अपग्रेड हुए 258 सरकारी स्कूलों में होगा 2161 अस्थाई पदों का गठन, सीएम गहलोत ने दी मंजूरी

सीएम गहलोत ने बड़ा फैसला लिया है. (File)
सीएम गहलोत ने बड़ा फैसला लिया है. (File)

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने कोरोना काल में सेवाएं दे रहे स्वास्थ्य क्षेत्र से जुड़े कर्मचारियों को प्रोत्साहन राशि देने की मंजूरी दे दी है. 

  • Share this:
जयपुर. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने 258  सरकारी उच्च माध्यमिक विद्यालयों में योजना मद में 1290 अस्थाई पदों के सृजन को मंजूरी दी है. नवसृजित अस्थाई पदों में 258 प्रधानाचार्य, 774 व्याख्याता स्कूल शिक्षा और 258 पद अध्यापक (एल-10) के हैं. जिन नवक्रमोन्नत विद्यालयों में नामांकन शून्य अथवा बहुत कम है उनमें नामांकन वृद्धि के प्रभावी प्रयास करने के निर्देश दिए हैं. सीएम गहलोत ने नवक्रमोन्नत 65 माध्यमिक विद्यालयों में 845, नवक्रमोन्नत अन्य 2 विद्यालयों में 26 पदों को मिलाकर  कुल 871 अस्थाई पदों का सृजन करने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है.

इसमें 845 अस्थाई पदों में से 65 पद प्रधानाध्यापक के, 390 पद वरिष्ठ अध्यापक के, 65 पद शारीरिक शिक्षक ग्रेड तृतीय के, 260 पद अध्यापक (एल-10) और  कनिष्ठ सहायक के 65 पद शामिल हैं. नवक्रमोन्नत राजकीय बालिका माध्यमिक विद्यालय अणखिया (बाड़मेर) और राजकीय माध्यमिक विद्यालय बोसीफला, साबला (डूंगरपुर) में 26 पद सृजित किए गए हैं. सीएम ने कर्ण नरेन्द्र कृषि विश्वविद्यालय, जोबनेर में 30 नए अशैक्षिणक पदों के सृजन के प्रस्ताव को भी मंजूरी दी है.

कृषि विश्वविद्यालय जोबनेर में 30 अशैक्षिणक पद गठित



मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने  कर्ण नरेन्द्र कृषि विश्वविद्यालय, जोबनेर में 30 नए अशैक्षिणक पदों के सृजन के प्रस्ताव को भी मंजूरी दी. इन पदों का संस्थापन व्यय राज्य सरकार द्वारा वहन किया जाएगा. इन नवीन पदों के सृजन से विश्वविद्यालय प्रशासन संचालित करने में सुगमता होगी.
ये भी पढ़ें: COVID-19: बीजेपी ने दिया राजस्थान में Weekend Lockdown का सुझाव

कोविड में लगे संविदा एंबुलेंसकर्मियों और तकनीशियनों को 500 रुपए  प्रोत्साहन राशि मंजूर 

सीएम अशोक गहलोत ने  कोविड में सेवाएं दे रहे एम्बूलेंस सेवा प्रदाता कंपनी जीवीके-ईएमआरआई के टैक्नीशियन और एम्बूलेंस चालकों को 500 रूपये एकबारीय प्रोत्साहन राशि के रूप में देने की मंजूरी दी है. इसका लाभ  राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन (एनएचएम) में इस कंपनी द्वारा संचालित 108, 104 और बेस एम्बूलेंस पर कार्यरत 1435 तकनीशियनों और 2806 एम्बूलेंस चालकों को मिलेगा. कोविड रोगियों को लाने, ले जाने और उनके उपचार में सहयोग कर रहे इन संविदा कार्मिकों का मनोबल बढ़ेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज