Rajasthan: विधानसभा का 5वां सत्र आज से, बहस के बाद फ्लोर टेस्‍ट कराने की संभावना
Jaipur News in Hindi

Rajasthan: विधानसभा का 5वां सत्र आज से, बहस के बाद फ्लोर टेस्‍ट कराने की संभावना
विधानसभा के इस सत्र में बीजेपी कांग्रेस को घेरने का पुरजोर प्रयास करेगी.

शुक्रवार से शुरू हो रहे विधानसभा सत्र (Assembly Session) में राजनीति के कई रंग देखने को मिल सकते हैं. एक महीने के सियासी संकट के बाद आयोजित हो रहे इस सत्र में राजनीतिक मजबूरियों की एकजुटता देखने को मिलेगी.

  • Share this:
जयपुर. राजस्थान की राजनीति के लिये शुक्रवार का दिन काफी अहम है. प्रदेश में करीब एक महीने से ज्यादा लंबे समय तक चले सियासी बवाल (Political crisis) के बाद शुक्रवार से विधानसभा का विशेष सत्र (Assembly session) शुरू होने जा रहा है. विधानसभा का यह सत्र काफी अहम और हंगामेदार होने की संभावना है. राजनीतिक कयासों से परे हुए घटनाक्रम के बाद हो रहे इस सत्र में 'विश्वास प्रस्ताव' और 'अविश्वास प्रस्ताव' दोनों ही लाये जायेंगे.

फ्लोर टेस्ट भी हो सकता है
15वीं विधानसभा का पांचवा सत्र सुबह 11 बजे शुरू होगा. सत्र की कार्रवाई शुरू होते ही स्पीकर 'विश्वास मत प्रस्ताव' और 'अविश्वास प्रस्ताव' पर व्यवस्था दे सकते हैं. संभावना जताई जा रही है कि सदन में विश्वास प्रस्ताव पर बहस के बाद फ्लोर टेस्ट भी हो सकता है. विधानसभा सत्र में शुक्रवार को आठ अध्यादेश और कोरोना संकट पर चर्चा होगी. लंबे सियासी दावपेंच के बाद शुरू हो रहे इस सत्र में कोविड-19 की गाइडलाइन का भी पालन किया जाएगा. इसके लिये विशेष तैयारियां की गई हैं. सोशल डिस्टेसिंग समेत कोविड-19 से जुड़े सभी पहलुओं का खास ध्यान रखा जायेगा.

इसके लिये सत्ता पक्ष और विपक्ष दोनों ने जबर्दस्त तैयारियां कर रखी हैं. विधानसभा का सत्र का काफी अलग अंदाज में होने की संभावना है. इसमें बगावत की टीस, एक दूसरे के प्रति अविश्वास और राजनीतिक मजबूरियों के बावजूद दोनों दलों में एकजुटता देखने का मिल सकती है.
Rajasthan LIVE Updates: BJP भी 'अविश्वास प्रस्ताव' के जरिये अपने MLAs की वफादारी परखेगी



Rajasthan: अशोक गहलोत और वसुंधरा राजे रहे पूरे पॉलिटिकल ड्रामे के विजेता

दोनों पार्टियां बना चुकी हैं अपनी-अपनी रणनीति
सत्र से पहले कांग्रेस और बीजेपी दोनों ने गुरुवार को बैठक कर अपनी-अपनी रणनीति बनाई. कांग्रेस ने सत्ता के लिये हुए संग्राम के बाद सीएम अशोक गहलोत और सचिन पायलट खेमे को एक करके एकजुटता का परिचय दिया है. दोनों खेमे गिले शिकवे भुलाकर विधानसभा में अपनी एकजुटता और ताकत का प्रदर्शन करेंगे. गहलोत और पायलट खेमे के बीच चले सियासी खेल में अपने हाथ कुछ भी आते नहीं देखकर बीजेपी ने अब सरकार को विधानसभा में घेरने की रणनीति बनाई है. सरकार के विश्वास मत प्रस्ताव की काट के लिये विपक्षी पार्टी बीजेपी ने अविश्वास प्रस्ताव का ऐलान कर रखा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज