Home /News /rajasthan /

punjab residents sadhu chetan das murdered in hanumangarh of rajasthan dead body found in hut weeds spread rjsr

राजस्थान: कुटिया के अंदर साधु चेतन दास की हत्या, शरीर पर मिले चोटों के निशान, पुलिस जांच में जुटी

साधु चेतन दास बीते 25 बरसों से हनुमानगढ़ के भाखरावाली गांव में ही रह रहे थे.

साधु चेतन दास बीते 25 बरसों से हनुमानगढ़ के भाखरावाली गांव में ही रह रहे थे.

राजस्थान में साधु चेतन दास की हत्या: राजस्थान के हनुमानगढ़ (Hanumangarh) जिले के संगरिया थाना इलाके में स्थित भाखरावाली गांव में रहने वाले साधु चेतन दास की मंगलवार रात को निर्ममता से हत्या (Sadhu Chetan Das murdered) कर दी गई. साधु चेतनदास का शव उनकी कुटिया में दरवाजे पर लहूलुहान हालत में पड़ा मिला. साधु की हत्या के बाद गांव में मातम पसरा हुआ है. साधु चेतनदास पंजाब के रहने वाले थे.

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

साधु चेतन दास के ग्रामीणों के साथ संबंध बेहद अच्छे थे
हनुमानगढ़ के संगरिया थाना इलाके में हुई साधु की हत्या

हनुमानगढ़. राजस्थान के हनुमानगढ़ (Hanumangarh) जिले के संगरिया थाना इलाके में साधु चेतनदास की हत्या (Sadhu Chetan Das murdered) कर दी गई. साधु चेतनदास भाखरावाली गांव में कुटिया में रहते थे. बुधवार को सुबह कुटिया के दरवाजे पर साधु का शव पड़ा मिला. साधु का शव देखकर ग्रामीण सकते में आ गये. साधु चेतनदास के शरीर पर चोटों के कई निशान थे. ग्रामीणों ने बाद में इसकी सूचना पुलिस को दी. पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव को वहां से उठवाकर स्थानीय अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया. हत्या के कारणों का और आरोपियों का अभी तक कुछ पता नहीं चल पाया है. पुलिस पूरे मामले की जांच में जुटी है.

संगरिया पुलिस के अनुसार साधु चेतनदास करीब 25 बरसों से गांव भाखरावाली में कुटिया में रहते थे. बुधवार को सुबह साधु चेतनदास का शव कुटिया के बाहर पड़ा मिला. शव के आसपास खून बिखरा हुआ था. अज्ञात हमलावरों ने साधु की हत्या की है. ग्रामीणों के अनुसार साधु चेतनदास पंजाब के रहने वाले थे. ग्रामीण साधु चेतनदास को कुटिया में रोजाना खाना देकर जाते थे.

साधु चेतनदास के गांव में सभी लोगों से अच्छे संबंध थे
साधु चेतनदास की हत्या की सूचना के बाद संगरिया डीएसपी प्रतीक मील और संगरिया थानाधिकारी हनुमानाराम बिश्नोई भी मौके पर पहुंचे. उन्होंने घटनास्थल का बारिकी से मुआयना किया. पुलिस ने ग्रामीणों से पूछताछ की तो सामने आया कि साधु चेतनदास का किसी से किसी प्रकार का विवाद या झगड़ा नहीं था. वे अपनी कुटिया में रहते थे और गांव में सभी लोगों से उनके अच्छे संबंध थे.

ग्रामीणों ने की हत्यारों को जल्द पकड़ने की मांग
ग्रामीण ही उनको नियमित रूप से कुटिया में भोजन देकर जाते थे. लेकिन आज साधु का शव देखकर ग्रामीण हैरान रह गये. साधु की हत्या की सूचना से गांव में मातम पसर गया. ग्रामीणों ने साधु चेतनदास की हत्या पर शोक जताते हुये पुलिस से मांग की है कि हत्यारों को जल्द से जल्द पकड़ा जाये. फिलहाल पुलिस ने साधु चेतनदास के शव को संगरिया चिकित्सालय की मोर्चरी में रखवाया है. वह सभी एंगल से मामले की जांच कर रही है. अभी तक हत्या का कोई कारण भी सामने नहीं आ पाया है.

Tags: Crime News, Hanumangarh news, Murder case, Rajasthan news

अगली ख़बर