Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    गुर्जर आरक्षण आंदोलन: रासुका लगाने की तैयारी में गहलोत सरकार, जयपुर सहित इन इलाकों में रहेगा इंटरनेट बंद

    राजस्थान में प्रस्तावित गुर्जर आंदोलन को  लेकर प्रशासन अलर्ट है. (फाइल फोटो)
    राजस्थान में प्रस्तावित गुर्जर आंदोलन को लेकर प्रशासन अलर्ट है. (फाइल फोटो)

    Gujjar Reservation Movement: 1 नवंबर को प्रस्तावित गुर्जर आंदोलन को लेकर राजस्थान में प्रशासन अलर्ट मोड पर है. सरकार ने जयपुर की कुछ तहसीलों में 30 अक्टूबर की शाम से 31 अक्टूबर की शाम तक इंटरनेट सेवा बंद (Internet Service Down) रखने का फैसला लिया है.

    • Share this:
    जयपुर. 1 नवंबर को प्रस्तावित गुर्जर आंदोलन (Gujjar Reservation Movement:) के मद्देनजर राजस्थान में प्रशासन अलर्ट के मोड़ पर आ गया है. जयपुर संभागीय आयुक्त सोमनाथ मिश्रा ने शुक्रवार को एक अहम आदेश जारी कर जयपुर जिले की कोटपूतली पावटा शाहपुरा विराटनगर जमवारामगढ़ तहसील में 24 घंटे के लिए इंटरनेट बंद रखने के आदेश जारी कर दिए हैं. संभागीय आयुक्त द्वारा जारी आदेश के अनुसार 30 अक्टूबर शाम 6:00 से 31 अक्टूबर शाम 6:00 बजे तक इंटरनेट सेवाएं बंद रहेंगी. गुर्जर बाहुल्य इलाकों में विशेष चौकसी बरतने के भी निर्देश दिए गए हैं. इससे पहले संभागीय आयुक्त ने भरतपुर और करौली में इंटरनेट सेवाएं बंद रखने के आदेश जारी किए थे.

    गुर्जर आंदोलन के मद्देनजर प्रशासन भी अपनी तैयारी पुख्ती कर रही है. गृह सचिव कलेक्टर और एसपी से  पल-पल की अपडेट ले रहे हैं. गृह सचिव एनएल मीणा ने करौली, भरतपुर , सवाई माधोपुर के जिला कलेक्टर से हालातों का फ़ीडबैक लिया है. गृह सचिव ने कानून व्यवस्था को लेकर चर्चा की. इसके साथ ही गृह सचिव ने क्लेक्टर और एसपी को अलर्ट रहने के निर्देश दिए हैं.

    सरकार ले सकती है बड़ा फैसला



    1 नवंबर को प्रस्तावित गुर्जर आंदलोन के मद्देनजर राजस्थान की गहलोत सरकार बड़ा फैसला ले सकती है. गुर्जर बाहुल्य जिलों के कलेक्टर की मांग पर राज्य सरकार रासुका लगा  सकती है. मालूम हो कि रासुका का इस्तेमाल प्रदर्शनकारियों पर लगाम लगाने के लिए किया जाता है. इसमें हिरासत में लिए व्यक्ति को अधिकमत एक साल जेल में रखा जा सकता है. फिलहाल, गृहविभाग को कलेक्टरों के प्रसाव का इंतजार है.
    ANI ने ये ट्वीट किया है



    ये भी पढ़ें: Bihar Election 2020: मुजफ्फरपुर में पहली बार मनरेगा मजदूरों ने उतारा अपना प्रत्याशी, बैल्जियम के अर्थशास्त्री कर रहे प्रचार



    ये जिले हैं गुर्जर बाहुल्य

    राजस्थान में गुर्जर बाहुल्य जिलों में करौली, भरतपुर, सवाई माधोपुर, दौसा और धौलपुर जिला शामिल है. भीलवाड़ा का आसींद और सीकर का नीम का थाना तथा झुंझुनूं के खेतड़ी इलाके में भी गुर्जर समाज का बाहुल्य है. हाड़ौती संभाग में भी गुर्जर समाज की अच्छी खासी तादाद है. गुरुवार को दौसा के आभानेरी में गुर्जर समाज के नेताओं की हुई बैठक में इस बात के संकेत दे दिये गये थे कि कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला के नेतृत्व में दिल्ली-मुंबई रेलवे ट्रैक पर स्थित पीलूपुरा में जाम किया जाएगा तो अन्य नेता दौसा में आगरा-बीकानेर राजमार्ग पर स्थित सिकंदरा चौराहा पर सड़क मार्ग जाम करेंगे.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज