों के मुखिया कौन-कौन होंगे अभी तक यह तो तय नहीं हो पाया है. लेकिन इस पूरे सियासी घटनाक्रम के बाद अभी कई तरह के बदलाव देखने को मिल सकते हैं. सरकार को अस्थिर करने की कोशिशों के बाद सत्ता और संगठन में नए समीकरण बनने की संभावनाएं हैं. ये समीकरण किस करवट बैठेंगे अभी इसके महज कयास ही लगाये जा रहे हैं.
ये भी पढ़ें: भाजपाइयों से दादी और पिता के रिश्ते से कैसे आसान हो रही है ज्योतिरादित्य सिंधिया की राह

सभी इकाइयों भंग
नए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने संगठन की सभी इकाइयों की कार्यकारिणियों को भंग कर दिया है. सरकार को बचाने के लिए कांग्रेस की ओर से उठाए गए इस बड़े कदम के बाद सत्ता और संगठन की मौटे तौर पर बड़ी सर्जरी तो कर दी गई है, लेकिन अभी भी काफी बदलाव की गुंजाइश है. फिलहाल, सभी इसी पर नजरें गड़ाए बैठे हैं. सियासी उठापटक के बाद पार्टी ने संगठन स्तर पर तो बड़े पदों पर बदलाव कर उन पर नई नियुक्तियां भी कर दी हैं, लेकिन बदलाव का दौर अभी और चलेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading