Home /News /rajasthan /

हवाई सर्वे कर अरुण जेटली ने लिया ओलावृष्टि से खराब हुई फसलों का जायजा

हवाई सर्वे कर अरुण जेटली ने लिया ओलावृष्टि से खराब हुई फसलों का जायजा

केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कोटा और बूंदी के दौरे पर रहे. उन्होंने हवाई सर्वे कर हाड़ौती अंचल में हुए फसल नुकसान का जायजा लिया. इसके बाद उन्होंने बूंदी के ठिमली गांव में क्षतिग्रस्त मकानों का जायजा लिया. वहीं, जेटली ने किसानों की बात गंभीरता से सुनी और कहा कि फसल नुकसान बहुत ज्यादा हुआ है, ऐसे में सरकार नियमों से परे जाकर किसानों की पूरी मदद करेगी. जेटली के साथ केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह भी मौजूद रहे.

केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कोटा और बूंदी के दौरे पर रहे. उन्होंने हवाई सर्वे कर हाड़ौती अंचल में हुए फसल नुकसान का जायजा लिया. इसके बाद उन्होंने बूंदी के ठिमली गांव में क्षतिग्रस्त मकानों का जायजा लिया. वहीं, जेटली ने किसानों की बात गंभीरता से सुनी और कहा कि फसल नुकसान बहुत ज्यादा हुआ है, ऐसे में सरकार नियमों से परे जाकर किसानों की पूरी मदद करेगी. जेटली के साथ केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह भी मौजूद रहे.

केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कोटा और बूंदी के दौरे पर रहे. उन्होंने हवाई सर्वे कर हाड़ौती अंचल में हुए फसल नुकसान का जायजा लिया. इसके बाद उन्होंने बूंदी के ठिमली गांव में क्षतिग्रस्त मकानों का जायजा लिया. वहीं, जेटली ने किसानों की बात गंभीरता से सुनी और कहा कि फसल नुकसान बहुत ज्यादा हुआ है, ऐसे में सरकार नियमों से परे जाकर किसानों की पूरी मदद करेगी. जेटली के साथ केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह भी मौजूद रहे.

अधिक पढ़ें ...
    केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कोटा और बूंदी के दौरे पर रहे. उन्होंने हवाई सर्वे कर हाड़ौती अंचल में हुए फसल नुकसान का जायजा लिया. इसके बाद उन्होंने बूंदी के ठिमली गांव में क्षतिग्रस्त मकानों का जायजा लिया. वहीं, जेटली ने किसानों की बात गंभीरता से सुनी और कहा कि फसल नुकसान बहुत ज्यादा हुआ है, ऐसे में सरकार नियमों से परे जाकर किसानों की पूरी मदद करेगी. जेटली के साथ केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह भी मौजूद रहे.

    वित्‍त मंत्री जेटली के साथ परिवहन राज्यमंत्री बाबूलाल वर्मा, सासंद ओम बिरला और कलेक्टर हेलिकॉप्टर से फसलों के नुकसान का हवाई सर्वे किया. इस दौरान आपदा राहत कोष की राशि के चेक भी वितरित किए किए.

    गौरतलब है कि जिले में आपदा राहत पैकेज में 38 करोड़ की राशि किसानों के फसल नुकसान के लिए प्रशासन को प्राप्त हुई है जो सहकारी समिति और बैंक के माध्यम से किसानों के खातों में जमा करा दी गई है.

    आप hindi.news18.com की खबरें पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं.

     

     

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर