खुलासा: पहले Youtube और Helo App पर ढूंढा तरीका, फिर प्रेमी संग की अकाउंटेंट पति की हत्‍या
Jaipur News in Hindi

खुलासा: पहले Youtube और Helo App पर ढूंढा तरीका, फिर प्रेमी संग की अकाउंटेंट पति की हत्‍या
आरोपी कुसुम शर्मा (फाइल फोटो)

पुलिस का कहना है कि सुरेश को रास्ते से हटाने के लिए आरोपियों ने यूट्यूब (Youtube) और हेलो एप (Helo App) पर हत्या करने के तरीके ढूंढ़े थे.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
जयपुर. राजस्थान के बगरू में अकाउंटेंट सुरेश चंद्र (Accountant Suresh Chandra) की हत्या के मामले में पुलिस ने सनसनीखेज खुलासा किया है. जांच में सुरेश चंद्र की पत्नी कुसुम शर्मा (Kusum Sharma) की भी हत्या में संलिप्तता पाई गई है. इसके बाद पुलिस ने मृतक की पत्नी को गिरफ्तार कर लिया है. ऐसे तो पुलिस को पत्नी पर पहले से ही संदेह था, लेकिन जब गहनता से तफ्तीश की गई पुलिस को मालूम पड़ा कि कुसुम शर्मा और गिरफ्तार आरोपी पूरन चंद महावर के बीच काफी समय से प्रेम प्रसंग चल रहा था. आरोप है कि आरोपियों ने यूट्यूब और हेलो एप पर हत्‍या का तरीका तलाश कर सुरेश को रास्‍ते से हटाने की साजिश रची थी.

जानकारी के अनुसार, मृतक की पत्नी कुसुम शर्मा और अभियुक्त पूरन चंद महावर के मध्य शादी से पहले ही प्रेम प्रसंग था. शादी के बाद दोनों के बीच दूरियां बढ़ गईं और कोई संपर्क नहीं रहा. लेकिन, साल 2018 में फेसबुक के जरिए दोनों में फिर से संपर्क हो गया. इसके बाद मोबाइल से दोनों के बीच बातें होने लगीं. मिलना जुलना और साथ में घूमना फिरना भी शुरू हो गया. इस प्रेम संबंध में पति आड़े आ रहा था. ऐसे में कुसुम शर्मा और पूरण ने मिलकर हमेशा के लिए उसे रास्ते से हटाने की साजिश रची थी.

हत्या के लिए यूट्यूब और हेलो एप पर खोजे तरीके
पुलिस का कहना है कि सुरेश को रास्ते से हटाने के लिए दोनों ने मिलकर यूट्यूब और हेलो एप पर हत्या करने के तरीके खोजे. दोनों ने पहले सुरेश चंद्र को जहर देने की साजिश रची, लेकिन पकड़े जाने के डर से कामयाब नहीं हो पाए. कहा जा रहा है कि सुरेश की हत्या की प्लानिंग दोनों ने काफी पहले ही बना ली थी, लेकिन लॉकडाउन के चलते सफल नहीं हो पा रहे थे. इस बीच लॉकडाउन के दौरान दोनों की आपस में बात भी नहीं हो पा रही थी. लॉकडाउन में कुछ ढील मिलने पर कुसुम शर्मा और पूरन चंद महावर ने सुरेश चंद्र शर्मा की हत्या का प्रयास किया. लेकिन इस दौरान भी वे सफल नहीं हो पाए. आखिर में 25 मई को दोनों ने आपस में व्हाट्सएप कॉलिंग से बातचीत करके सुरेश चंद्र की हत्या की साजिश रची. फिर दोनों ने अपने मोबाइल फोन को फॉर्मेट कर के सभी कॉल और फोटोज को डिलीट कर दिया.



हत्या को लूट का रंग देने की कोशिश की


योजना के तहत 26 मई को सुरेश चंद्र के फैक्ट्री के नीचे निकलते समय कुसुम शर्मा ने पति को फोन कर उसकी लोकेशन ली. फिर पूरण ने सुरेश चंद को नए मोबाइल सिम से कॉल कर आवश्यक बात करने का बहाना कर पेट्रोल पंप के पास रीको एरिया बगरू पर बुलाया. और अपनी गाड़ी में बिठा कर रिको में ले जाकर उसकी हत्या कर दी. घटना को लूट का रूप देने के लिए पूरन चंद महावर ने सुरेश चंद के पहने हुए चांदी का कड़ा, अंगूठियां पर्स और मोबाइल अपने साथ ले लिया. हत्या के बाद आरोपी पूरण ने कुसुम को फोन करके आगे की योजना के बारे में बताया. योजना के अनुसार कुसुम ने अपने पति के घर नहीं आने पर तलाश करने के लिए मकान मालिक को बुलाया. इस दौरान कुसुम ने खुद को ऐसा दिखाने की कोशिश की कि उसको घटनाक्रम की कुछ भी जानकारी नहीं है.

प्रेमी पूरण को पहले ही पुलिस ने कर लिया गिरफ्तार
मृतक सुरेश चंद शर्मा बगरू रीको स्टेट उमा क्राफ्ट कंपनी में लेखाकार के पद पर कार्यरत था, जिसकी हत्या 26 मई को कर दी गई थी. इस मामले में पुलिस ने आरोपी पूरण को 27 मई को गिरफ्तार कर लिया था.

ये भी पढ़ें- 

टिड्डियों की कमजोरी का फायदा उठाकर उनका काम तमाम करना चाहती है दिल्‍ली सरकार

24 घंटे में दिल्ली पर बरपा कहर, 1 हजार से ज्यादा नए संक्रमित, 13 लोगों की मौत
First published: May 31, 2020, 9:07 AM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading