अपना शहर चुनें

States

राजस्थान: कंगाल शहरी निकायों में जान फूंकने गहलोत सरकार का नया फॉर्मूला, फिर एक्टिव होगा RUDF

नगरीय निकायों का आर्थिक स्थित सुधारने गहलोत सरकार का बड़ा फैसला.
नगरीय निकायों का आर्थिक स्थित सुधारने गहलोत सरकार का बड़ा फैसला.

Jaipur News: राजस्थान के निकायों की आर्थिक स्थिति को सुधारने के लिए अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) सरकार ने राजस्थान अरबन डवलपमेंट फण्ड (RUDF) को फिर से शुरू करने का फैसला किया है. 

  • Share this:
जयपुर. राजस्थान में कंगाली की मार झेल रहे शहरी निकायों की जनता के लिए गुड न्यूज आई है. राजस्थान (Rajasthan) के निकायों की आर्थिक स्थिति को सुधारने की दिशा में अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) सरकार ने बड़ा फैसला लिया है. राजस्थान की सरकार सूबे के नगरीय निकायों की आर्थिक स्थिति को सुदृढ़ करने के लिए राजस्थान अरबन डवलपमेंट फण्ड (आरयूडीएफ) को पुर्नजीवित करेगी. इस फंड के माध्यम से निकायों को उनकी जरूरत के अनुसार सरकार के निर्णय पर फंड दिया जाएगा जिससे जनता से जुड़े विकास कार्य रफ्तार पकड़ सकेंगे.

फंड मिलने से नए विकास कार्य शुरू हो सकेंगे. वहीं अटके विकास कार्य भी पुरे हो सकेंगे. सरकार ने यह बड़ा फैसला यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में लिया. धारीवाल ने राजस्थान शहरी पेय जल सीवरेज और इंफ्रास्ट्रक्चर निगम लिमिटेड (रूडसिको) के बोर्ड के निदेशक मण्डल की 50वीं बैठक में भाग लिया और राज्य के कई शहरों को नए विकास कार्य करवाने की भी मंजूरी दी गई.

ये भी पढ़ें: PHOTOS: वाराणसी के युवा वैज्ञानिक ने बनाया खास जूता, आहट सुनकर बरसा सकता है गोलियां



भाजपा सरकार ने बंद कर दिया था आरयूडीएफ-धारीवाल
राजस्थान के नगरीय विकास, आवासन एवं स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल ने बताया कि प्रदेश के नगरीय निकायों की आर्थिक स्थिति को मजबूत करने के लिए राजस्थान अरबन डवलपमेंट फण्ड (आरयूडीएफ) को पुर्नजीवित करने के निर्देश दिए गए है. धारीवाल ने बताया कि राज्य की पूर्व भाजपा सरकार द्वारा राजस्थान अरबन डवलपमेंट फण्ड (आरयूडीएफ) फण्ड पर रोक लगा दी गई थी. इस फण्ड के माध्यम से राज्य की कमजोर नगरीय निकायों को उनके आधारभूत ढ़ाचे को मजबूत करने में करने के लिए ऋण के रूप में मदद दी जाती थी. इस फण्ड के पुर्नजीवित होने से नगरीय निकायों की आर्थिक स्थिति सुदृढ़ होगी एवं उनका आधारभूत ढ़ांचा मजबूत हो सकेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज