Home /News /rajasthan /

Gehlot Cabinet Portfolios: राजस्थान में दवा और दारू दोनों कैबिनेट मंत्री परसादीलाल मीणा के जिम्मे

Gehlot Cabinet Portfolios: राजस्थान में दवा और दारू दोनों कैबिनेट मंत्री परसादीलाल मीणा के जिम्मे

Ashok Gehlot Ministers Portfolios: गहलोत मंत्रिमंडल के पुनर्गठन में परसादीलाल मीणा के साथ ही अन्य कई मंत्रियों के विभागों को भी बदला गया है.

Ashok Gehlot Ministers Portfolios: गहलोत मंत्रिमंडल के पुनर्गठन में परसादीलाल मीणा के साथ ही अन्य कई मंत्रियों के विभागों को भी बदला गया है.

Gehlot ministers Portfolios latest news: गहलोत मंत्रिमंडल के मंत्रियों को बांटे गये विभागों के बाद इस बार दवा और दारू दोनों के महकमे कैबिनेट मंत्री परसादीलाल मीणा (Parsadilal Meena) के पास आ गये हैं. यह संभवतया पहली बार हुआ है कि दोनों विभाग की जिम्मेदारी एक ही मंत्री हो मिली है. परसादीलाल मीणा के पास पहले उद्योग विभाग था. मंत्रिमंडल पुनर्गठन में उनका विभाग बदला गया है.

अधिक पढ़ें ...

    जयपुर. राजस्थान में गहलोत मंत्रिमंडल का पुनर्गठन (Gehlot Cabinet Reshuffle) होने के साथ ही सभी मंत्रियों को विभागों (Portfolios) का बंटवारा कर दिया गया है. राजस्थान में ऐसा संभवतया पहली बार हुआ है कि एक ही मंत्री को चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के साथ ही आबकारी विभाग का भी जिम्मा दिया गया हो. इस बार इन दोनों अहम विभागों की जिम्मेदारी कैबिनेट मंत्री परसादीलाल मीणा को मिली है. परसादीलाल मीणा के पास पहले उद्योग विभाग की जिम्मेदारी थी. लेकिन मंत्रिमंडल के पुनर्गठन के बाद उनका कद और बढ़ गया है.

    परसादीलाल मीणा को चिकित्सा एवं स्वास्थ्य जैसे बड़े और अहम विभाग के साथ आबकारी विभाग की भी कमान दी गई है. यानी राजस्थान में अब दवा और दारू दोनों की कमान एक ही मंत्री के पास रहेगी. चिकित्सा विभाग आम आदमी से जुड़ा होने के साथ ही बड़े बजट का महकमा है. वहीं आबकारी विभाग सरकार के लिये सबसे ज्यादा राजस्व कमाने वाला डिपार्टमेंट है.

    कई अन्य मंत्रियों के विभागों को भी बदला गया है
    मंत्रिमंडल पुनर्गठन में परसादीलाल मीणा के साथ ही अन्य कई मंत्रियों के विभागों को भी बदला गया है. गहलोत के नजदीकी प्रताप सिंह खाचरियावास महकमा बदल दिया गया है. वे अब परिवहन विभाग की जगह खाद्य एवं रसद विभाग की जिम्मेदारी संभालेंगे. वहीं सीएम गहलोत के करीबी शांति धारीवाल के साथ ही लालचंद कटारिया और प्रमोद जैन भाया के विभागों को यथावत रखा गया है.

    आंजना के पास भी सहकारिता विभाग यथावत रहा
    तीन अन्य मंत्रियों की तरह उदयलाल आंजना के पास भी सहकारिता विभाग यथावत रहा है लेकिन उनसे इंदिरा गांधी नहर परियोजना का जिम्मा छीन लिया गया है. साले मोहम्मद के पास अल्पसंख्यक मामलात विभाग यथावत रहेगा. नये कैबिनेट मंत्री बनाये गये रामलाल जाट को राजस्व विभाग की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी गई है.

    गृह और वित्त जैसे विभाग गहलोत के पास हैं
    मंत्रिमंडल के पुनर्गठन के बाद अब सीएम अशोक गहलोत के पास केवल दस विभाग बचे हैं. पहले सीएम के पास ज्यादा विभाग थे. लेकिन अब उन्हें नये बने मंत्रियों में बांट दिया गया है. सीएम के पास अब गृह व न्याय विभाग, वित्त विभाग, कर विभाग, कार्मिक विभाग, सामान्य प्रशासन, सूचना एंव जनसंपर्क विभाग, सूचना तकनीकी एवं जनसंचार, राजस्थान स्टेट इनवेस्मेंट ब्यूरो, एनआरआई और कैबिनेट सचिवालय हैं.

    Tags: Rajasthan Congress, Rajasthan latest news, Rajasthan News Update, Rajasthan Politics

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर