Farm Bill 2020 के खिलाफ नया कानून ला सकती है गहलोत सरकार, जल्द होगा विधानसभा सत्र 

राहुल गांधी राजस्थान का दौरा कर सकते हैं.

 केंद्रीय कृषि कानूनों (New Farm Bill 2020) को बायपास करने के विकल्प गहलोत सरकार तलाश करेगी. सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि जल्द विधानसभा सत्र बुलाने पर विचार करेंगे. विधानसभा में इन कानूनों ओर चर्चा की जाएगी. जरूरत पड़ी तो राज्य का कानून बनाने पर भी विचार करेंगे.

  • Share this:
जयपुर.  केंद्रीय कृषि कानूनों (Farm Bill 2020) को बायपास कर उसकी जगह राज्य के प्रावधान लागू करने के मामले में राज्य सरकार ने कवायद शुरू कर दी है. राज्य सरकार इस मामले में जल्द विधानस्भा सत्र बुलाने की तैयारी में है. सीएम अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने जल्द विधानसभा सत्र बुलाने के संकेत दिए हैं. सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि सोनिया गांधी चाहती हैं कि राज्य सरकारें सोचें कि किस प्रकार से हम जो कानून बनाने का अधिकार राज्यों को है, उस पर केंद्र ने जो हस्तक्षेप किया है, उसको किस प्रकार से हम लोग ठीक कर सकते हैं. हम लोग उनके सुझाव पर विचार करेंगे.

सीएम अशोल गहलोत ने कहा, हम चाहेंगे विधानसभा बुलाकर वहां पर डिस्कशन करें. विधानसभा के अंदर खुलकर बातचीत करें. जो कानून बनाए गए हैं, राष्ट्रपति की उसपर छाप लग चुकी है. हम चाहेंगे कि पूरा परीक्षण करवाएं कि किस प्रकार से हम अमेंडमेंट कर सकते हैं. संविधान के अंतर्गत क्या राज्यों को जो अधिकार दिए गए हैं, उसका क्या तरीका हो सकता है. उन्होंने कहा कि हो सकता है हमें जल्द ही असेंबली बुलानी पड़े और किसानों के हित के अंदर जो भी होगा, वह किया जाएगा.

कांग्रेस ने की रास्ता तलाशने की बात

कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा और कृषि मंत्री लाल चंद कटारिया ने भी केंद्रीय कानूनों को बायपास करने का रास्ता  तलाशने की बात कही है.  केंद्रीय कृषि कानूनों को लेकर सोनिया गांधी ने सभी कांग्रेस शासित राज्यों को निर्देश दिए थे कि वे इन कानूनों को बायपास करने का कानूनी रास्ता तलाशकर इनकी जगह राज्य का कानून  लागू करने का विकल्प तलाशें, सोनिया गांधी के निर्देशों के बाद राजस्थान सरकार ने कवायद शुरू कर दी है.

राहुल गांधी कर सकते हैं दौरा
केंद्रीय कृषि कानूनों के खिलाफ कांग्रेस के अभियान में राहलु गांधी राजस्थान आ सकते हैं. हालांकि राहुल गांधी के दौरे का अभी कार्यक्रम नहीं बना है, लेकिन सीएम अशोक गहलोत ने राहलु गांधी को राजस्थान आने का निमंत्रण दिया है. सीएम गहलोत ने राहुल गांधी से बात करके राजस्थान आने का निमंत्रण दिया है. कुछ ही दिनों में राहुल गांधी के कायक्रम को लेकर स्थ्रिति साफ होगी. कृषि कानूनों के खिलाफ 14 नवंबर तक कांग्रेस का हस्ताक्षर अभियान जारी रहेगा. इस बीच कांग्रेस की योजना राहुल गांधी का किसानों से संवाद कार्यक्रम या छोटा मार्च रखवाने की है ताकि इस मुद्दे को गर्माया जा सके.

ये भी पढ़ें: PHOTOS: हिमाचल कांग्रेस में गुटबाजी की 'रसोई', चर्चा में पंडित सुखराम के घर राजीव शुक्ला का लंच

सीएम ने किसान सम्मेलन के दौरान मंच से इसके बारे में घोषणा की. गहलोत ने कहा कि राहुल गांधी अभी पंजाब गए हरियाणा गए. हम चाहेंगे कि वे राजस्थान में आएं किसानों के बीच में, किसानों से रूबरू हों यहां, किसान पूरी तरह से तैयार है, दुःखी है, चिंतित है आने वाले वक्त में क्या होगा. राहुल गांधी ने हाल ही में केंद्रीय कृषि कानूनों के खिलाफ पंजाब से लेकर दिल्ली तक ट्रैक्टर यात्रा की है. इसी तर्ज पर कई कांग्रेस शासित राज्य भी यात्रा की तैयारी कर रहे हैं. राजस्थान में कांग्रेस की सरकार है, ऐसे में यहां किसानों को एकजुट करना और  यात्रा निकालना ज्यादा मुफीद माना जा रहा है. राजस्थान में राजधानी जयपुर सहित 11 जिलों में कोरोना के कारण धारा 144 लगी हुई है, इसलिए भी कृषि कानूनों को लेकर बड़ा सम्मेलन नहीं किया गया.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.