10 वर्षों के वफादार ड्राइवर ने मालिक से लूटे ₹40 लाख, इन नौकरों ने भी दिया साथ
Jaipur News in Hindi

10 वर्षों के वफादार ड्राइवर ने मालिक से लूटे ₹40 लाख, इन नौकरों ने भी दिया साथ
पुलिस ने मामले में आरोपियों को गिरफ्तार करने का दावा किया है.

राजस्थान (Rajasthan) के जयपुर (Jaipur) जिले के विराटनगर के जंगल में एक व्यवयासी से हथियार दिखाकर 40 लाख रुपए की डकैती के मामले का खुलासा हो गया है.

  • Share this:
जयपुर. राजस्थान (Rajasthan) के जयपुर (Jaipur) जिले के विराटनगर के जंगल में एक व्यवयासी से हथियार दिखाकर 40 लाख रुपए की डकैती के मामले का खुलासा हो गया है. जयपुर ग्रामीण पुलिस ने इस मामले में व्यवसायी के ड्राइवर समेत उसके सहयोगी हेल्पर और दो अन्य साथियों को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस के मुताबिक ड्राइवर पिछले 10 सालों से मालिक के साथ ही था और उसका वफादार माना जाता था. इस वारदात में व्यावसायी के ही अन्य नौकरों ने साथ दिया. पुलिस ने वारदात में शामिल सभी को गिरफ्तार करने का दावा किया है.

जयपुर पुलिस के मुताबिक बीते 18 जून को शाम 6 बजे श्याम एसोसिएट का मुनिम अलग अलग जगहों से 40 लाख रुपए का कलेक्शन कर विराटनगर होते हुए जयपुर लौट रहा था. गाड़ी को फर्म का ही ड्राइवर चला रहा था, लेकिन जैसे ही गाड़ी बीलावड़ी के जंगलों में पहुंची तो पीछे से आ रही एक आल्टो कार ने ओवरटेक करके गाड़ी रुकवायी और शीशा तोड़कर रुपयों से भरा बैग लेकर फरार हो गए.

वारदात का कैसे हुआ खुलासाा
पुलिस ने इस मामले में सूचनाओं और तकनीक का सहारा लेते हुए पाया कि इस पूरे मामले में व्यवसायी का ड्राईवर जनक ने व्यवसायी के ही हेल्पर अर्जुन के साथ मिलकर सारी घटना को अंजाम दिया है. पुलिस को पहले दिन से ही ड्राईवर पर शक था.  जिससे ड्राइवर के मोबाइल नंबरों की सीडीआर का विश्लेषण किया गया और सख्ती से पूछताछ के बाद ड्राइवर ने अपना जुर्म कबूला.
ये भी पढ़ें: करीबी दोस्त से धुर विरोधी तक! पढ़ें लालू-नीतीश की फ्रेंडशिप की अनटोल्ड स्टोरी



लालच में आकर बनाई डकैती की योजना
पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार ड्राइवर जनक 10 सालों से व्यवसायी के यहां काम करता था. जबकी हेल्पर अर्जुन भी व्यवसायी के यहां काम करता था.  दोनों शराब पीने के आदि थे और एक दिन शराब पीने के बाद ही दोनों ने डकैती की योजना बना ली. व्यवसायी के पास हर सप्ताह लाखों रुपयों का कलेक्शन होता था और कलेक्शन के दौरान ड्राइवर जनक ही साथ होता था. इसलिए लालच में आकर अन्य साथियों को भी डकैती में शामिल करते हुए वारदात को अंजाम दिया गया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज