लाइव टीवी

108 Ambulance की हड़ताल खत्म, हाईकोर्ट ने सरकार को दिए वेतन बढ़ाने के निर्देश

Sachin Kumar | News18 Rajasthan
Updated: November 1, 2019, 7:18 PM IST
108 Ambulance की हड़ताल खत्म, हाईकोर्ट ने सरकार को दिए वेतन बढ़ाने के निर्देश
राजस्थान (Rajasthan) में दो दिन से जारी एम्बुलेंस हड़ताल (108 Ambulance strike) राजस्थान हाईकोर्ट के दखल से शुक्रवार को दोपहर बाद खत्म हो गई है.

राजस्थान (Rajasthan) में दो दिन से जारी एम्बुलेंस हड़ताल (108 Ambulance strike) राजस्थान हाईकोर्ट के दखल से शुक्रवार को दोपहर बाद खत्म हो गई है.

  • Share this:
जयपुर. राजस्थान (Rajasthan) में दो दिन से जारी एम्बुलेंस हड़ताल (108 Ambulance strike) राजस्थान हाईकोर्ट के दखल के बाद शुक्रवार को दोपहर बाद खत्म हो गई है. राजस्थान हाईकोर्ट (Rajasthan High Court) बार एसोसिएशन की ओर से दायर याचिका पर सुनवाई के दौरान मुख्य न्यायाधीश इंद्रजीत माहन्ती की खंडपीठ में सरकार और एंबुलेंस कर्मचारी यूनियन ने हड़ताल खत्म करने पर सहमति जताई. वहीं, कोर्ट ने सरकार को कर्मचारियों से बात करके उनका वेतन बढ़ाने के भी निर्देश दिए. इससे पहले मामले में कोर्ट ने एसीएस चिकित्सा एवं स्वास्थ्य रोहित कुमार सिंह, एंबुलेंस कर्मचारी यूनियन के अध्यक्ष वीरेंद्र सिंह समेत अन्य अधिकारियों को तलब किया था. दोपहर दो बजे बाद मुख्य न्यायाधीश इंद्रजीत माहन्ती की खंडपीठ में सुनवाई शुरू हुई जिसमें ACS, यूनियन अध्य्क्ष मौजूद रहे.

मुख्य न्यायाधीश इंद्रजीत माहन्ती ने कहा कि एम्बुलेंस सेवा चलती रहे यह सरकार की जिम्मेदारी है, आपके आपसी विवाद में जनता को तकलीफ हो यह स्वीकार्य नहीं है. उन्होंने यह भी कहा कि इतने कम वेतन में एम्बुलेंस चालक कैसे परिवार चलाएगा. इसके बाद यूनियन अध्यक्ष और एसीएस ने खंडपीठ में हड़ताल समाप्ति पर सहमति दी. कोर्ट ने सरकार को ये निर्देश भी दिए हैं कि यूनियन से बात करके इनका वेतन बढ़ाया जाए. हाईकोर्ट में सुनवाई के दौरान अधिवक्ता दिनेश यादव ने बार एसोसिएशन की ओर से पैरवी की वहीं सरकार की ओर से विभूति भूषण ने पक्ष रखा.

सचिवालय में 7 मांगों में से 5 पर बनी सहमति

हड़ताल खत्म होने के बाद एम्बुलेंस सेवाएं वापस बहाल हो गई हैं. उसके बाद अब इस मसले पर सचिवालय में एम्बुलेंस कर्मचारी यूनियन और सरकार के बीच वार्ता हुई. एसीएस रोहित कुमार सिंह की अध्यक्षता में देर शाम तक चली वार्ता में दोनों पक्षों में 7 मांगों में से 5 पर सहमति बन गई. शेष दो मांगों वेतन और कार्य समय को लेकर सोमवार को फिर 5 बजे होगी वार्ता. हाईकोर्ट ने कहा है यदि वार्ता बेनतीजा रहे तो दोनों पक्ष 5 नवंबर को वापस अदालत में आ जाएं. वार्ता सफल रहती है तो भी इसकी जानकारी हाईकोर्ट को दें.

एम्बुलेंस बंद होने से पीड़ित हुए बेहाल

प्रदेशभर में गुरुवार को एम्बुलेंस कर्मचारी हड़ताल पर चले गए थे. सरकार (Rajasthan Government) के साथ पहली वार्ता विफल रहने के बाद प्रदेश में एम्बुलेंस-108 (108 Ambulance) और एम्बुलेंस-104 सेवाएं दूसरे दिन शुक्रवार को दोपहर तक ठप रही. इसके चलते प्रदेश भर में जीवन वाहिनी सेवा एम्बुलेंस 108 के पहिए थमने से आमजन को काफी परेशानियां उठानी पड़ी.

कर्मचारी नेता को हिरासत में लेने से आक्रोशित हुए कर्मचारी
Loading...

एम्बुलेंस कर्मचारी नेता वीरेंद्र सिंह सहित चार हड़ताली कर्मचारियों को पुलिस ने शुक्रवार सुबह हिरासत में ले लिया था. इसके बाद एम्बुलेंस कर्मचारी आक्रोशित हो गए. आंदोलनरत कर्मचारी, विधायक बलवान पूनिया के नेतृत्व में सामूहिक गिरफ्तारी के लिए राजधानी के ज्योति नगर थाने पहुंचे.

बता दें कि राजस्थान कर्मचारी संघ के आह्वान पर एम्बुलेंस कर्मचारी गुरुवार को अनिश्चितकाल के लिए हड़ताल पर चले गए थे और सरकार की नई निविदा के विरोध के साथ कर्मचारियों ने 7 मांगें रखी थी. बता दें कि इससे प्रदेश भर की 1400 एम्बुलेंस रुकी हुई हैं.

ये भी पढ़ें-
टोल माफी का फैसला चुनावी फैसला था, प्राइवेट कार चलाने वाले सभी लोग सक्षम- CM
गहलोत सरकार ने BJP सरकार का फैसला पलटा, स्टेट हाईवे पर भी देना होगा TOLL!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 1, 2019, 2:36 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...