Rajasthan: 'शुद्ध के लिये युद्ध' अभियान को धारदार बनाएगी गहलोत सरकार, ये है मेगा प्लान

सीएम ने कहा कि कोई भी व्यक्ति खाद्य सामग्री में मिलावट की सूचना केन्द्रीयकृत हेल्पलाइन नम्बर-181 और जिला स्तर पर कलक्टर तथा संबंधित अधिकारियों को दे सकता है.
सीएम ने कहा कि कोई भी व्यक्ति खाद्य सामग्री में मिलावट की सूचना केन्द्रीयकृत हेल्पलाइन नम्बर-181 और जिला स्तर पर कलक्टर तथा संबंधित अधिकारियों को दे सकता है.

War for the pure: प्रदेश की गहलोत सरकार मिलावट के खिलाफ चलाये जा रहे अभियान को और धारदार (Sharpened) बनाने के मूड में है. इसके लिये इसे अब सीजन विशेष तक सीमित नहीं रखकर पूरे समय (All time) चलाया जायेगा.

  • Share this:
जयपुर. प्रदेश में मिलावट के खिलाफ शुरू किए गए 'शुद्ध के लिए युद्ध' (War for the pure) अभियान को अशोक गहलोत सरकार और धारदार (Sharpened) बनाने की तैयारी कर रही है. अब इस अभियान को सीजन विशेष तक सीमित नहीं रखकर पूरे समय (All time) चलाया जाएगा. सीएम अशोक गहलोत ने अफसरों को निर्देश दिए हैं कि अभियान का यह काम सिर्फ कुछ दिन तक ही सीमित ना रहे. इसे पूरी प्राथमिकता के साथ निरंतर जारी रखा जाए. सीएम ने निर्देश दिए कि अभियान की सफलता के लिए गठित राज्य स्तरीय कोर ग्रुप जिलों में की जा रही कार्रवाई और अभियान की प्रगति की साप्ताहिक समीक्षा करे.

सीएम अशोक गहलोत ने गुरुवार को प्रदेश में कोराना के हालात और ‘शुद्ध के लिए युद्ध’ अभियान की समीक्षा की. समीक्षा बैठक में सीएम ने कहा कि खाद्य पदार्थों में मिलावट पूरे देश के लिए गंभीर चिंता का विषय है. राज्य सरकार ने प्रदेशवासियों के स्वास्थ्य को सर्वोपरि रखते हुए एक बार फिर ‘शुद्ध के लिए युद्ध’ अभियान शुरू किया है.

Gujjar Reservation Movement: गुर्जर समाज को मनाने में जुटी गहलोत सरकार, की 3 बड़ी घोषणाएं



181 नंबर डायल कर मिलावट की सूचना दे सकते हैं
सीएम ने कहा कि कोई भी व्यक्ति खाद्य सामग्री में मिलावट की सूचना केन्द्रीयकृत हेल्पलाइन नम्बर-181 और जिला स्तर पर कलक्टर तथा संबंधित अधिकारियों को दे सकता है. उसकी पहचान गोपनीय रखी जाएगी. उन्होंने निर्देश दिए कि हमारी पिछली सरकार के समय मिलावट की जांच के लिए शुरू की गई मोबाइल लैब का उपयोग इस अभियान में प्रभावी रूप से किया जाए.

मेडिकल इंफ्रास्ट्रक्चर को मजबूत बनायें
गहलोत मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में कोरोना के कुशल प्रबंधन के कारण विगत दिनों में पॉजिटिव केसों की संख्या एवं मृत्यु दर में कमी आई है. इन प्रयासों को लगातार जारी रखा जाए. साथ ही आगामी दिनों में संक्रमण बढ़ने की आशंका को देखते हुए मेडिकल इंफ्रास्ट्रक्चर को लगातार मजबूत बनाएं. उन्होंने आमजन से अपील की है कि आतिशबाजी से निकले धुएं के कारण कोविड मरीजों एवं हृदय और श्वास रोग के रोगियों को तकलीफ का सामना करना पड़ता है. लिहाजा दीवाली के अवसर पर लोग आतिशबाजी से बचें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज