होम /न्यूज /राजस्थान /गहलोत समर्थक शांति धारीवाल बोले- राजस्थान में पंजाब रिटर्न्स की स्क्रिप्ट, दिव्या मदेरणा ने भी तोड़ी चुप्पी

गहलोत समर्थक शांति धारीवाल बोले- राजस्थान में पंजाब रिटर्न्स की स्क्रिप्ट, दिव्या मदेरणा ने भी तोड़ी चुप्पी

Rajasthan Crisis News: गहलोत शांति धारीवाल कांग्रेस आलाकमान पर बरसे...

Rajasthan Crisis News: गहलोत शांति धारीवाल कांग्रेस आलाकमान पर बरसे...

Rajasthan Political Crisis: राजस्थान में जारी सियासी उठापटक के बीच सीएम अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) के समर्थक व संसदीय का ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

हाइलाइट्स

संसदीय कार्यमंत्री शांति धारीवाल कांग्रेस ने आलाकमान की हैसियत पर उठाए सवाल
धारीवाल ने कहा- राजस्थान में पंजाब रिटर्न्स की स्क्रिप्ट रच रहे षड्यंत्रकारी

जयपुर. राजस्थान में सियासी घटनाक्रम तेजी से बदल रहा है. विधायक दल की बैठक के लिए जयपुर आए पार्टी पर्यवेक्षक अजय माकन (Ajay Maken)  सीएम अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) से मुलाकात किए बिना दिल्ली लौट गए हैं. माकन ने कहा कि विधायकों का एक समूह सशर्त प्रस्‍ताव पारित कराने पर जोर दे रहा था, जिसे उन्‍होंने स्वीकार नहीं किया. वहीं, मल्लिकार्जुन ने कहा कि पार्टी के भीतर अनुशासन होना चाहिए. कल जो हुआ उसके बारे में हमने कांग्रेस अध्यक्ष को सूचित कर दिया है. इस बीच, गहलोत समर्थक व संसदीय कार्यमंत्री शांति धारीवाल ने कांग्रेस आलाकमान की हैसियत पर सवाल उठाए हैं. उन्होंने कहा, ‘आलाकमान कुछ नहीं, यह तो बताते ही रहते हैं.’ धारीवाल ने विधायकों की अपने घर पर रविवार को हुई बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि राजस्थान में पंजाब रिटर्न्स की स्क्रिप्ट षड्यंत्रकारी रच रहे हैं. धारीवाल ने विधायकों से कहा कि सीएम अशोक गहलोत हटे तो सरकार रिपीट नहीं होंगी.

दरअसल, कांग्रेस विधायक दल की बैठक रविवार रात को मुख्‍यमंत्री आवास पर होनी थी, लेकिन गहलोत के वफादार कई विधायक बैठक में नहीं आए. उन्होंने संसदीय कार्यमंत्री शांति धारीवाल के बंगले पर बैठक की और फिर वहां से वे विधानसभा अध्‍यक्ष डॉ. सीपी जोशी से मिलने गए.

कांग्रेस के सियासी संकट पर कुछ अन्य विधायकों की प्रतिक्रियाएं भी सामने आई हैं. कांग्रेस विधायक इंदिरा मीणा ने कहा, ‘कांग्रेस पार्टी का जो निर्णय होगा, हम उसमें शामिल हैं. अगर सचिन पायलट मुख्यमंत्री बनते हैं तो हमारे लिए अच्छा है. मैं धारीवाल के घर नहीं गई थी. अभी हमें कुछ भी समझ नहीं आ रहा है कि कौन क्या कर रहा है. मैं हाईकमान से यही कहना चाहूंगी कि पहले गेहलोत को मुख्यमंत्री बनाया, तब हम उनके साथ थे. आज अगर पायलट को मुख्यमंत्री बनाते हैं तो हम उनके साथ हैं. हमारा किसी से कोई भी विरोध नहीं है.’

सचिन पायलट के CM बनने की राह में 90 विधायकों ने कैसे और क्यों अटकाया रोड़ा? पढ़ें इनसाइड स्टोरी

कांग्रेस की तेज-तर्रार विधायक दिव्या मदेरणा ने राजस्थान में जारी सियासी संकट पर कहा, ‘मुझे हर विधायक की तरह सुचना थी की विधायक दल की बैठक है. क्या विषय है, मुझे नहीं बताया गया था. मैं मदेरणा की पोती हूं जो कांग्रेस अध्यक्ष का फैसला होगा, वही अंतिम फैसला होगा. विधायक दल की बैठक में ना आना अनुशासनहीनता है. हम अपनी व्यक्ति राय दें और आलाकमान जो कहेगा, वो मानेंगे, ये दोनों बाते एकसाथ नहीं हो सकती. जहां-जहां आधिकारिक विधायक दल की बैठक होगी, मैं वहां जाऊंगी. अगर मानेसर में होती ऑफिशयली बैठक, तो मैं वहां भी जाती. मैं कांग्रेस की सच्ची सिपाही हूं. कांग्रेस के प्रति निष्ठावान हूं.’

Tags: Ashok gehlot, Rajasthan Crisis, Rajasthan news, Sachin pilot

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें