राजस्थान में कोरोना की रफ्तार जारी, 24 घंटे में 16080 नए केस, 169 की मौत

राजस्थान में कोरोना ने 16080 को संक्रमित किया, 169 मरीजों की ली जान.- फाइल फोटो

राजस्थान में कोरोना ने 16080 को संक्रमित किया, 169 मरीजों की ली जान.- फाइल फोटो

पिछले 24 घंटे के ताजा अपडेट में राजस्थान राज्य के विभिन्न इलाकों में कोरोना संक्रमण के 16080 नए मामले सामने आए हैं. यहां पिछले 24 घंटे में 169 कोरोना मरीजों की मौत हो गई है. सबसे अधिक कोरोना से जयपुर में 57 लोगों की मौत हुई है.

  • Share this:

जयपुर. राजस्थान ( Rajasthan ) में कोरोना संक्रमण ( corona infection ) के बढ़ते मामलों से लोगों को कोई राहत नहीं है. पिछले 24 घंटे के ताजा अपडेट में राजस्थान राज्य के विभिन्न इलाकों में कोरोना संक्रमण के 16080 नए मामले सामने आए हैं. यहां पिछले 24 घंटे में 169 कोरोना मरीजों की मौत हो गई है. सबसे अधिक कोरोना से जयपुर में 57 लोगों की मौत हुई है. बढ़ते मामलों को लेकर अशोक गहलोत सरकार ने पाबंदियां भी लगाई हुईं हैं, लेकिन इसके बाद भी कोरोना संक्रमण की रफ्तार लगातार बेकाबू है.

मंगलवार को स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक राजस्थान के कई जिलों में कोरोना संक्रमण के16080 नए मामले सामने आए हैं. इसके साथ ही 169 कोरोना मरीजों की जान चली गई. राजधानी में कोरोना ने लोगों को काफी प्रभावित कर रखा है. जयपुर में सर्वाधिक 3613 नए मामले मिलने से सरकार की चिंता बढ़ रही है.

कहां मिले कितने संक्रमित

कोरोना संक्रमित मरीज मिलने के मामले में राजधानी जयपुर पहले स्थान पर है. यहां सबसे ज्यादा 3613 नए मामले सामने आए. इसके साथ ही जोधपुर में 1303, उदयपुर में 1506, जैसलमेर में 860 कोरोना पॉजिटिव मामले सामने आए. कोरोना से जयपुर में 57 लोगों की मौत हुई है. इसके साथ ही जोधपुर में 18, उदयपुर में 14 कोरोना संक्रमितों की मौत हो गई.
युवाओं, बच्चों और गर्भवती महिलाओं पर ज्यादा अटैक कर रहा है

सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर जिस रूप में सामने आई है, उसने पूरे देश को हिलाकर रख दिया है. यह संक्रमण युवाओं, बच्चों और गर्भवती महिलाओं पर ज्यादा अटैक कर रहा है. हालात इस तरह के हैं कि एक-एक बेड के लिए लोगों की सिफारिशें आ रही हैं. उन्होंने कहा कि कोरोना अब गांव में भी घुस गया है जो विस्फोटक स्थिति है. सीएम ने आह्वान किया कि यह समय राजनीति का नहीं है. पक्ष-विपक्ष को साथ रहकर यह लड़ाई लडऩी होगी. उन्होंने यह भी कहा कि पंचायतीराज जनप्रतिनिधियों की भूमिका इस लड़ाई में सबसे महत्वपूर्ण है.

15 दिन बेहद महत्वपूर्ण



लॉकडाउन को लेकर सीएम गहलोत ने कहा कि ये 15 दिन बेहद महत्वपूर्ण हैं. अगर हम लोगों ने यह समय सही तरीके से बिताया तो संक्रमण का ग्राफ नीचे आने लगेगा. सरकार अपने स्तर से हर प्रयास कर रही है. लेकिन यह समय लोगों द्वारा आत्मानुशासन का है. अगर इन 15 दिनों में लापरवाही बरती तो बहुत मुश्किल होगी. बैठक में सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि चुने हुए लोगों का अपना धर्म होता है. लिहाजा सभी को इस मुश्किल वक्त में दलगत राजनीति से ऊपर उठकर लोगों की मदद करनी चाहिए.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज