सीएम गहलोत ने बंगाल और जीएनसीटीडी एक्ट पर भाजपा को घेरा, ये लगाए गंभीर आरोप

सीएम गहलोत का भाजपा पर निशाना, कहा- बंगाल की जनता भाजपा को सत्ता से दूर रखेगी.

सीएम गहलोत का भाजपा पर निशाना, कहा- बंगाल की जनता भाजपा को सत्ता से दूर रखेगी.

गहलोत ने ट्वीट और बयानों के जरिये भाजपा सरकार को आड़े हाथों लिया. पश्चिम बंगाल चुनाव पर ट्वीट कर गहलोत ने कहा कि भाजपा पश्चिम बंगाल में हर हाल में सत्ता पाना चाहती है. वह इसके लिए बड़े पैमाने पर पैसा खर्च कर रही है.

  • Share this:
जयपुर. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ( Ashok Gehlot) ने विभिन्न मुद्दों का जिक्र करते हुए केन्द्र सरकार ( Central Government) पर जमकर हमला बोला. गहलोत ने ट्वीट और बयानों के जरिये भाजपा सरकार को आड़े हाथों लिया. पश्चिम बंगाल चुनाव ( West Bengal Election) पर ट्वीट कर गहलोत ने कहा कि भाजपा पश्चिम बंगाल में हर हाल में सत्ता पाना चाहती है. वह इसके लिए बड़े पैमाने पर पैसा खर्च कर रही है. उन्होंने कहा कि बिना सिद्धान्तों की राजनीति करने वाली भाजपा को बंगाल की जनता करारा जवाब देगी. भाजपा को सत्ता से दूर रखेगी.

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि बंगाल की जनता भाजपा का खेल समझ चुकी है. बंगाल की जनता भाजपा की इस तरह की साम्प्रदायिक और भ्रष्ट राजनीतिक विचारधारा के साथ कभी नहीं जाएगी.

जीएनसीटीडी एक्ट लोकतंत्र की हत्या

जीएनसीटीडी एक्ट पर सीएम ने ट्वीट कर लोकतंत्र की हत्या बताया. गहलोत ने कहा कि दिल्ली सरकार के अधिकार कम करने के लिए यह कानून बनाया गया है. चुनी हुई सरकार की शक्ति खत्म करना लोकतंत्र की भावना के खिलाफ है. उन्होंने कहा कि मोदी सरकार देश को फासीवादी तरीके से चलाना चाहती है. चुनावों में हेराफेरी, निर्वाचित विधायकों की खरीद-फरोख्त और चुनी हुई सरकारों की शक्तियां खत्म करना भाजपा के शासन का तरीका है.
सीएम ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने पूर्व में ही फैसला देते हुए चुनी हुई सरकार को ही दिल्ली का असली मुखिया बताया था. उन्होंने कहा कि इस प्रकार तो आने वाले समय में मोदी सरकार किसी भी राज्य में चुनाव हारने पर ऐसे कानूनों के जरिए सरकार की शक्तियों को खत्म कर सकती है. तानाशाही निर्णय का विरोध होना चाहिए.

सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि मोदी सरकार के इस तानाशाही निर्णय का पार्टी लाइन से ऊपर उठकर राष्ट्रीय स्तर पर विरोध होना चाहिए. उन्होंने कहा कि विपक्ष में होने के दौरान भाजपा दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देकर अधिक अधिकारों की मांग करती थी, लेकिन सत्ता में आने के बाद ऐसे कानून लेकर आई है. गहलोत ने कहा कि प्रधानमंत्री सहकारी संघवाद की वकालत करते हैं, लेकिन ऐसे कानून बनाकर राज्य सरकारों पर केन्द्र के फैसले थोपना चाहते हैं. उधर चिकित्सा शिक्षा विभाग से जुड़े कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए सीएम ने कहा कि सरकार की आलोचना करने वालों को देशद्रोही कहा जा रहा है. निर्वाचन आयोग, सीबीआई और ईडी जैसी संस्थाओं का दुरुपयोग हो रहा है और राष्ट्र के सामने बड़ी चुनौतियां हैं,  जिस पर जनता को सोचना पड़ेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज