होम /न्यूज /राजस्थान /

कई बार प्रेम से ‘निकम्मा’ कहता हूं तो लोग बुरा मान जाते है, अब मैं क्या करूं: अशोक गहलोत

कई बार प्रेम से ‘निकम्मा’ कहता हूं तो लोग बुरा मान जाते है, अब मैं क्या करूं: अशोक गहलोत

Rajasthan News: सीएम अशोक गहलोत ने दो जुलाई को केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत पर निशाना साधते हुए 'निकम्मा' शब्द का प्रयोग किया था...

Rajasthan News: सीएम अशोक गहलोत ने दो जुलाई को केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत पर निशाना साधते हुए 'निकम्मा' शब्द का प्रयोग किया था...

Rajasthan Politics: निकम्मा शब्द राजस्थान की राजनीति में इन दिनों खूब चर्चाओं में है. एक बार फिर 'निकम्मा' शब्द की गूंज ईस्टर्न कैनाल प्रोजेक्ट को राष्ट्रीय परियोजना घोषित करने के मुद्दे पर 13 जिलों के विधायकों और कांग्रेस नेताओं के सम्मेलन में हुई. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने निकम्मा शब्द की परिभाषा बताते हुए न सिर्फ केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह पर निशाना, बल्कि कभी उनके डिप्टी रहे सचिन पायलट पर भी इशारों-इशारों में तंज कस गए. कुछ दिन पहले पायलट ने भी निकम्मा शब्द का इस्तेमाल किया था.

अधिक पढ़ें ...

जयपुर. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Chief Minister Ashok Gehlot) ने कांग्रेस के सम्मेलन में सियासत की सुर्खियां बन रहे ‘निकम्मा’  की परिभाषा बताई. उन्होंने कहा कि निकम्मा का मतलब क्या होता है? पड़ोस में बच्चे कोई झगड़ा करते हैं. तो एक पड़ोसी दूसरे के घर जाता है और बच्चे की शिकायत करता है. तब उस बच्चे के पिता कहते हैं कि अभी बुलाकर डांटता हूं. वह नाकारा-निकम्मा है. यही तो कहते हैं, ये तो कहावतें होती हैं. उन्होंने कहा कि  मैं कई बार प्रेम से ‘‘निकम्मा’’ कहता हूं तो भी लोग बुरा मान जाते है.

सीएम गहलोत ने दो जुलाई को केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत पर निशाना साधते हुए ‘निकम्मा’ शब्द का प्रयोग किया था. इससे पहले बगावती पायलट के लिए भी वे नाकारा-निकम्मा कह चुके हैं. सचिन ने भी पिछले दिनों कहा कि गहलोत पिता तुल्य है. वे नाकारा-निकम्मा कहते हैं तो मैं अन्यथा नहीं लेता.

नाकारा-निकम्मा आम कहावत, इसका मतलब गलती पर डांटना

कांग्रेस प्रदेश समिति द्वारा केंद्र सरकार से पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना (ईआरसीपी) को राष्ट्रीय परियोजना का दर्जा देने की मांग के समर्थन में यहां आयोजित कांग्रेस जनप्रतिनिधि सम्मेलन में गहलोत ने केंद्रीय मंत्री शेखावत के नाराज होने का जिक्र करते हुए कहा “निकम्मा शब्द आम कहावत है. इसका मतलब यही होता है कि बच्चा है, इसने गलती कर दी होगी, मैं उसे डांटता हूं.” गहलोत ने कहा कि लेकिन अब वह प्रेम से भी लोगों को ‘निकम्मा’ कह देते हैं, तो वो उसका बुरा मान जाते हैं. अब इसका मैं क्या करूं. गौरतलब है कि सचिन पायलट ने पिछले दिनों कहा था कि गहलोत मेरे पिता तुल्य हैं, वे मुझे कई बार निकम्मा कह चुके हैं, मैं इस बात को अन्यथा नहीं लेता.

राजस्थान: आतंकवाद के खिलाफ पोस्ट की तो बीजेपी नेता को मिली बम से उड़ाने की धमकी, पढ़ें अपडेट

पीएम की बात ध्यान से न सुनना एब्सेंट माइंड होने का प्रमाण

उन्होंने आरोप लगाया कि केंद्रीय मंत्री शेखावत ने प्रधानमंत्री की अजमेर और जयपुर की रैली में उनकी बात को नहीं सुना. गहलोत ने कहा “अगर कोई मंत्री प्रधानमंत्री की बैठक में उनकी बात को ध्यान से नहीं सुनता तो दिमाग से गैरहाजिर ही है.” यह साफ है कि पीएम क्या बोले, अगर आपको उसका पता नहीं तो इसका मतलब आप एब्सेंट माइंड थे. मैंने उसके बारे में गलत क्या कहा?

राजस्थान की भी योजना को केंद्र राष्ट्रीय परियोजना घोषित करे

इसके बाद राजस्व मंत्री रामलाल जाट ने ‘निकम्मे’ का मतलब सुधार कर काम नहीं करने वाला बताया. उन्होंने कहा कि योजना के महत्व को देखते हुए सरकार ने 9,600 करोड़ रुपये का बजट प्रावधान रखा है. यह कोई हम भीख नहीं मांग रहे है. एक भी योजना राजस्थान के लिए राष्ट्रीय परियोजना नहीं है.  क्या हमारा हक नहीं है कि राजस्थान की भी एक योजना को केंद्र राष्ट्रीय परियोजना घोषित करे.

Tags: Ashok gehlot, Ashok Gehlot Vs Sachin Pilot, Gajendra Singh Shekhawat

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर