लाइव टीवी

पति को मारकर संदूक में डाल दिया था, पत्नी और उसके प्रेमी को उम्रकैद की सजा

Raju Ramgarhia | News18 Rajasthan
Updated: October 15, 2019, 7:48 PM IST
पति को मारकर संदूक में डाल दिया था, पत्नी और उसके प्रेमी को उम्रकैद की सजा
महिला और उसके प्रेमी ने पहले पति को मारा और उसके चार दिन बाद दोनों बच्चों को मौत के घाट उतार दिया.

हनुमानगढ़ (Hanumangarh) के अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश क्रम संख्या-1 (Additional District and Sessions Judge-1) ने अपने ही दो बच्चों और पति की हत्या (Murder) करने वाली महिला और उसके प्रेमी (Lover) को अंतिम सांस तक जेल में रहने की सजा सुनाई है.

  • Share this:
हनुमानगढ़. अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश क्रम संख्या-1 (Additional District and Sessions Judge-1) ने अपने ही दो बच्चों और पति की हत्या (Murder) करने वाली महिला और उसके प्रेमी (Lover) को अंतिम सांस तक जेल में रहने की सजा सुनाई है. यह बहुचर्चित तिहरा हत्याकांड (Triple murder case) हनुमानगढ़ शहर (Hanumangarh city) में करीब सवा तीन साल पहले हुआ था. अदालत ने दोनों अभियुक्तों पर 60-60 रुपए का जुर्माना (Penalty) भी लगाया है.

पति और बच्चों ने जताया था अवैध संबंधों पर एतराज
प्रकरण के अनुसार पति और बच्चों की हत्या के मामले में सजा पाने वाली रीमा के अपने प्रेमी सुनील यादव से अवैध संबंध थे. इसकी जानकारी मिलने पर रीमा के पति शंभूशरण और दोनों बच्चों ने एतराज उठाना शुरू कर दिया. इस पर रीमा और सुनील दोनों ने उनको रास्ते से हटाने की योजना बनाई. दोनों ने मिलकर पहले तो जुलाई, 2016 को शंभूशरण की धारदार हथियार से नृशंस हत्या कर दी. बाद में उसका शव घर में ही संदूक में रख दिया. घर में 3-4 दिन तक संदूक में शव के रखे होने के बावजूद बच्चों और पड़ोसियों तक को शंभूशरण की हत्या की भनक नहीं लगी.

बच्चों को मारकर फरार हो गए थे

उसके बाद फिर 29 जुलाई को रीमा ने प्रेमी सुनील यादव से मिलकर अपने ही दोनों बच्चों की धारदार हथियार से हत्या कर दी और घटनास्थल से फरार हो गए. बाद में शंभूशरण के घर से बदबू आने पर पड़ोसियों ने जंक्शन पुलिस को इसकी सूचना दी. मकान मालिक ने जंक्शन थाने में हत्या का मामला दर्ज करवाया. पुलिस ने बाद में दोनों को हरियाणा राज्य से गिरफ्तार किया था. इस मामले में सुनील यादव की पत्नी और मृतक शंभूशरण के पिता के पक्षद्रोही होने के बावजूद अदालत ने इसे जघन्य अपराध माना.

60-60 हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया
अदालत ने रीमा और उसके प्रेमी सुनील को जीवन की अंतिम सांस तक जेल में रखने की सजा सुनाई. अदालत ने दोनों अभियुक्तों पर 60-60 हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया है. मामले में सरकार और पीड़ित पक्ष की ओर से पैरवी अपर लोक अभियोजक रिछपाल सिंह चहल और अधिवक्ता मदनलाल पारीक ने की.
Loading...

अलवर: नाबालिग बेटी से रेप करने वाले सौतेले पिता को 10 साल की कड़ी कैद की सजा

निकाय चुनाव: 19 अक्टूबर को निकाली जाएगी निकाय प्रमुख और मेयर की लॉटरी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए हनुमानगढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 15, 2019, 6:00 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...