जयपुर: 78 साल के बुजुर्ग ने अस्पताल की दूसरी मंजिल से कूद कर दी जान, हैरान करने वाली थी वजह
Jaipur News in Hindi

जयपुर: 78 साल के बुजुर्ग ने अस्पताल की दूसरी मंजिल से कूद कर दी जान, हैरान करने वाली थी वजह
मरीज को कावंटिया अस्पताल से कोरोना संग्दिध मानते हुए आरयूएचएस लाया गया था. (सांकेतिक फोटो)

जयपुर (Jaipur) के कोरोना उपचार का केंद्र आरयूएचएस (Corona Treatment Center RUHS) में भर्ती 78 वर्षीय कैलाशचंद शर्मा (Kailashchand Sharma) ने अस्पताल की दूसरी मंजिल से कूद कर जान दे दी. इस घटना से हड़कंप मच गया है. जबकि मरीज की कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आयी है.

  • Share this:
जयपुर. राजस्‍थान की राजधानी जयपुर में आज दिल दहलाने वाली घटना सामने आई. जयपुर (Jaipur) के कोरोना उपचार का केंद्र आरयूएचएस (Corona Treatment Center RUHS) में भर्ती एक 78 वर्षीय मरीज ने अस्पताल की दूसरी मंजिल से कूद कर अपनी जान दे दी. इसके बाद हड़कंप मच गया और दहशत का माहौल देखने को मिला.दरअसल, जयपुर के झोटवाडा निवासी कैलाशचंद शर्मा (Kailashchand Sharma) को कावंटिया अस्पताल से कोरोना संग्दिध मानते हुए आरयूएचएस रैफर किया गया था, लेकिन आज सुबह उन्होंने अस्पताल के दूसरी मंजिल पर स्थित कोरोना आईसीयू वार्ड की खिडकी से कूद कर अपनी जान दे दी.

टूट गया अस्‍पताल का रिकॉर्ड
राजधानी जयपुर के आरयूएचएस में राजस्थान में सबसे ज्यादा कोरोना संक्रमण वाले मरीजों को उपचार के लिए लाया जाता है. यह कोरोना का डेडिकेटेड अस्पताल है और यहां की खास बात यह थी कि जो भी मरीज भर्ती हुआ वो वापस रिकवर होकर यानी ठीक होकर खुशी खुशी अपने घर लौटा, लेकिन मगर आज यह रिकार्ड टूट गया और अस्पताल की दूसरी मंजिल से कोरोना संग्दिध के रुप में भर्ती जयपुर के झोटवाडा निवासी कैलाशचंद शर्मा ने अस्पताल के दूसरी मंजिल से वार्ड की खिडकी की जाली तोडकर छलांग लगा ली और अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली. घटना के बाद मौके पर जिला कलेक्टर और पुलिस के आलाधिकारी और जांच टीमें मौके पर पहुंची हैं.

तनाव माना जा रहा कारण
मृतक की मौत का प्रारम्भिक कारण पुलिस ने तनाव माना है. मगर जिला कलेक्टर ने यह भी स्पष्ठ किया कि मृतक कैलाशचंद शर्मा की कोरोना जांच निगेटिव आई थी. वहीं, मृतक के परिजनों ने कांवटिया अस्पताल प्रशासन और एसएसएस अस्पताल पर इलाज में लापरवाही का आरोप लगाया. ऐसे में कारण क्या थे यह अब जांच का विषय है. हालांकि जिला कलेक्टर अंतर सिंह नेहरा का कहना है कि आरयूएचएस अस्पताल में बेहतर इलाज दिया जा रहा है.



घरेलू विवाद की दिशा में भी जांच
बहरहाल, घटना के कारणों को लेकर मृतक के परिजनों का अपना आरोप है तो प्रशासन की अपनी सफाई दे रहा है. मगर घटना को देखकर प्रारम्भिक तौर पर पारिवारिक तनाव भी माना जा रहा है. बताया जा रहा है कि लम्बे समय से परिजनों से मृतक बात करना चाह रहा था, लेकिन घर के लोग बातचीत नहीं कर रहे थे. खैर कारण जो भी हो मगर पुलिस ने मामला दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading