राजस्थान: जैसलमेर से लौटे गहलोत खेमे के विधायकों की फिर से बाड़ेबंदी, होटल में STF तैनात
Jaipur News in Hindi

राजस्थान: जैसलमेर से लौटे गहलोत खेमे के विधायकों की फिर से बाड़ेबंदी, होटल में STF तैनात
पायलट समर्थक विधायकों का कहना है कि वो CLP की बैठक में शामिल होंगे. (File)

Rajasthan Political Crisis Update: जैसलमेर (Jaisalmer) से लौटे गहलोत खेमे के विधायकों को फिर एक बार जयपुर (Jaipur) में बाड़ेबंदी कर दी गई है. माना जा रहा है कि 17 अगस्त तक विधायकों को होटल में ही रहने पड़ सकता है. पायलट खेमे (Sachin Pilot) के विधायक फिलहाल होटल में नहीं हैं.

  • Share this:
जयपुर. राजस्थान (Rajasthan) की अशोक गहलोत सरकार (Ashok Gehlot Government) पर छाए संकट के बादल छट तो गए हैं लेकिन सियासत अभी भी जारी है. बुधवार को जैसलमेर के सूर्यगढ़ होटल से गहलोत खेमे के विधायक वापस जयपुर पहुंचे. जैसलमेर से विशेष विमान से सभी विधायक जयपुर पहुंचे. एयरपोर्ट से सभी विधायकों को बसों के जरिए वापस कूकस स्थित होटल फेयर माउंट लाया गया. फिर से कांग्रेस विधायकों की फेयरमाउंट होटल में बाड़ेबंदी की गई है. हालांकि बाड़ेबंदी में पायलट (Sachin Pilot) समर्थक विधायकों के शामिल होने पर संशय जरूर है. फिलहाल, विधायकों ने इस पर कुछ फैसला नहीं लिया है.

कांग्रेस विधायकों के होटल फेयरमाउंट पहुंचते ही सियासी हलचल फिर तेज हो गई है. होटल फेयरमाउंट के बाहर सुरक्षा बढ़ा दी गई है. एसटीएफ के जवानों ने होटल पर मोर्चा संभाल लिया है. राजस्थान पुलिस के जवान भी सुबह से ही होटल के बाहर तैनात थे. वहीं, कल यानी कि गुरुवार को कांग्रेस विधायक दल की बैठक भी होने वाली है. बैठक में विधानसभा सत्र को लेकर चर्चा होगी. कयास लगाए जा रहे हैं कि बैठक में दो निलंबित विधायक भी शामिल हो सकते हैं. मालूम हो कि पायलट समर्थक दो विधायक भंवरलाल शर्मा और विश्वेन्द्र सिंह को ऑडियो टेप केस में पार्टी से निलंबित कर दिया गया था. अभी तक इनका निलंबन वापस नहीं हुआ है.

कब तक फेयरमाउंट में रहेंगे विधायक?
गहलोत गुट के विधायकों की जैसलमेर से वापसी तो हो गई है लेकिन अब सवाल ये है कि विधायक कब तक होटल में रहेंगे. क्या 14 अगस्त को इन्हें आजादी मिल पाएगी या फिर 17 अगस्त तक होटल में ही रहना होगा? विधायकों की बाड़ेबंदी के साथ ये सारे सवाल सियासी गलियाों में घूम रहे हैं. गौरतलब है कि 14 अगस्त को विधानसभा सत्र है. अमूमन पहले दिन शोकाभिव्यक्ति के बाद सदन स्थगित कर दिया जाता है. अगर ऐसा हुआ तो 17 अगस्त को फ्लोर टेस्ट हो सकता है. 15 और 16 अगस्त को अवकाश है. ऐसे में विधायकों को 17 अगस्त तक होटल में रहना पड़ सकता है. हालांकि सदन का कामकाज कार्य सलाहकार समिति तय करेगी.
ये भी पढ़ें:- COVID-19: हुनर के बावजूद आर्थिक तंगी झेल रहे मूर्तिकार, गणेश चतुर्थी नजदीक लेकिन नहीं मिल रहे खरीददार



'कांग्रेस विधायक दल की बैठक में होंगे शामिल'
सचिन पायलट समर्थक MLA मुरारीलाल मीणा ने बाड़ेबंदी के सवाल पर कहा कि हम अपने घर में ठहरे हुए है. कांग्रेस विधायक दल की बैठक में शामिल होंगे. उन्होंने कहा कि पूर्वी राजस्थान की बड़ी भूमिका सरकार बनाने में थी, लेकिन उसकी उपेक्षा हुई. वो आलाकमान को यही बताने गए थे. सत्ता में भागीदारी की भी बात हुई है. वहीं पायलट खेमे के ही विधायक GR खटाणा का कहना है कि CLP की बैठक में जाएंगे. जब आलाकमान ने आश्वस्त कर दिया है कोई भेदभाव नहीं होगा तो CLP की बैठक में जाएंगे. CLP की सूचना मुख्य सचेतक देंगे तो जाएंगे. फिलहाल, होटल में ठहरने का कोई निर्देश नहीं मिला है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज