Home /News /rajasthan /

ashok gehlot attack on gajendra singh shekhawat contradiction between congress minister and mla on statement rjsr

अशोक गहलोत के बयान पर उनके ही मंत्री और विधायक में साामने आया विरोधाभाष, पढ़ें किसने क्या कहा?

सीएम अशोक गहलोत और केन्द्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत लगातार एक दूसरे पर हमले बोलते रहे हैं.

सीएम अशोक गहलोत और केन्द्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत लगातार एक दूसरे पर हमले बोलते रहे हैं.

अशोक गहलोत बनाम गजेन्द्र सिंह शेखावत: सीएम अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) की ओर से हाल में जलशक्ति मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत (Gajendra Singh Shekhawa) को लेकर दिये गये बयान पर उनके मंत्री और विधायक विरोधभाषी बयान दे रहे हैं. गहलोत सरकार के मंत्री रामलाल जाट का कहना है कि सीएम जो भी बोलते हैं वो सोच समझकर बोलते हैं. वहीं विधायक वेदप्रकाश सोलंकी का कहना कि वे जाट के मत से सहमत नहीं हैं. राजनीति में हर व्यक्ति की अपनी गरिमा होती है और अपने-अपने विचार हो सकते हैं.

अधिक पढ़ें ...

जयपुर. सीएम अशोक गहलोत की ओर से हाल ही में केन्द्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत (Ashok Gehlot Vs Gajendra Singh Shekhawat) को लेकर दिये गये बयान पर कांग्रेस में ही अलग-अलग तरह के मत के चलते विरोधाभाष (contradiction) देखने को मिल रहे हैं. गहलोत सरकार के राजस्व मंत्री रामलाल जाट ने कहा है कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का लंबा राजनीतिक अनुभव है. वे जो भी बोलते हैं सोच-समझकर बोलते हैं. वहीं विधायक वेदप्रकाश सोलंकी ने कहा कि वे राजस्व मंत्री की ओर से कही गई बातों से पूरी तरह सहमत नहीं हैं. राजनीति में हर व्यक्ति की अपनी गरिमा होती है और अपने-अपने विचार हो सकते हैं.

विधायक सोलंकी ने कहा कि इसमें कोई शक नहीं है कि हमारी जितनी उम्र है उतनी तो मुख्यमंत्री अशोक गहलोत राजनीति कर चुके हैं. उदयपुर घटना हो या कोई अन्य घटना हो राजस्थान की जनता सब देख रही है. दरअसल राजस्थान कांग्रेस कार्यालय में कई दिनों के अंतराल के बाद सोमवार को फिर जनता दरबार लगा था. इसमें राजस्व मंत्री रामलाल जाट और ऊर्जा मंत्री भंवर सिंह भाटी ने जनसुनवाई की. इस दौरान पीसीसी पदाधिकारी वेदप्रकाश सोलंकी, प्रशान्त शर्मा और फूल सिंह ओला भी मौजूद रहे. लंबे समय बाद हुई जनसुनवाई में काफी भीड़ उमड़ी.

जनसुनवाई में लोग ला रहे हैं तबादलों के आवेदन
जनसुनवाई के बाद मीडिया से रू-ब-रू होते हुए मंत्री रामलाल जाट ने कहा कि लोग तबादले से सबंधित आवेदन लेकर भी आ रहे हैं. इनमें भी शिक्षा विभाग के आवेदन सर्वाधिक हैं. इस दौरान उदयपुर के प्रभारी मंत्री रामलाल जाट ने बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा कि हर छत पर तिरंगा तब फहराना चाहिए था जब कोई युद्ध की स्थिति होती. यहां हिंदुस्तान का पाकिस्तान या चीन के साथ युद्ध नहीं हो रहा कि बीजेपी ऐसी बात कर रही है.

 भाटी बोले छत्तीसगढ़ सरकार से बात कर रहे हैं
ऊर्जा मंत्री भंवर सिंह भाटी ने राजस्थान के बिजली संकट पर कहा कि अभी भी कोयले से संबंधित दिक्कतें हैं. केंद्र सरकार से हमें छत्तीसगढ़ में 2 कोल ब्लॉक आवंटित हुए हैं. लेकिन छत्तीसगढ़ सरकार से अनुमति नहीं मिलने के कारण हम उन्हें अभी शुरू नहीं कर पाए हैं. उन्होंने कहा कि हम छत्तीसगढ़ सरकार से बात कर रहे हैं. हमारे अधिकारी 3 दिन के लिए छत्तीसगढ़ गए थे.

जन विरोध के कारण काम शुरू नहीं हो पा रहा
भाटी ने कहा कि छत्तीसगढ़ कोयला खदान के आसपास स्थानीय आदिवासियों का जन विरोध जारी है. इस वजह से छत्तीसगढ़ सरकार भी अभी अनुमति देने में असमर्थता जता रही है. भाटी ने कहा कि हम कोशिश कर रहे हैं कि राजस्थान को आवंटित कोल ब्लॉक में काम करने की इजाजत मिले. हमने कोल इंडिया लिमिटेड से भी अतिरिक्त कोयले की मांग की है. भाटी ने आरोप लगाया कि भारत सरकार से हमें सहयोग नहीं मिला है.

Tags: Ashok gehlot, Gajendra Singh Shekhawat, Jaipur news, Rajasthan news, Rajasthan Politics

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर