Home /News /rajasthan /

सरकारी मुलाजिमों ने बढ़ाईं सरकार की मुश्किलें, डेढ़ दर्जन से ज्यादा संगठन सड़कों पर

सरकारी मुलाजिमों ने बढ़ाईं सरकार की मुश्किलें, डेढ़ दर्जन से ज्यादा संगठन सड़कों पर

राजधानी जयपुर में धरना प्रदर्शन करते कर्मचारी। फोटो: न्यूज18 राजस्थान

राजधानी जयपुर में धरना प्रदर्शन करते कर्मचारी। फोटो: न्यूज18 राजस्थान

चुनावी साल में सरकारी मुलाजिमों ने सरकार की मुसीबतें बढ़ा दी हैं. विधानसभा चुनाव से ठीक पहले अधिकारियों-कर्मचारियों के अलग-अलग संगठनों ने सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है.

    चुनावी साल में सरकारी मुलाजिमों ने सरकार की जबरदस्त तरीके से मुसीबतें बढ़ा दी हैं. विधानसभा चुनाव से ठीक पहले अधिकारियों-कर्मचारियों के अलग-अलग संगठनों ने सरकार के खिलाफ अपना मोर्चा खोल दिया है. कुछ संगठन जहां शक्ति प्रदर्शन के जरिए सरकार को झुकाने की कवायद में जुटे हैं, वहीं कुछ हड़ताल की चेतावनी के जरिए सरकार पर दबाव बनाने की कोशिशें कर रहे हैं.

    विधानसभा चुनाव करीब आते ही प्रदेश में धरने, प्रदर्शन और रैलियों की बाढ़ सी आ गई है. खास तौर से कर्मचारी संगठन अपनी मांगों को मनवाने के लिए चुनावी साल में हड़ताल को अपना हथियार बना रहे हैं. चुनाव सिर पर हैं. ऐसे में सरकारी अधिकारियों-कर्मचारियों के डेढ़ दर्जन से ज्यादा संगठन ऐसे हैं जिन्होंने अपनी मांगों को लेकर या तो सरकार के खिलाफ ताल ठोक रखी है या फिर आन्दोलन की तैयारी में जुटे हैं.

    इन संगठनों ने खोल रखा है सरकार के खिलाफ मोर्चा

    संगठन - राजस्थान राज्य मंत्रालयिक कर्मचारी महासंघ.
    आन्दोलन - 20 सितम्बर से सामूहिक अवकाश लेकर जयपुर में महापड़ाव जारी.

    संगठन - राजस्थान पंचायतीराज सेवा परिषद् (विकास अधिकारी, पंचायत प्रसार अधिकारी, ग्राम विकास अधिकारी)
    आन्दोलन - 12 सितम्बर से सामूहिक अवकाश जारी. 2 अक्टूबर को देंगे सामूहिक इस्तीफे.

    संगठन - रोडवेज के श्रमिक संगठनों का संयुक्त मोर्चा.
    आन्दोलन - 17 सितम्बर से रोडवेज का चक्काजाम है.

    संगठन - जेसीटीएसएल एम्प्लॉइज यूनियन
    आन्दोलन - 17 सितम्बर से राजधानी जयपुर में लो फ्लोर बसों का चक्काजाम.

    संगठन - राजस्थान राजस्व सेवा परिषद् (पटवारी, गिरदावर, नायब तहसीलदार, तहसीलदार)
    आन्दोलन - 28 सितम्बर को लेंगे सामूहिक अवकाश. 1 अक्टूबर से अनिश्चितकालीन सामूहिक अवकाश की चेतावनी.

    संगठन - अखिल राज. राज्य कर्मचारी संयुक्त महासंघ (एकीकृत).
    आन्दोलन - मंगलवार को शहीद स्मारक पर दिया धरना.

    संगठन - राजस्थान प्रशासनिक सेवा परिषद्.
    आन्दोलन - आरएएस अधिकारियों के सामूहिक अवकाश पर जाने की चेतावनी.

    संगठन - राजस्थान राज्य अन्य प्रशासनिक सेवा परिसंघ (17 विभागों के अधिकारी शामिल)
    आन्दोलन - अनिश्चितकालीन सामूहिक अवकाश पर जाने की चेतावनी.

    संगठन - राजस्थान परिवहन निरीक्षक संघ.
    आन्दोलन - मंगलवार को सभी परिवहन निरीक्षक और उपनिरीक्षक सामूहिक अवकाश पर रहे.

    संगठन - यूनाइटेड फोरम ऑफ कोआपरेटिव बैंक यूनियन्स
    आन्दोलन - कार्यालय समय में किए जा रहे हैं प्रदर्शन. अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने की चेतावनी.

    संगठन - अखिल राजस्थान सेवारत चिकित्सक संघ
    आन्दोलन - 27 सितम्बर तक मांगें नहीं माने जाने पर अनिश्चितकालीन हड़ताल की चेतावनी.

    कई दूसरे संगठन भी कर रहे हैं तैयारी
    इनके साथ ही कई दूसरे संगठन भी हैं जिन्होंने हाल ही में सरकार के खिलाफ मोर्चा खोला है या फिर आन्दोलन की तैयारी कर रहे हैं. हाल ही में जहां बिजली कर्मचारियों के बड़े महापड़ाव ने सरकार की सांसें अटका दी थी तो न्यू पेंशन स्कीम के विरोध में हुई रैली में भी जयपुर में हजारों शिक्षक और कर्मचारी जुटे थे.

    ये भी पढ़ें- स्वाभिमान रैली: बीजेपी विधायक मानवेन्द्र सिंह का पचपदरा में शक्ति प्रदर्शन 

    मानवेन्द्र सिंह ने छोड़ी BJP, लड़ेंगे लोकसभा चुनाव, कहा-कमल का फूल, मेरी भूल

    Tags: Assembly Election 2018, Jaipur news, Rajasthan Assembly Election 2018, Rajasthan news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर