लाइव टीवी

10 साल से खुद के बाल खा रही थी युवती, पेट से निकला 600 ग्राम बालों का गुच्छा

Raju Ramgarhia | News18 Rajasthan
Updated: October 7, 2019, 7:19 PM IST
10 साल से खुद के बाल खा रही थी युवती, पेट से निकला 600 ग्राम बालों का गुच्छा
5 चिकित्सकों की टीम ने युवती का ऑपरेशन कर बालों का गुच्छा बाहर निकाला. फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।

हनुमानगढ़ (Hanumangarh) के महात्मा गांधी राजकीय जिला चिकित्सालय (Mahatma Gandhi Government Hospital) में जांच के दौरान युवती के पेट में बालों का गुच्छा होना सामने आया. इसके बाद सोमवार को 5 चिकित्सकों की टीम ने युवती का ऑपरेशन किया.

  • Share this:
हनुमानगढ़. राजस्थान के हनुमानगढ़ जिला मुख्यालय के महात्मा गांधी राजकीय जिला चिकित्सालय (Mahatma Gandhi Government Hospital) के चिकित्सकों ने सोमवार को एक जटिल ऑपरेशन (complicated operation) करने में सफलता (Success) हासिल की है. जिला चिकित्सालय के प्रमुख चिकित्सा अधिकारी डॉ. एमपी शर्मा के नेतृत्व में 5 चिकित्सकों ने इस जटिल ऑपरेशन को सफलतापूर्वक अंजाम दिया. इसमें 18 वर्षीय युवती (Girl) के पेट से चिकित्सकों ने बालों (Hair) का 600 ग्राम का गुच्छा (Bunch of 600 grams) निकाला गया है. करीब 10 साल में ये बाल पेट में पड़े-पड़े इकठ्ठा गए और लगभग चोटी के शेप में आ गए.

5 चिकित्सकों की टीम ने युवती का ऑपरेशन किया
पीएमओ डॉ. एमपी शर्मा के अनुसार हनुमानगढ़ जंक्शन निवासी 18 वर्षीय लड़की करीब 10 साल से अपने बाल खा रही थी. जिसकी वजह से उसके पेट में काफी समय से दर्द हो रहा था. परिजनों ने कई जगह उसकी जांच करवाई, लेकिन कोई कारण समझ में नहीं आया. इसके बाद युवती के परिजन उसको जिला चिकित्सालय लेकर आए.

यहां जांच के दौरान उसके पेट में बालों का गुच्छा होना सामने आया. इसके बाद सोमवार को 5 चिकित्सकों की टीम ने युवती का ऑपरेशन किया. टीम ने ऑपरेशन को सफलतापूर्वक अंजाम देते हुए बालों के गुच्छे को बाहर निकाल दिया है. बालों का गुच्छा देखकर चिकित्सक भी एकबारगी हैरान रह गए. युवती के पेट से निकाले गए बालों के गुच्छे का वजन 600 ग्राम है.

जानलेवा भी साबित हो सकती है ये आदत
पीएमओ डॉ. एमपी शर्मा के अनुसार, हनुमानगढ़ जिले में इस तरह का यह पहला ऑपरेशन है. कई लोगों में यह डिसऑर्डर पाया गया है कि वो स्वयं के बालों को खाते हैं. इससे बाल पेट में गुच्छे के रूप में एकत्रित हो जाते हैं. समय पर इलाज ना मिलने से ये समस्या जानलेवा भी साबित हो सकती है. ऑपरेशन के बाद अब युवती स्वस्थ्य है.

राजस्थान:घरवालों ने कर दिया था बेटे का अंतिम संस्कार, वो 20 दिन बाद लौट आया घर
Loading...

कोटा: 13 दिन के जुड़वा बच्चों को दुर्लभ बीमारी से मिली निजात,पढ़ें-देश पहला केस!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए हनुमानगढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 7, 2019, 5:54 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...