अपना शहर चुनें

States

सचिन पायलट ने सिंधिया पर किया ट्वीट, ट्विटर यूजर्स ने पूछा फ्यूचर प्लान

डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने  सिंधिया को लेकर एक ट्वीट किया था. (फाइल फोटो)
डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने सिंधिया को लेकर एक ट्वीट किया था. (फाइल फोटो)

ज्योदिरादित्य सिंधिया बीजेपी में शामिल हो चुके हैं. लेकिन इस मामले में जैसे ही पायलट ने एक ट्वीट किया, उसके बाद ट्विटर यूजर कई तरह के मीम्स बनाकर उनका मजाक उड़ाने लगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 11, 2020, 11:37 PM IST
  • Share this:
जयपुर. मध्य प्रदेश कांग्रेस (MP Congress) में जारी हलचल का असर राजस्थान (Rajasthan) पर भी होता दिख रहा है. राजस्थान के डिप्टी सीएम सचिन पायलट (Sachin Pilot) के दोस्त माने जाने वाले ज्योदिरादित्य सिंधिया बीजेपी में शामिल हो चुके हैं. लेकिन इस मामले में जैसे ही पायलट ने एक ट्वीट किया, उसके बाद यूजर कई तरह के मीम्स बनाकर उनका मजाक उड़ाने लगे. इस दौरान ट्विटर यूजर्स ने पायलट से ये भी पूछ डाला कि आखिर वो कब इस तरह का कदम उठा रहे हैं.

मीम्स बनाकर जमकर उड़ाया गया मजाक
बता दें, राजस्थान में सीएम अशोक गहलोत और सचिन पायलट के बीच राजनीतिक तनातनी की खबरें लगातार पढ़ने को मिलती है. जहां एक तरफ कांग्रेस एमपी में चल रहे राजनीतिक संकट के कारण नेता परेशान दिख रहे हैं. लेकिन सोशल मीडिया पर लोग कहां मानने वाले थे, सोशल मीडिया पर मीम्स के साथ कांग्रेस नेताओं का जमकर मजाक उड़ाया गया.
पायलट ने सिंधिया के जाने को बताया दुर्भाग्यपूर्णदरअसल, डिप्टी सीएम पायलट ने एक ट्वीट में कहा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया का कांग्रेस से जाना दुर्भाग्यपूर्ण है, मेरा मानना था कि पार्टी के भीतर ही इसका मिलकर समाधान निकाला जाता. पायलट का इतना लिखना ट्विटर यूजर्स को गंवारा नहीं हुआ. ट्विटर पर लोगों ने कई तरह के मीम्स बनाकर उनका मजाक उड़ाना शुरू कर दिया.कमलनाथ को कहा......बिल्ली नाम के ट्वीटर हैंडल से बीजेपी नेता अमित शाह की एक फोटो शेयर की. इसमें लिखा था, प्रिय कमलनाथ, होली में पानी तो सभी बचाते हैं, आप सरकार बचाओ.गहलोत के साथ पायलट की फोटो और पूछा...एक अन्य यूजर ने पायलट की सीएम गहलोत के साथ की एक फोटो शेयर की. इस फोटो में लिखा था कि कुर्सी छोड़ रहे हो या अमित शाह का फोन उठा लूं. वहीं राजस्थान कांग्रेस के इन दोनों दिग्गज नेताओं के बीच तल्ख रिश्तों की खबरों के बीच पायलट की पार्टी में उपेक्षा जैसे मीम्स शेयर किए जाने लगे.




सिंधिया के निर्णय को बता रहे सही
जबकि एक यूजर ने लिखा कि अपने और गांधी परिवार के पहले देश को रखे. इससे आपको पता चलेगा कि सिंधिया का निर्णय सही था. बता दें, राजस्थान में इन दोनों नेताओं के बीच राजनीतिक गतिरोध की बात कही जाती है. वैसे ये दोनों नेता कई दफा इस बात से इनकार कर चुके हैं.

 

ये भी पढ़ें:

यस बैंक के संकट से खतरे में पड़ सकता है ISKCON का मिड-डे मील

बाबरी विध्वंस केस में 12 मार्च से गवाही, राम विलास वेदांती सहित 6 तलब

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज