अपना शहर चुनें

States

राजस्थान में तीसरे दिन 54.89 फीसदी हुआ कोरोना टीकाकरण, 8 लोगों की तबियत बिगड़ी

इस तरह का टीका बच्चों को देना बहुत आसान होगा क्योंकि यह एक स्प्रे है और सुई नहीं है और इसलिए यह अधिक आसान होगा (सांकेतिक फोटो)
इस तरह का टीका बच्चों को देना बहुत आसान होगा क्योंकि यह एक स्प्रे है और सुई नहीं है और इसलिए यह अधिक आसान होगा (सांकेतिक फोटो)

एक सरकारी प्रवक्‍ता के अनुसार मंगलवार को राज्य के 33 जिलों के 167 टीकाकरण (Vaccination) केंद्रों पर 16,092 स्‍वास्‍थ्‍यकर्मियों को पहले चरण का टीका लगाया जाना था.

  • Last Updated: January 20, 2021, 7:50 PM IST
  • Share this:
जयपुर. राजस्थान (Rajasthan) में कोरोना प्रतिरक्षण टीकाकरण के तीसरे दिन मंगलवार को 8833 स्वास्थ्यकर्मियों को टीके लगाए गए जो दिन के तय लक्ष्य का लगभग 54.89 प्रतिशत है. एक सरकारी प्रवक्‍ता के अनुसार मंगलवार को राज्य के 33 जिलों के 167 टीकाकरण (Vaccination) केंद्रों पर 16,092 स्‍वास्‍थ्‍यकर्मियों को पहले चरण का टीका लगाया जाना था. लेकिन शाम छह बजे तक 8833 स्वास्थ्यकर्मियों (Health workers) का टीकाकरण हुआ. यानी लक्ष्‍य की तुलना में 54.89 प्रतिशत स्‍वास्‍थ्‍यकर्मियों को टीका लगाया गया. राज्य में एईएफआई (टीकाकरण के बाद प्रतिकूल प्रभाव) के आठ मामले सामने आए. उल्लेखनीय है कि देशव्यापी अभियान के साथ राज्य में कोरोना प्रतिरक्षण टीकाकरण की शुरुआत शनिवार हुई. सप्‍ताह में चार दिन टीकाकरण का कार्यक्रम है.

दरअसल, 16 जनवरी से देशव्यापी टीकाकरण अभियान की शुरुआत हुई थी. राजस्थान में भी पहला दिन काफी अच्छा रिस्पॉन्स मिला था. राजधानी जयपुर में पहले दिन प्रदेश में 12258 हेल्थ वर्कर्स को वैक्सीन लगा. जानकारी के मुताबिक, पहले दिन 16,613 लोगों को वैक्सीन लगाई जानी थी. सबसे ज्यादा जयपुर में 1303 हेल्थ वर्कर्स को टीका लगा . सबसे कम जैसलमेर में 108 स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगा. इन सबके बीच वैक्सीनेशन के आंकड़ों में कुछ गड़बड़ भी हुई. अलवर और जोधपुर में टारगेट के ज्यादा वैक्सीनेशन हुआ था. अलवर में टारगेट से 85 ज्यादा लाभार्थियों को टीका लगाया गया. जोधपुर में टारगेट से आठ ज़्यादा लाभार्थियों का वैक्सीनेशन किया गया. स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी आंकड़ों से ये जानकारी मिली थी.





167 केंद्रों पर हुआ टीकाकरण
राजस्थान में शनिवार को 167 केंद्रों पर टीकाकरण की शुरुआत की गई. अजमेर के जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ. वीबी सिंह को पहला टीका लगाया गया था. टीकाकरण शुरू होने पर खुशी जताते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत  ने कहा, 'सभी को इस दिन का बेसब्री से इंतजार था. आखिरकर, टीका आ गया. टीकाकरण 167 बूथों पर हो रहा है, प्रदेश के हर व्यक्ति को टीका लगाने में एक से डेढ़ साल का समय लगेगा. तब तक, हमें COVID 19 से संबंधित प्रोटोकॉल का पालन करना जारी रखना होगा.' जयपुर में 21 सेंटर्स सहित प्रदेश के सभी शहरों इसके साथ ही अब हेल्थ वॉरियर्स को टीका लगाने का सिलसिला शुरू हो चुका है. वे बेहद उत्साह में दिखाई दे रहे हैं. कारण, उन्हें पूरी दुनिया के सबसे बड़े टीका अभियान में सबसे पहले चुना गया है. जयपुर के सबसे बड़े अस्पताल एसएमएस में अभी प्रक्रिया चल रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज