गेहूं घोटाले की आरोपी निलंबित आईएएस अधिकारी मीणा पहुंची एसीबी मुख्यालय

गेहूं घोटाले की आरोपी निलंबित आईएएस अधिकारी निर्मला मीणा मंगलवार को अचानक एसीबी मुख्यालय पहुंचीं. बिना सूचना मुख्यालय पहुंची मीणा को अधिकारियों से मिलने के लिए घंटों इंतजार करना पड़ा.

Rakesh sharma | ETV Rajasthan
Updated: March 13, 2018, 8:48 PM IST
गेहूं घोटाले की आरोपी निलंबित आईएएस अधिकारी मीणा पहुंची एसीबी मुख्यालय
एसीबी मुख्यालय में इंतजार करती निलंबित आईएएस अधिकारी निर्मला मीणा। फोटो: ईटीवी
Rakesh sharma | ETV Rajasthan
Updated: March 13, 2018, 8:48 PM IST
राज्य सरकार की ओर से जरूरतमंदों को बांटे जाने वाले 35,000 क्विंटल राशन के गेहूं घोटाले की मुख्य आरोपी निलंबित भारतीय प्रशासनिक सेवा की अधिकारी निर्मला मीणा मंगलवार को अचानक भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के जयपुर मुख्यालय पहुंच गई. बिना पूर्व सूचना के एसीबी मुख्यालय पहुंचने पर निलंबित आईएएस अधिकारी को घंटों तक इंतजार करना पड़ा.

राशन के गेहूं में सबसे बड़ा भ्रष्टाचार करने वाली निलंबित आईएएस निर्मला मीणा एसीबी जोधपुर को जांच में कतई सहयोग नहीं कर रही है. निर्मला मीणा को मंगलवार को जोधपुर एसीबी संभाग कार्यालय पर जांच अधिकारी के सामने पेश होना था. लेकिन निर्मला मीणा वहां नहीं गई. वहां एसीबी के अधिकारी उनसे पूछताछ के लिए इंतजार करते रहे. मीणा जोधपुर में जांच अधिकारी के सामने पेश होने के बजाय एसीबी मुख्यालय जयपुर आ पहुंची. लेकिन यहां उनके बिना पूर्व सूचना के पहुंचने के कारण उनको घंटों इंतजार करना पड़ा.

गौरतलब है कि जोधपुर में जिला रसद अधिकारी पद पर रहते हुए निर्मला मीणा ने राज्य सरकार द्वारा गरीबों को वितरित किए जाने वाले राशन के 35,000 क्विंटल गेहूं का फर्जीवाड़ा कर गबन कर कर लिया था. एसीबी द्वारा निलंबित आईएएस निर्मला मीणा की गिरफ्तारी के लगातार प्रयास करने पर वो भूमिगत हो गई और अदालत द्वारा गिरफ्तारी पर रोक लगाने के आदेश के बाद एसीबी मुख्यालय पर पहुंची हैं. इस गेहूं घोटाले में कई अधिकारियों की संलिप्तता सामने आई थी.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
-->