Home /News /rajasthan /

डीजीजीआई राजस्थान की रिकॉर्ड तोड़ कार्रवाई, अब तक 10 लोग गिरफ्तार

डीजीजीआई राजस्थान की रिकॉर्ड तोड़ कार्रवाई, अब तक 10 लोग गिरफ्तार

टेक्स चोरी करने और गंभीर आर्थिक अपराधों में लिप्त पाए जाने पर जेल की सलाखों के पीछे भी भेजा है.

टेक्स चोरी करने और गंभीर आर्थिक अपराधों में लिप्त पाए जाने पर जेल की सलाखों के पीछे भी भेजा है.

डीजीजीआई राजस्थान जोनल ईकाई ने टेक्स चोरों को जेल की सलाखों के पीछे भेजने में पिछले सभी रिकॉर्ड्स तोड़ दिए हैं.

    राजस्थान के डायरेक्टर जनरल ऑफ गुड्स एंड सर्विस टेक्स इंटेलिजेंस विभाग ने चालू वित्त वर्ष में नया इतिहास रच दिया है. टेक्स कलेक्शन के साथ साथ डीजीजीआई राजस्थान जोनल ईकाई ने टेक्स चोरों को जेल की सलाखों के पीछे भेजने में पिछले सभी रिकॉर्ड्स तोड़ दिए हैं. जीएसटी व्यवस्था में सेंधमारी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश करने वाले संस्थाओं में डीजीजीआई राजस्थान देश की सर्वश्रेष्ठ राज्यों की श्रेणी में शामिल हो गया है.

    चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में राजस्थान डीजीजीआई ईकाई ने एक हजार करोड़ रुपए से ज्यादा का राजस्व वसूला है. डीजीजीआई ने वित्त वर्ष 2108-19 की तीसरी तिमाही के दौरान 263 करोड़ रुपए का राजस्व वसूल लिया है. जबकी इसी दौरान पहली बार 765 करोड़ रुपए की टेक्स चोरी भी पकड़ी गई है.

    ये भी पढ़ें- लोकसभा चुनाव 2019 से पहले BJP में इन दिग्गज नेताओं की होगी घर वापसी!

    पिछले 10 महीनों में राजस्थान डीजीजीआई ईकाई ने पिछले वित्त वर्ष की तुलना में 2400 फीसदी ज्यादा राजस्व वसूला है जबकि टेक्स डिटेक्शन में भी 1100 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई है.
    राजेन्द्र सिंह, अपर महानिदेशक, डीजीजीआई


    DDGI
    (फोटो- राजेन्द्र सिंह, अपर महानिदेशक, डीजीजीआई )


    पिछले वित्त वर्ष में 18 मामलों में सिर्फ 68 करोड़ रुपए का राजस्व चोरी पकड़ी गई थी, जबकि चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में ही 86 मामलों में विभाग ने साढे़ सात सौ करोड़ रुपए से ज्यादा की चोरी पकड़ ली है. पिछली बार राजस्व वंचना के 8 मामलों में 10 करोड़ रुपए का राजस्व वसूला गया था. जबकि चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में ही 64 मामलों में 253 करोड़ रुपए के राजस्व की वसूली कर ली गई है. विभाग ने चालू वित्त वर्ष में 26 मामलों में कारण बताओ नोटिस जारी किया है वहीं 22 मामलों का निपटारा करते हुए बंद कर दिया है. डीजीजीआई ने चालू वित्त वर्ष में टेक्स चोरों पर सख्ती बरती और दस से ज्यादा लोगों को टेक्स चोरी करने और गंभीर आर्थिक अपराधों में लिप्त पाए जाने पर जेल की सलाखों के पीछे भी भेजा है.

    ये भी पढ़ें- DRONE: बॉर्डर पर इन 4 तरीकों से घुसपैठ कर सकता है पाकिस्तान!

    डीजीजीआई के आंकड़ों के अनुसार पिछले वित्त वर्ष की तुलना में इस बार सबसे ज्यादा जीएसटी व्यवस्था में सेंधमारी कर टेक्स चोरी करने और सरकारी खजाने को चूना लगाने वालों पर कार्रवाई की गई है. विभाग ने फर्जी जीएसटी इनवॉइस, जीएसटी चोरी के साथ साथ सेवाकर के नाम पर मेवा खाने वालों को जेल की सलाखों के पीछे भेजा है. जिसके कारण राजस्थान देश के सर्वाधिक टेक्स कलेक्शन ग्रोथ करने वाले राज्यों की श्रेणी में शामिल हो गया है.

    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर