Rajasthan: 2000 मेडिकल ऑफिसरों की भर्ती दूसरी बार हुई रद्द, यह रहा बड़ा कारण

इससे प्रदेश में कोरोना काल में चिकित्सकों की कमी को दूर करने के लिये किये जा रहे प्रयासों का बड़ा धक्का लगा है.  (सांकेतिक तस्वीर)
इससे प्रदेश में कोरोना काल में चिकित्सकों की कमी को दूर करने के लिये किये जा रहे प्रयासों का बड़ा धक्का लगा है. (सांकेतिक तस्वीर)

Medical officer recruitment: राजस्थान में मेडिकल ऑफिसर के 2000 पदों के लिये होने वाली परीक्षा को दूसरी बार रद्द (Canceled) कर दिया गया है. नई तारीख का अभी तक ऐलान नहीं किया गया है.

  • Share this:
जयपुर. राजस्थान में 2 हजार मेडिकल ऑफिसर (Medical officer) के पदों पर होने वाली भर्ती परीक्षा एक बार फिर रद्द (Canceled) हो गई है. RUHS ने तकनीकी कारणों के चलते भर्ती परीक्षा को रद्द किया है. रजिस्ट्रार कालूराम ने भर्ती परीक्षा रद्द करने की घोषणा की. इन 2 हजार मेडिकल ऑफिसर पदों पर भर्ती के लिए 5400 से ज्यादा अभ्यर्थियों ने आवेदन किया था. लेकिन परीक्षा के दौरान सर्वर डाउन (Server down) होने के चलते बड़ी संख्या में अभ्यर्थी परीक्षा देने से वंचित रह गए थे. ऐसे में एक बार फिर विवाद उठने के चलते परीक्षा को रद्द कर दिया गया है. इससे पहले भी मेडिकल ऑफिसर भर्ती परीक्षा रद्द हो चुकी है.

Rajasthan: कांग्रेस MLA बाबूलाल बैरवा ने गहलोत सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा, PCC चीफ ने दी सफाई

जयपुर में 21 परीक्षा केंद्र बनाए गए थे
ऑनलाइन परीक्षा के लिए जयपुर में 21 परीक्षा केंद्र बनाए गए थे. जयपुर में अजमेर रोड पर ओमेक्स सिटी स्थित आर्य इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग टेक्नोलॉजी एंड मैनेजमेंट में परीक्षा नहीं दिए जाने को लेकर अभ्यर्थियों ने हंगामा कर दिया. केंद्र पर चिकित्सा अधिकारियों के लिए ऑनलाइन परीक्षा होनी थी. परीक्षा केंद्र पर सभी अभ्यर्थियों को ऑनलाइन परीक्षा देने के लिए दो समूहों में बांटा गया था. इसमें से एक समूह ही परीक्षा दे पाया था, जबकि दूसरा समूह परीक्षा देने से वंचित रह गया. यहां सर्वर डाउन होने की बात कहकर परीक्षा आयोजित नहीं करवा पाने में असमर्थता जताई गई थी. ऐसे में बड़ी संख्या में परीक्षार्थियों ने परिसर में हंगामा कर दिया था. अभ्यर्थियों ने चिकित्सा अधिकारियों के लिए हो रही इस भर्ती परीक्षा को रद्द करने की मांग की.
Railway Services: रेलयात्रियों के लिए खुशखबरी, जल्द 16 नई ट्रेनें होंगी शुरू, देखें शिड्यूल



कोरोना काल में चिकित्सकों का है टोटा
मेडिकल ऑफिसर की भर्ती को लेकर पहले भी आयोजित हुई परीक्षा को एक बार विवाद के चलते निरस्त किया जा चुका है. इस भर्ती परीक्षा के रद्द होने के कारण प्रदेश में कोरोना काल में मरीजों के इलाज के लिए चिकित्सकों की कमी को दूर करने का जो प्रयास किया जा रहा था उसे बड़ा धक्का लगा है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने यह घोषणा की थी कि प्रदेश में चिकित्सकों की कमी नहीं होने दी जाएगी. इसके लिए राज्य सरकार 2000 पदों पर चिकित्सा अधिकारियों की भर्ती करेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज