Alert: कोटा बैराज के 16 गेट खोले, जाखम बांध छलका, बीसलपुर का जलस्तर पहुंचा 311.10 मीटर

राजस्थान के विभिन्न इलाकों में हो रही भारी बारिश (Heavy Rains) के कारण अब बड़े बांध (Big dams) भी छलकने लगे हैं. कोटा संभाग में चंबल नदी (Chambal River) के कैचमेंट एरिया में हो रही लगातार बारिश के कोटा बैराज डेम (Kota Barrage Dam)में जल स्तर बढ़ता जा रहा है.

News18 Rajasthan
Updated: August 16, 2019, 11:20 AM IST
Alert:  कोटा बैराज के 16 गेट खोले, जाखम बांध छलका, बीसलपुर का जलस्तर पहुंचा 311.10 मीटर
कोटा बैराज। फाइल फोटो।
News18 Rajasthan
Updated: August 16, 2019, 11:20 AM IST
राजस्थान के विभिन्न इलाकों में हो रही भारी बारिश (Heavy Rains) के कारण अब बड़े बांध (Big dams) भी छलकने लगे हैं. कोटा संभाग में चंबल नदी (Chambal River) के कैचमेंट एरिया में हो रही लगातार बारिश के कोटा बैराज डेम में जल स्तर बढ़ता जा रहा है. कोटा बैराज डेम (Kota Barrage Dam) में जवाहर सागर डेम से भी 1,00000 क्यूसेक पानी की आवक हो रही है. इससे कोटा बैराज के 16 गेट खोलकर चंबल नदी में 1,15,000 की क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है. जिला प्रशासन ने चंबल नदी का जलस्तर बढ़ने पर नदी के किनारों के गांव में मुनादी कर हाई अलर्ट (High alert) जारी किया है.

गांधी सागर बांध का जलस्तर 1301 फीट हुआ
पानी की भारी आवक के चलते कोटा संभाग के गांधी सागर बांध का जलस्तर 1301 फीट हो गया है. बांध में एक दिन 10 फीट पानी आया. गुरुवार को सुबह तक बांध का जलस्तर 1291 था. बांध में 6 लाख क्यूसेक पानी की आवक हो रही है. राणाप्रताप सागर बांध का जलस्तर भी 1151 फीट पहुंच गया है.

गुरुवार रात जाखम बांध छलका

वहीं प्रतापगढ़ में भारी बारिश के कारण उदयपुर संभाग का सबसे ऊंचा जाखम बांध भी गुरुवार रात 11:35 बजे छलक गया. उसके बाद प्रशासन ने जाखम बांध की डाउनस्ट्रीम और नदी के बहाव क्षेत्र समेत आसपास के क्षेत्र के लिए चेतावनी जारी कर दी. डूंगरपुर का सोम कमला आंबा बांध में भी पानी की आवक लगातार जारी है. बांध अपनी कुल भराव क्षमता से सिर्फ 1 मीटर खाली रह गया है. इस बांध की भराव क्षमता 213.5 मीटर है. यह बांध उदयपुर संभाग का दूसरा सबसे बड़ा बांध है.


बीसलपुर बांध 311.10 मीटर पहुंचा
Loading...

दूसरी तरफ जयपुर, अजमेर, दौसा और टोंक जिले की लाइफ लाइन बीसलपुर बांध में भी पानी बंपर आवक हो रही है. इससे बांध का जलस्तर बढ़कर 311.10 मीटर तक पहुंच चुका है. चित्तौड़गढ़ और राजसमंद में भारी बारिश के कारण पहली बार त्रिवेणी का गेज 7 मीटर से ऊपर आ गया है. पानी की अगर इसी तरह से आवक बनी रही तो बीसलपुर बांध जल्द ओवरफ्लो हो जाएगा. बीसलपुर की तरफ आते जबरदस्त पानी से कई विभागों के अधिकारियों के चेहरे खिल गए हैं.

चेतावनी- आज इन 22 जिलों में हो सकती है भारी बारिश

भारी बारिश से नदियां उफान पर, गांवों में घुसे मगरमच्छ

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कोटा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 16, 2019, 10:46 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...