राजस्थान में बाढ़ के हालात, सेना ने संभाला मोर्चा, 5 जिलों में स्कूलों की छुट्‌टी, पढ़ें- कहां क्या हाल?

राजस्थान के दक्षिण-पूर्वी जिलों कोटा, बूंदी, झालावाड़ और प्रतापगढ़ (kota, baran, bundi, jhalawar and pratapgarh) में पिछले 48 घंटों से भारी बारिश ने कहर बरपाया है. पूरे इलाके में बाढ़ (flood) के हालात पैदा हो गए हैं और कई गांव टापू बनकर रह गए हैं. राहत और बचाव कार्य (rescue operation) में सेना की मदद ली गई है. स्कूलों में अवकाश (school closed) की घोषणा की गई है.

News18 Rajasthan
Updated: August 18, 2019, 12:10 PM IST
राजस्थान में बाढ़ के हालात, सेना ने संभाला मोर्चा, 5 जिलों में स्कूलों की छुट्‌टी, पढ़ें- कहां क्या हाल?
भारी बारिश के चलते बारां, प्रतापगढ़, कोटा, बूंदी और झालावाड़ में शुक्रवार को स्कूलों में अवकाश की घोषणा की गई है. (फोटो-प्रतिकात्मक/Getty Images)
News18 Rajasthan
Updated: August 18, 2019, 12:10 PM IST
राजस्थान के दक्षिण-पूर्वी जिलों में पिछले 48 घंटों से भारी बारिश ने कहर बरपाया है. इस पूरे इलाके में बाढ़ के हालात पैदा हो गए हैं और कई गांव बाढ़ की चपेट में आकर टापू बनकर रह गए हैं. बाढ़ में फंसे ग्रामीणों को बचाने के लिए गुरुवार को सेना की मदद ली गई. इस इलाके में बारिश का दौर अब भी जारी है और इसके चलते हालात और बिगड़ने की आंशका जताई जा रही है. एहतियातन पांच जिलों (बारां, प्रतापगढ़, कोटा, बूंदी और झालावाड़) में शुक्रवार को स्कूलों में अवकाश की घोषणा कर दी गई है.

ये भी पढ़ें- Flood In Rajasthan: कोटा की तस्वीरों में देखें बाढ़ के हालात

बारां जिला कलेक्टर ने जिले से सभी स्कूलों में अवकाश के आदेश जारी किए हैं. प्रतापगढ़ में गुरुवार को भारी बारिश के बाद कलेक्टर ने स्कूलों में दो दिन का अवकाश घोषित कर दिया है. कोटा में तेज बारिश के चलते शुक्रवार को स्कूलों में अवकाश घोषित कर दिया गया है.

वहीं बूंदी शहर में भी भारी बारिश जारी है, जिसके बाद शहर की मुख्य सड़कों-बाजारों में पानी भराव के चलते जिला कलक्टर ने सभी सरकारी और गैर सरकारी स्कूलों में शुक्रवार के अवकाश के निर्देश जारी किए हैं. झालावाड़ जिले में भी भारी बारिश के बाद शुक्रवार को स्कूलों में अवकाश के निर्देश जारी किए गए हैं.

ये भी पढ़ें- Viral Video: अलवर में बच्चा उठाने के आरोपी युवक की लात घूसों से पिटाई

ये भी पढ़ें- अलवर में एक और मॉब लिंचिंग, भीड़ की पिटाई का VIDEO वायरल

झालावाड़ में बाढ़ के हालात, कई गांव बने टापू
Loading...

झालावाड़ जिले में बारिश से बाढ़ के हालात पैदा हो गए हैं. जिले के कई गांव टापू में तब्दील हो चुके हैं और कई गांवों तथा कस्बों में जलभराव से जनजीवन प्रभावित हो रहा है. भारी बारिश के चलते निचली बस्तियां जलमग्न हो गई हैं. कालीसिंध नदी का पानी झालावाड़ शहर तक पहुंच गया है. आशंका जताई जा रही है कि हालात हो और भी चिंताजनक हो सकते हैं.

प्रतापगढ़ में तीन दिन से भारी बारिश, स्कूल बंद
प्रतापगढ़ में पिछले तीन दिन से बारिश जारी है. गुरुवार को भारी बारिश के बाद कलेक्टर ने स्कूलों में 2 दिन का अवकाश घोषित कर दिया है. सरकारी और निजी स्कूलों में अब 16 और 17 अगस्त को अवकाश रहेगा. भारी बारिश के चलते कलेक्टर ने यह आदेश जारी किए हैं.

बारां में सड़क पर पानी का उफान, बस सवार 40 यात्री फंसे
बारां में लगातार बारिश के बाद नदी-नाले उफान पर हैं. गुरुवार को एक यात्री बस सड़क पर बरसाती पानी के बीच काफी देर तक भर फंसी रही. जानकारी के अनुसार सड़क पर पानी लगातार बढ़ रहा था और कवाई कस्बे के पास पेट्रोल पंप के नजदीक इस हादसे में शाम से लोग बस में फंस रहे. सड़क पर तीन से चार फीट पानी भरा हुआ है. प्रशासन को जानकारी देने के बाद बस सवारों को बचाने लिए रेस्क्यू ऑपरेशन समय पर शुरू नहीं हो सका.

कोटा में 48 घंटे से बारिश, अब स्कूलों की छुट्‌टी घोषित
कोटा में तेज बारिश के चलते शुक्रवार को स्कूलों में अवकाश घोषित कर दिया गया है. जिला कलेक्टर मुक्तानन्द अग्रवाल ने स्कूलों की छुट्‌टी के आदेश जारी किए हैं. कोटा और आसपास के इलाकों में पिछले 48 घंटे से बारिश का दौर जारी है.

कैथून में बाढ़ के हालात, सेना ने संभाला मोर्चा
कोटा कैथून कस्बे में भी बाढ़ के हालात बने हुए हैं. बाढ़ में फंसे लोगों को बचाने के लिए गुरुवार को यहां आर्मी ने मोर्चा संभाल लिया. सेना की 50 जवानों की दो टुकड़ियां कैथून पहुंच चुकी हैं और बाढ़ में फंसे लोगों को रेस्क्यू करके सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाना शुरू किया जा चुका है. अब तक 250 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर रेस्क्यू किया जा चुका है. कस्बे के स्कूल और धर्मशालाओं में लोगों को 2500 खाने के पैकेट बांटे गए हैं. रेस्क्यू ऑपरेशन की मॉनिटरिंग में कलेक्टर मुक्तानंद अग्रवाल, ग्रामीण पुलिस अधीक्षक राजन दुष्यंत लगे हुए हैं.

चंद्रलोई नदी का पानी अरामपुरा पहुंचा, लोगों को रेस्क्यू कर निकाला बाहर
कोटा की चंद्रलोई नदी में उफान के बाद पानी खेडारसूलपुर गांव के आरामपुरा बस्ती में घुस गया. नदी के पानी से घिरे 15 से 20 लोगों को लाडपुरा विकास अधिकारी के नेतृत्व की रेस्क्यू टीम ने बचाया. वहीं हाथिखेड़ा गांव में पानी के बीच फंसे 8 लोगों को बाहर निकाला गया.

टोंक में 20 साल बाद संग्राम सागर ओवर फ्लो
टोंक जिले पर मानसून की मेहरबानी जारी है. कई इलाकों में गुरुवार को भी झमाझम जारी रही. जल स्रोतों में पानी की जबरदस्त आवक जारी है. निवारिया से संग्राम सागर में करीब 20 साल बाद चादर चली. नगरफोर्ट के बड़े तालाब भी ओवर फ्लो हो गए. धार्मिक आस्था वाला मांडकला सरोवर भी लबालब हो गया है.

ये भी पढ़ें- CM गहलोत ने फिर कहा- पहलू खान केस पर हम वापस अपील करेंगे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कोटा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 16, 2019, 12:47 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...