• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • Rajasthan Police News:आरोपियों से मिलीभगत के आरोप में 1 IPS, 10 RPS, 23 CI, और 500 अन्य पुलिसकर्मी सस्पेंड

Rajasthan Police News:आरोपियों से मिलीभगत के आरोप में 1 IPS, 10 RPS, 23 CI, और 500 अन्य पुलिसकर्मी सस्पेंड

डीजीपी ने दावा किया कि राजस्थान में पुलिस अपना काम मुस्तैदी से कर रही है. लाठर के मुताबिक 9 ब्लाइंड केस में जांच कर दोषियों को सजा दिलाई गई है.

डीजीपी ने दावा किया कि राजस्थान में पुलिस अपना काम मुस्तैदी से कर रही है. लाठर के मुताबिक 9 ब्लाइंड केस में जांच कर दोषियों को सजा दिलाई गई है.

Rajasthan DGP Press conference : राजस्थान के पुलिस महानिदेशक एमएल लाठर ने दावा किया कि 2013 से 2019 में देशभर में 23 फीसदी अपराध बढ़े हैं, जबकि इस अवधि में राजस्थान में महज 16 फीसदी अपराधों में बढ़ोत्तरी हुई है.

  • Share this:

जयपुर. डीजीपी एमएल लाठर (DGP ML lathar) ने कहा है कि बदमाशों के साथ मिलीभगत करने वाले पुलिसकर्मियों (police personal) किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा. इसकी जानकारी मिलने के बाद तत्काल कार्रवाई (immediate action) अमल में लाई जाएगी. ऐसे कई ​पुलिसकर्मियों के खिलाफ निलंबन (Suspension) और अनिवार्य सेवानिवृति की कार्रवाई की गई है. डीजीपी के मुताबिक अलग-अलग मामलों में आरोपियों से मिलीभगत में पाए जाने के कारण अलग-अलग समय में राजस्थान में एक आईपीएस, दस आरपीएस, 23 इंस्पेक्टर, 500 अन्य पुलिसकर्मियों को सस्पेंड किया जा चुका है. इसके अलावा ऐसे ही 6 इंस्पेक्टरों को अनिवार्य सेवानिवृत्ति भी दी गई है. उन्होंने कहा कि ऐसे पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई में कोई कोताही नहीं बरती जाएगी.

डीजीपी ने सोमवार को पत्रकारों से बातचीत में बताया कि 2013 से 2019 में देशभर में अपराधिक वारदातों में 23 फीसदी इजाफा हुआ, जबकि इसकी तुलना में इस अवधि में राजस्थान में महज 16 फीसदी ही अपराध बढ़े हैं. पुलिस के डर से अपराधियों में खौफ पनपा है.

ब्लांइड केसों में भी दिलाई दोषियों को सजा
उन्होंने दावा किया कि राजस्थान में पुलिस अपना काम मुस्तैदी से कर रही है. लाठर के मुताबिक 9 ब्लाइंड केस में जांच कर दोषियों को सजा दिलाई गई है. नरैना में अपराधी के पास मोबाइल नहीं था. इस केस में पुलिस के पास सीसीटीवी फुटेज भी नहीं था, लेकिन पारंपरिक तरीकों से पुलिस ने अपराधी को पकड़ा.

राजस्थान में रेट ऑफ कंविक्शन 45 फीसदी
डीजीपी के मुताबिक राजस्थान में रेट ऑफ कंविक्शन 45 फीसदी है. कोरोना के कारणों से कोर्ट का काम भी बाधित रहा है. इस महीने 17-18 केसेज में ट्रायल पूरी कर सजा दी गई है. पिलानी, सवाईमाधोपुर, नवलगढ़, अजमेर, पीलीबंगा, आसींद, जयपुर, अलवर, मालाखेड़ा, सेवर और शास्त्री नगर जयपुर के मामले में सजा सुनाई गई है.

अपराधों के पंजीकरण में कोताही नहीं
डीजीपी ने वांछित अपराधियों की गिरफ्तारी को लेकर चलाए गए अभियान की भी जानकारी दी. उन्होंने बताया कि अपराध पंजीकरण में भी लापरवाही नहीं बरती जा रही है. अपराधों की वृद्धि के संबंध में पूछे गए एक सवाल के जवाब में डीजीपी ने दावा किया कि 2013 से 2019 में देशभर में 23 फीसदी अपराध बढ़े हैं, जबकि इस अवधि में राजस्थान में महज 16 फीसदी अपराधों में बढ़ोत्तरी हुई है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज