Assembly Banner 2021

Rajasthan: बजट बहस पर विधानसभा में गहलोत का रिप्लाई, बोले- सीएम बनने के लिए वैल्यू बेस राजनीति करनी पड़ती है

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना काल में जब देश-दुनिया परेशान थे तब हमने शानदार प्रबंधन किया.

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना काल में जब देश-दुनिया परेशान थे तब हमने शानदार प्रबंधन किया.

Rajasthan Assembly Budget Session: विधानसभा में बजट बहस (Budget debate) का जवाब देते हुये सीएम अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने बीजेपी और केन्द्र सरकार को जमकर घेरा. सीएम ने बीजेपी पर तंज कसते हुये कहा कि आप किसानों को आंदोलनजीवी कहते हैं, लेकिन हम आपको चिंरजीवी कहेंगे.

  • Share this:
जयपुर. सीएम अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने गुरुवार को विधानसभा में बजट बहस (Budget debate) का जवाब दिया. अपने जवाब में सीएम ने कई स्थानों के लिए महत्वपूर्ण घोषणाएं की. वहीं सीएम ने जीएसटी, किसान आन्दोलन, नोटबंदी और पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के साथ ही हॉर्स ट्रेडिंग जैसे मामलों को लेकर विपक्ष पर जमकर निशाने साधे. सीएम ने कहा कि विपक्ष हमें हिटलरशाही कहता है लेकिन देखें कि हकीकत में हिटलरशाही राजस्थान में चल रही है या दिल्ली में.

उन्होंने कहा कि इनकम टैक्स, ईडी, सीबीआई, इलेक्शन कमीशन और ज्यूडिशरी जैसी संस्थाओं का दुरुपयोग किया जा रहा है. वहीं सीएम बनने के सपने देख रहे बीजेपी नेताओं पर तंज कसते हुए गहलोत ने कहा कि सीएम बनने के लिए वैल्यू बेस राजनीति करनी पड़ती है. सीएम ने बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष एवं आमेर विधायक सतीश पूनिया को चिरंजीवी कहते हुए निशाना साधा कि आप लोग किसानों को आन्दोलनजीवी कहते हो लेकिन हम आपको चिंरजीवी कहेंगे और आपको आगे बढ़ने की शुभकामना देते हैं. उधर सीएम ने बजट को लेकर विपक्ष की चिन्ता पर कहा कि जो चिन्ता सरकार को करनी चाहिए वो विपक्ष कर रहा है. उन्होंने आश्वस्त किया कि हमने पहले भी बजट घोषणाओं को क्रियान्वित करके दिखाया और इस बार भी दिखाएंगे.

केन्द्र अपने हिस्से का पैसा नहीं दे रहा है
मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना काल में जब देश-दुनिया परेशान थे तब हमने शानदार प्रबंधन किया. उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार ने स्कीमों की धज्जियां उड़ा दी है और अपने हिस्से का पैसा नहीं दे रहा है. उन्होंने केन्द्र के रवैये को अफसोसजनक बताते हुए कहा कि हम केन्द्र से अपना अधिकार मांग रहे हैं. गहलोत ने कहा कि पिछले साल 2 लाख 25 हजार 764 करोड़ का बजट था. अब 2 लाख 50 हजार से ज्यादा का बजट पेश किया है. बीजेपी सरकार से मिले घाटे को कम किया है. सरकार को बीजेपी के बनाए हालात को ठीक करने के लिए मशक्कत करनी पड़ रही है. वहीं पेट्रोल डीजल के बढ़ते दामों को लेकर सीएम ने कहा कि एक्साइज ड्यूटी केन्द्र बढ़ाता है और बदनाम राज्य सरकार होती है. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने दो फीसदी वैट कम किया. वहीं सीएम ने कहा कि केन्द्रीय करों को लेकर केन्द्र ने पहले ही कह दिया कि 12 हजार की कटौती होगी. उन्होने आशंका जताई की पता नहीं जीएसटी का क्या होगा.
कटारिया से बोले गहलोत,आपने पूर्वाग्रह से ग्रसित होकर बोला


नेता प्रतिपक्ष गुलाबचन्द कटारिया पर पलटवार करते हुए कहा कि आपको केवल बोलना था और अटैक करना था. लेकिन आपने पूर्वाग्रह से ग्रसित होकर बोला. यदि आप कमियां बताते तो खुशी होती. उधर दिवंगत विधायकों के नाम पर कॉलेज खोलने के मामले में सीएम ने नेता प्रतिपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि आपने किरण माहेश्वरी के नाम से कॉलेज खोलने पर भी ऑब्जेक्शन कर दिया जबकि वो अब इस दुनिया में नहीं हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज