Alwar : बलात्कारियों ने भांजे को मजबूर किया था रिश्ता बनाने को, 2 नाबालिग सहित 5 गिरफ्तार

छठे आरोपी की तलाश में पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है. (सांकेतिक फोटो)
छठे आरोपी की तलाश में पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है. (सांकेतिक फोटो)

पुलिस ने कहा कि आरोपियों ने वारदात का वीडियो भी बनाया और इसे सोशल मीडिया पर डाल दिया. सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद पीड़िता की ओर से इस संबंध में मामला दर्ज करवाया गया है.

  • भाषा
  • Last Updated: September 20, 2020, 12:33 AM IST
  • Share this:
जयपुर. राजस्थान (Rajasthan) के अलवर (Alwar) जिले में 45 वर्षीय महिला से उसके भांजे के सामने कथित रूप से सामूहिक दुष्कर्म (Gang rape) किया गया और बाद में भांजे को भी महिला से संबंध बनाने को मजबूर किया गया. पुलिस ने शनिवार को यह जानकारी दी. पुलिस ने कहा कि आरोपियों (Accused) ने वारदात का वीडियो भी बनाया और इसे सोशल मीडिया (social media) पर डाल दिया. सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल (Video viral) होने के बाद पीड़िता की ओर से इस संबंध में मामला दर्ज (FIR) करवाया गया है. पुलिस उपाधीक्षक कुशाल सिंह ने बताया कि प्राथमिकी में दर्ज छह नामजद आरोपियों में से दो नाबालिगों सहित पांच को पुलिस ने पकड़ लिया है और छठे आरोपी को पकड़ने के प्रयास जारी हैं.

भांजे के साथ लौट रही थी महिला

पुलिस के अनुसार भिवाड़ी जिले के तिजारा थाना क्षेत्र के पहाड़ी इलाके में 14 सितंबर को यह वारदात उस समय हुई जब महिला अपने भांजे के साथ पड़ोस के एक गांव में अपने रिश्तेदार को कुछ रुपये देकर घर लौट रही थी. भिवाड़ी के पुलिस अधीक्षक राम मूर्ति ने शनिवार को घटनास्थल का दौरा कर निरीक्षण किया और पुलिस दल द्वारा पकड़े गये आरोपियों से पूछताछ की.



हरियाणा की सीमा के पास हुई वारदात
पुलिस के मुताबिक, 14 सितंबर को जिस जगह वारदात हुई है, वह हरियाणा की सीमा के पास है. महिला अपने 25 वर्षीय भांजे के साथ जब पहाड़ी इलाके से होते हुए अलवर अपने गांव जा रही थी, उसी दौरान आरोपियों ने उन्हें पकड़ लिया. पुलिस अधिकारी ने बताया कि पकड़े गए आरोपियों में से महिला के साथ कथित दुष्कर्म करने वाले की पहचान आसम उर्फ घुन्ता के रूप में की गई है, जबकि अन्य लोगों ने उसके साथ छेड़छाड़ की थी. आरोपियों ने महिला के भांजे के हाथों को बांध दिया था और उसके बाद उसे भी महिला के साथ दुष्कर्म के लिए मजबूर किया.

आरोपियों ने वारदात की वीडियो क्लिप बनाई

उपाधीक्षक ने बताया कि आरोपियों ने वारदात की वीडियो क्लिप भी बनाई और वारदात के बारे में किसी को भी सूचना देने पर वीडियो वायरल करने की धमकी दी. शुरू में पीड़िता चुपचाप रही, लेकिन जब आरोपियों ने वीडियो वायरल कर दिया और उसके रिश्तेदारो को इस बारे में पता चला तो पीड़िता ने 17 सितंबर को इस संबंध में एक मामला दर्ज करवाया. उन्होंने बताया कि मामला दर्ज होने के बाद पुलिस दल बनाकर आरोपियों को पकड़ने के लिए गांव के इलाकों में छापेमारी की गई. पुलिस ने अब तक छापेमारी में मुख्य आरोपी आसम उर्फ घुन्ता (35), साहुद (19), वारिस (25) और दो नाबालिगों को पकड़ा है. वहीं छठे आरोपी इमरान की तलाश की जा रही है. उन्होंने बताया कि पुलिस अधीक्षक ने मामले की जांच जल्द पूरी कर आरोपपत्र दायर करने का निर्देश दिया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज