विधानसभा: स्पीकर डॉ. सीपी जोशी ने विपक्षी विधायकों को लगाई कड़ी फटकार, यह था मसला

स्पीकर के इस रवैये पर विपक्षी विधायकों ने बहिष्कार की चेतावनी दी और वेल में पहुंचकर विरोध जताने की कोशिश की.

मृतक किसानों के परिजनों को मुआवजे (Compensation) से जुड़े सवाल पर मंगलवार को विधानसभा (Assembly) में जमकर हंगामा हुआ. मसले को लेकर जहां पक्ष-विपक्ष में तीखी तकरार देखने को मिली वहीं स्पीकर (Speaker) का कड़ा रवैया भी सामने आया.

  • Share this:
जयपुर. मृतक किसानों के परिजनों को मुआवजे (Compensation) से जुड़े सवाल पर मंगलवार को विधानसभा (Assembly) में जमकर हंगामा हुआ. मसले को लेकर जहां पक्ष-विपक्ष में तीखी तकरार देखने को मिली वहीं स्पीकर (Speaker) का कड़ा रवैया भी सामने आया. स्पीकर के रवैये से विपक्षी विधायकों में नाराजगी (Resentment) देखी गई. बीजेपी विधायक मदन दिलावर ने सदन में मृतक किसानों के परिजनों के मुआवजे से जुड़ा सवाल उठाया था.

मंत्री शांति धारीवाल ने दिया सवाल का जवाब
प्रश्नकाल में उठाए गये इस सवाल को लेकर पक्ष-विपक्ष में जमकर तनातनी हुई. बीजेपी विधायकों के हंगामे पर स्पीकर डॉ. सीपी जोशी ने भी सख्त रवैया दिखाया. मंत्री शांति धारीवाल ने सवाल का जवाब देते हुए कहा कि कोटा संभाग में अक्टूबर 2019 से 18 फरवरी 2020 तक कुल 8 किसानों की मृत्यु हुई है. इसमें से किसी भी किसान की मौत रात में बिजली देने से फसल को पिलाई करते समय नहीं हुई. हालांकि उन्होंने कहा कि कंवरलाल नाम के एक किसान की मौत धनिया काटते समय ठंड के कारण तबीयत खराब होने से हुई.

स्पीकर ने ज्यादा प्रश्न पूछने की इजाजत नहीं दी
मंत्री के इस जवाब के बाद कि ठंड लगने से मृत्यु होने पर आर्थिक सहायता देने का प्रावधान नहीं है सदन में हंगामा हो गया और स्पीकर को कड़ा रुख अख्तियार करना पड़ा. मंत्री शांति धारीवाल के जवाब पर आसन से स्पीकर ने विपक्षी विधायकों को ज्यादा प्रश्न पूछने की इजाजत नहीं दी जिसका विपक्ष ने विरोध किया.

विधायकों ने वेल में पहुंचकर विरोध जताने की कोशिश की
स्पीकर डॉ. सीपी जोशी ने विपक्षी विधायकों को कड़ी फटकार लगाई और बीच में ना बोलने की हिदायत दी. स्पीकर के इस रवैये पर विपक्षी विधायकों ने बहिष्कार की चेतावनी दी और वेल में पहुंचकर विरोध जताने की कोशिश की. इस सबके बावजूद स्पीकर का रवैया नहीं बदला और उन्होंने विरोध कर रहे सभी विधायकों को बाहर जाने को कह दिया.

साबित करो, गलती मान लूंगा
मामले में सुलह हो जाने के बाद नेता प्रतिपक्ष गुलाबचन्द कटारिया ने अपनी बात रखी और कहा कि सर्दी से मौत पर भी 2 लाख रुपए के मुआवजे का कानूनी अधिकार है. उधर मंत्री शांति धारीवाल ने कहा कि राजीव गांधी कृषक साथी योजना के तहत दुर्घटना होने पर मुआवजे का प्रावधान है. धारीवाल ने कहा कि कोई ये साबित कर देता है कि सर्दी से मौत पर मुआवजा दिया जाता है तो वे अपनी गलती मान लेंगे.

विधायकों को बार-बार फटकार
नेता प्रतिपक्ष ने स्पीकर के रवैये पर नाराजगी जताते हुए कहा कि यह किसानों से जुड़ा महत्वपूर्ण प्रश्न है और इस पर आसन से इतनी नाराजगी उचित नहीं है. इस पर स्पीकर डॉ. सीपी जोशी ने कहा कि मैंने स्थगित प्रश्न को यथा स्थान पर लगवाया और यदि इसका उत्तर दिलवाने की मंशा नहीं होती तो ऐसा क्यों करता ?



ख्वाजा गरीब नवाज का उर्स: आज रात से होगा औपचारिक आगाज़, यह रहेगा पूरा शिड्यूल



NAGAUR VIRAL VIDEO CASE: विधानसभा में बरपा हंगामा, BJP-RLP ने किया वॉकआउट

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.