राजस्थान में दो पूर्व राजघरानों का दावा, खुद को बताया भगवान राम का वंशज

भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party- BJP) सांसद और पूर्व जयपुर राजघराने की सदस्य दीयाकुमारी के बाद अब पूर्व मेवाड़ (Mewar) राजघराने उदयपुर के अरविंद सिंह मेवाड़ (Arvind Singh Mewar) ने भी खुद को भगवान राम (Lord Ram) का वंशज बताया है.

News18Hindi
Updated: August 14, 2019, 9:22 AM IST
राजस्थान में दो पूर्व राजघरानों का दावा, खुद को बताया भगवान राम का वंशज
अरविंद सिंह मेवाड़ ने कहा, ‘यह ऐतिहासिक रूप से सिद्ध है कि मेरा परिवार श्री राम का प्रत्यक्ष वंशज है.’ (File Photo)
News18Hindi
Updated: August 14, 2019, 9:22 AM IST
राजस्थान के दो पूर्व राजघरानों ने खुद को भगवान राम का वंशज बताया है. भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party- BJP) सांसद और पूर्व जयपुर राजघराने की सदस्य दीयाकुमारी के बाद अब पूर्व मेवाड़ (Mewar) राजघराने उदयपुर के अरविंद सिंह मेवाड़ (Arvind Singh Mewar) ने भी खुद को भगवान राम (Lord Ram) का वंशज बताया है. उन्होंने ट्वीट कर कहा है, ‘यह ऐतिहासिक रूप से सिद्ध है कि मेरा परिवार श्री राम का प्रत्यक्ष वंशज है.’

उन्होंने आगे लिखा है, ‘...हम राम जन्मभूमि पर कोई दावा नहीं करना चाहते लेकिन हमारा मानना है कि अयोध्या में राम जन्मभूमि पर श्री राम मंदिर अवश्य बनना चाहिए.’

हस्तलिपि, वंशावली, दस्तावेज मौजूद
मेवाड़ प्रत्यक्ष रूप से किसी राजनीतिक पार्टी से नहीं जुड़े हैं. वहीं जयपुर के पूर्व राजघराने की सदस्य दीया कुमारी राजसमंद से बीजेपी की सांसद हैं. दीया कुमारी कह चुकी हैं कि भगवान राम के वंशज दुनिया भर में हैं, जिनमें उनका परिवार भी है. सांसद के अनुसार, उनका परिवार भगवान राम के बेटे कुश का वंशज है. दीयाकुमारी ने हाल ही में कहा था, ‘हम भगवान राम के वंशज है. इसका आधार हमारे पास हस्तलिपि, वंशावली, दस्तावेज हमारे पोथी खाने में मौजूद है.’

9 दस्तावेज और 2 नक्शे हैं प्रमाण
जयपुर के पूर्व राजपरिवार का दावा है कि उनके भगवान श्रीराम के वंशज होने के पर्याप्त सबूत सिटी पैलेस के पोथीखाने में मौजूद हैं. पोथीखाने में मौजूद 9 दस्तावेज और 2 नक्शे ये साबित करते हैं कि अयोध्या के जयसिंहपुरा और राम जन्म स्थान जयपुर के महाराजा सवाई जयसिंह द्वितीय के अधीन थे. सन् 1776 के एक हुक्म में लिखा है कि जयसिंहपुरा की भूमि कच्छवाहा वंश के अधिकार क्षेत्र में थी.

गौरतलब है कि राम जन्म भूमि विवाद में सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई चल रही है. भगवान राम के वंशज होने को लेकर राजस्थान में कई नेताओं के बयान आ चुके हैं.
Loading...

ये भी पढ़ें--

जयपुर के पूर्व राजघराने ने किया भगवान श्रीराम के वशंज होने का दावा, कहा- पोथीखाने में हैं दस्तावेज
First published: August 13, 2019, 8:43 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...