कोरोना वायरस से निपटने के लिए रेलवे स्टेशनों पर किए गए एयरपोर्ट जैसे इंतजाम

रेलवे स्टेशन पर एक यात्री की जांच करता रेलकर्मी.

कोरोना वायरस (coronavirus) को फैलने से रोकने के लिए एयरपोर्ट की तर्ज पर अब हर रेलवे स्टेशन (Railway Station) पर हर काम को बेहद बारीक तरीके से किया जा रहा है. कोरोना वायरस की जांच के जो इंतज़ाम एयरपोर्ट (Airport) पर किए गए हैं, वही इंतजाम अब रेलवे स्टेशन पर भी नजर आने लगे हैं.

  • Share this:
जयपुर. कोरोना वायरस (coronavirus) के असर से ट्रेनों के पहिए थम चुके हैं. 31 मार्च तक कमोबेश सभी ट्रेनें रोक दी गई हैं. इस पूरे परिदृश्य में रेलवे (Railway) ने कोरोना से लड़ाई लड़ने की पूरी तरह से ठान ली है. एयरपोर्ट की तर्ज पर अब हर रेलवे स्टेशन पर हर काम को बेहद बारीक तरीके से किया जा रहा है. कोविड 19 की जांच के जो इंतज़ाम एयरपोर्ट पर किए गए है, वही इंतजाम अब रेलवे स्टेशन पर भी नजर आने लगे हैं.

WHO की गाइडलाइन का पालन कर रहा है रेलवे
31 मार्च तक हज़ारों ट्रेनों का संचालन रद्द किया जा चुका है. करोड़ों रेलयात्रियों ने अपने रिज़र्वेशन रद्द करवा दिए हैं. रेलवे अब तक अरबों रुपए का रेलयात्रियों को रिफंड कर चुका है. ये तस्वीर का एक पहलू है, दूसरे पहलू पर गौर करें तो रेलवे कोरोना वायरस से बचाव के वो तमाम उपाय अपना रहा है जो WHO की गाइडलाइन को फॉलो करते हैं. इसके तहत रेलवे जंक्शन पर आने वाले यात्री की जांच से लेकर रेलवे जंक्शन पर मौजूद हर साजो-सामान को सेनेटाइज करने की मुहिम जारी है.

रेलवे ने उठाए ये कदम

  1. एसी कोचेज से सभी पर्दे और कम्बलों को हटाना.

  2. एसी कोच का न्यूनतम तापमान 24-25 डिग्री सेट करना

  3. यात्रियों को 100% धूले और सील पैक लिनेन की आपूर्ति

  4. ऑन बोर्ड हाऊस कीपिंग स्टॉफ की नियमित काउंसलिंग

  5. यात्री इण्टरफेस (सम्पर्क) के क्षेत्रों जैसे लिफ्ट हैण्डल, स्वीचेज, रेलिंग, एस्केलेटर रेलिंग, नल, डोर हैण्डल, चार्जिंग पाइंट इत्यादि को नियमित अंतराल से संक्रमण मुक्त करना

  6. सभी सफाई और लॉबी कर्मचारियों को सुरक्षात्मक उपकरण जैसे ग्लव्स और मास्क प्रदान करना

  7. स्टेशनों पर उपलब्ध बैन्चेज, वेटिंग रूम और दूसरे क्षेत्रों की नियमित रूप से सफाई करना

  8. जहां पर हेल्थ यूनिट्स उपलब्ध हैं, वहां मेडिकल स्टाफ द्वारा सभी रेलवे स्टेशनों और रेलवे कॉलोनी में जागरूकता अभियान चलाए जा रहे हैं

  9. मेडिकल स्टाफ को सैंपल कलेक्शन की ट्रेनिंग दी गई है

  10. आपातकाल ड्यूटीज के लिए डॉक्टर, मेडिकल स्टाफ, पैरामेडिकल स्टाफ को नामित कर दिया गया है

  11. जयपुर स्टेशन पर कोरोना वायरस से बचाव के लिए बूथ स्थापित किया गया है

  12. मेडिकल विभाग में नोडल अधिकारियों की नियुक्ति कर दी गई है, जो निरंतर जिला प्रशासन के संपर्क में कोरोना वायरस से बचाव पर निगरानी रख रहे हैं

  13. वर्कप्लेस पर डिसइनफेक्टेंट का छिड़काव किया जा रहा है

  14. सभी अस्पतालों और हेल्थ यूनिट्स में आइसोलेशन वार्ड, क्वॉरेंटाइन वार्ड, बेड बना दिए गए हैं

  15. जोनल हेडक्वार्टर कॉमर्शियल कंट्रोल में मेडिकल स्टाफ की राउंड-द-क्लॉक ड्यूटी लगाई गई है

  16. सभी ट्रेनों और स्टेशनों पर कोरोना वायरस से बचाव से जुड़े पंफलेट लगा दिए गए हैं, रेलवे कॉलोनियों में इनका वितरण किया जा रहा है.

  17. ZRTI में नॉन-एसेंशियल श्रेणी के प्रशिक्षण को स्थगित कर दिया गया है. इसके साथ ही यात्रियों को कोरोना वायरस के प्रति जागरूक करने के लिए विशेष अभियान चलाए जा रहे हैं, जिसके तहत उत्तर पश्चिम रेलवे के 453 स्टेशनों पर 3500 से अधिक पोस्टर लगाए गए हैं, इसके साथ ही 362 स्टेशनों पर अनाउंसमेंट सिस्टम के माध्यम से और जयपुर, जोधपुर, अजमेर, बीकानेर, उदयपुर, रेवाड़ी, दौसा, अलवर, हिसार और श्रीगंगानगर स्टेशनों पर टीवी के माध्यम से यात्रियों को जागरुक किया जा रहा है.


सफर करने से बच रहे हैं यात्री
ये सभी वो ज़रूरी कदम हैं, जो अब तक रेलवे ने उठाए हैं. इन गाइडलाइंस का सख्ती से पालन किया गया तो बड़ी आपदा से बचा जा सकता है. बहरहाल रेलयात्री अब सफर करने से बच रहे हैं. यही कारण है कि हज़ारों ट्रेन भारत भर में रद्द हो चुकी हैं लेकिन इसी बीच रेलवे के पास खाली ट्रेनों को सेनेटाइज करने का बहुत सा वक्त मिल गया है क्योंकि काम अधिक है और समय कम है.

ये भी पढ़ें - 

ICMR ने कोरोना वायरस पर लगाम लगाने के लिए जांच रणनीति में किया संशोधन

दिल्ली के बंद स्थानों के कर्मचारियों, अतिथि शिक्षकों को वेतन देगी सरकार

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.