Rajasthan: जयपुर और उदयपुर में 13-13 करोड़ की लागत से बनेंगे 2 ट्राईबल यूथ हॉस्टल

पिछले दिनों डूंगरपुर जिले में शिक्षक भर्ती को लेकर हुये आदिवासी अभ्यर्थियों के हिंसक आंदोलन के बाद से सरकार आदिवासियों के प्रति काफी संवेदनशील हो गई है.
पिछले दिनों डूंगरपुर जिले में शिक्षक भर्ती को लेकर हुये आदिवासी अभ्यर्थियों के हिंसक आंदोलन के बाद से सरकार आदिवासियों के प्रति काफी संवेदनशील हो गई है.

Tribal welfare: डूंगरपुर में पिछले दिनों हुये हिसंक आंदोलन (Violent movement) के बाद सतर्क हुई गहलोत सरकार अब आदिवासी विद्यार्थियों के लिये राजधानी जयपुर और उदयपुर में 2 ट्राईबल यूथ हॉस्टल एवं करियर सेंटर (Tribal Youth Hostel and Career Center) बनायेगी.

  • Share this:
जयपुर. प्रदेश की अशोक गहलोत सरकार ने आदिवासी विद्यार्थियों (Tribal students) को प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए दो ट्राईबल यूथ हॉस्टल एवं करियर सेंटर (Tribal Youth Hostel and Career Center) बनाने का निर्णय लिया है. राज्य सरकार ने जयपुर और उदयपुर (Jaipur and Udaipur) में 13-13 करोड़ की लागत से ट्राईबल यूथ हॉस्टल एवं करियर सेंटर बनाने के लिए राशि भी स्वीकृत कर दी है. जयपुर में सांगानेर में 1606 वर्ग मीटर भूमि आवंटित कर दी गई है. उदयपुर में भूमि आवंटन की प्रक्रिया चल रही है.

300 विद्यार्थियों रह सकते हैं
जनजातीय क्षेत्रीय विकास विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव राजेश्वर सिंह ने बताया कि ट्राईबल यूथ हॉस्टल में आदिवासी विद्यार्थियों को प्रवेश दिया जाएगा और उन्हें रहने- खाने की सुविधा दी जाएगी. उन्हें वहां प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कराई जाएगी. राजेश्वर सिंह ने बताया कि दोनों छात्रावासों में करीब 300 विद्यार्थियों के रहने की व्यवस्था की जायेगी. इन केन्द्रों का उपयोग कौशल प्रशिक्षण के लिए भी किया जाएगा. सांगानेर तहसील में जवाहर सर्किल के पास मौजा सवाई गेटोर में 1606 वर्गमीटर भूमि का आवंटन किया गया है.

Rajasthan: सरकारी भर्तियों का खुला पिटारा, लंबे समय से खाली चल रहे इन 161 पदों पर होगी भर्ती
उदयपुर में भूमि आवंटन की प्रक्रिया शुरू


उदयपुर में सेन्टर के लिए नगर विकास प्रन्यास की ओर से चित्रकूट नगर में भूमि आवंटन की प्रक्रिया विचाराधीन है। इसके लिए भी राजस्थान राज्य कृषि विपणन बोर्ड को कार्यकारी एजेन्सी नियुक्त किया गया है तथा निविदा कार्य पूर्ण कर कार्यादेश भी जारी कर दिया गया है. परियोजना के अन्तर्गत वेटिंग एरिया, पार्किंग, पुस्तकालय, किचन, स्टोर, वार्डन क्वार्टर तथा 150 विद्यार्थी क्षमता का छात्रावास सम्मिलित है.

Good News: 10 अक्टूबर से फिर शुरू होगी जयपुर-दिल्ली डबल डेकर ट्रेन, यहां देखें टाइमटेबल

आदिवासियों के प्रति काफी संवेदनशील हो गई है सरकार
उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों आदिवासी बहुल डूंगरपुर जिले में शिक्षक भर्ती को लेकर आदिवासी अभ्यर्थियों ने हिंसक आंदोलन किया था. उसके बाद से सरकार आदिवासियों के प्रति काफी संवेदनशील हो गई है. आदिवासियों के लंबित पड़े मामलों पर तेजी से कार्रवाई होने लगी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज