हॉर्स ट्रेडिंग केस: SOG ने दो खान व्यवसायियों को किया गिरफ्तार, सरकार गिराने की थी साजिश! 
Jaipur News in Hindi

हॉर्स ट्रेडिंग केस: SOG ने दो खान व्यवसायियों को किया गिरफ्तार, सरकार गिराने की थी साजिश! 
पूछताछ के बाद गिरफ्तारी की गई है.

Horse Trading in Rajasthan: दोनों व्यापारियों के खिलाफ शुक्रवार को हॉर्स ट्रेडिंग (Horse Trading) का मामला दर्ज किया गया था. फिर उन्हें शनिवार सुबह एसओजी (SOG) मुख्यालय लाया गया था. एसओजी-एटीएस (ATS) के एडीजी अशोक राठौड़ ने मुख्यालय में पूछताछ के बाद दोनों व्यापारियों को गिरफ्तार कर लिया.

  • Share this:
जयपुर. स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (एसओजी) ने हॉर्स ट्रेडिंग (Horse Trading) मामले में दो खान व्यवसायियों को लंबी पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया है. पकड़े गए आरोपी खान व्यवसायी उदयपुर के विजय विलास निवासी अशोक सिंह और ब्यावर निवासी भरत मालानी हैं. दोनों व्यापारियों के खिलाफ शुक्रवार को हॉर्स ट्रेडिंग का मामला दर्ज किया गया था. फिर उन्हें शनिवार सुबह एसओजी मुख्यालय लाया गया था. एसओजी-एटीएस (ATS) के एडीजी अशोक राठौड़ ने मुख्यालय में पूछताछ के बाद दोनों व्यापारियों को गिरफ्तार (Arrest) कर लिया.

बना रहे थे बड़ी प्लानिंग

एसओजी की मानें तो दोनों व्यापारी सरकार गिराने के खिलाफ साजिश रच रहे थे. इसके चलते मामले में प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट, विधानसभा के मुख्य सचेतक महेश जोशी से अनुसंधान अधिकारी ने पत्र लिखकर समय मांगा है. प्रकरण में मुख्यमंत्री, उप मुख्यमंत्री और मुख्य सचेतक के पास हॉर्स ट्रेडिंग से संबंधित कोई भी सूचना, सबूत, रिकॉडिंग है तो उसे अनुसंधान अधिकारी को उपलब्ध करवाएं. पत्र में लिखा है कि मुख्यमंत्री, उप मुख्यमंत्री और मुख्य सचेतक समय बताने के साथ स्थान भी बता दें, जहां पर अनुसंधान अधिकारी बयान लेने के लिए खुद पहुंच जाएगा. एडीजी राठौड़ ने कहा कि हॉर्स ट्रेडिंग मामले में कोई भी विधायक अनुसंधान अधिकारी को सबूत दे सकता है. किसी के पास कोई रिकॉडिंग है, तो उसे भी अनुसंधान अधिकारी को दें, ताकि जांच में सहयोग मिल सके.
जानकारी जुटाएगी एसओजी
एसओजी के एडीजी राठौड़ ने कहा कि इस मामले में प्रभावित पक्ष सरकार है. उन्होंने कहा कि इस संबंध में एसओजी ज्यादा से ज्यादा जानकारी जुटाने का प्रयास करेगी. उन्होंने कहा कि पूछताछ करना कोई जांच नहीं है. उन्होंने कहा कि विपक्ष के नेता भी अपना पक्ष रखना चाहते हैं, तो वे अनुसंधान अधिकारी को पक्ष रख सकते हैं.



ये भी पढ़ें: मध्य प्रदेश उपचुनाव: 13 जुलाई से शुरू नहीं होगा ग्वालियर चंबल सीट पर कांग्रेस का प्रचार

सीएम अशोक गहलोत ने कही थी ये बात

मालूम हो कि सीएम अशोक गहलोत ने शनिवार को बीजेपी सरकार पर राज्य की कांग्रेस सरकार को गिराने का बड़ा आरोप लगाया. साजिश का आरोप लगाते हुए सीएम गलहोत ने कहा कि विपक्षी दल कांग्रेस के विधायकों को 15 करोड़ रुपये का ऑफर कर रही है. उन्होंने कहा कि कोरोना संकट के दौरान जहां सरकार लोगों के लिए काम कर रही है तो वहीं भाजपा लोगों के लिए परेशान खड़ा कर रही है. बीजेपी लगातार हमारी सरकार को गिराने की कोशिश कर रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज