लाइव टीवी

राजस्थान: कर्ज से परेशान किसान ने कलेक्ट्रेट परिसर में लगाई फांसी

News18 Rajasthan
Updated: May 22, 2019, 2:47 PM IST
राजस्थान: कर्ज से परेशान किसान ने कलेक्ट्रेट परिसर में लगाई फांसी
प्रतीकात्मक तस्वीर

फांसी पर झूलने वाले किसान ने हनुमानगढ़ की एक बैंक से 7 लाख रुपए का कर्ज लिया था, जिसे माफ करवाने के लिए वह कई दिनों से बैंक का चक्कर काट रहे थे.

  • Share this:
राजस्थान के हनुमानगढ़ में कलेक्ट्रेट परिसर में एक किसान द्वारा आत्महत्या का मामला सामने आया है. यहां कथित तौर पर कर्ज से परेशान एक किसान ने मंगलवार की सुबह कलेक्ट्रेट स्थित पार्क में खुद को फांसी लगा ली. जब सफाईकर्मी कलक्ट्रेट पहुंचे तो उन्होंने कलक्ट्रेट पार्क में पेड़ पर लटका शव देखकर जंक्शन पुलिस को सूचना दी. सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची जंक्शन पुलिस ने शव को पेड़ से उतारकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा.

मृतक सुरजाराम जिले के नोहर के कीकरवाली गांव निवासी था. मृतक किसान के पास से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है. बताया जा रहा है कि किसान ने हनुमानगढ़ की एक बैंक से 7 लाख रुपए का कर्ज लिया था. जिसे माफ करवाने के लिए वह कई दिनों से कलेक्‍ट्रेट का चक्कर काट रहा था. आरोप है कि बैंक कर्मचारी ब्याज की गणना के लिए उनसे कई दिनों से चक्कर लगवा रहे थे. इससे निराश होकर किसान ने खुदकुशी कर ली.

बता दें कि जिले में पिछले 6 महीने में कर्ज से परेशान 3 किसान जान दे चुके हैं. राजस्थान में सरकार बनते ही सीएम अशोक गहलोत ने 2 लाख रुपये तक का कृषि ऋण माफ करने की घोषणा की थी. इस घोषणा से राजस्थान सरकार को 18,000 करोड़ रुपये का बोझ उठाना पड़ा था. कर्ज माफी पर गहलोत ने कहा था कि को-ऑपरेटिव बैंकों से लिए गए कर्ज ही माफ होंगे. राष्ट्रीय बैंकों के डिफॉल्टर्स को 2 लाख रुपए तक की छूट दी जाएगी.

ये भी पढ़ें-

राजस्थान: कांग्रेस पर भारी पड़ा संघ पृष्ठभूमि का ये शख्स

चंद सेकेंड में शातिर चोर ने गायब की बाइक, सीसीटीवी में कैद

रतनगढ़ आ रही युवती से बस में हुई छेड़छाड़

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए हनुमानगढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 22, 2019, 1:42 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...