अपना शहर चुनें

States

Atmanirbhar Bharat Abhiyan: राजीविका से महिलायें कमा रही हैं हजारों रुपये, जानिये कैसे

इसमें महिलाओं की रुचि के अनुसार उन्हें काम सिखाया जाता है और फिर उन्हें बैंक के जरिए लोन दिलवाकर लघु उद्योग शुरू कराया जाता है.
इसमें महिलाओं की रुचि के अनुसार उन्हें काम सिखाया जाता है और फिर उन्हें बैंक के जरिए लोन दिलवाकर लघु उद्योग शुरू कराया जाता है.

Atmanirbhar Bharat Abhiyan: पीएम नरेन्द्र मोदी के इस अभियान से अब महिलायें (Women) भी जुड़ने लगी हैं. इस अभियान के जरिये वे प्रशिक्षण लेकर हजारों रुपये प्रतिमाह कमा रही हैं.

  • Share this:
जयपुर. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi) के आत्मनिर्भर भारत बनाने के अभियान से अब ग्रामीण महिलाएं भी जुड़ने लगी हैं. जयपुर से करीब 20 किलोमीटर दूर बगरू खुर्द गांव की महिलाओं ने साबित कर दिया कि उन्हें मौका मिले तो वो अपने परिवार को आर्थिक संबल (Financial strength) दे सकती हैं. इन महिलाओं ने राजस्थान ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत न सिर्फ खुद आत्मनिर्भर बनाया, बल्कि कोरोना काल में जब परिवार के सदस्यों की नौकरियां (Jobs) चली गई तो आगे बढ़कर परिवार को भी संभाला.

राजस्थान के गांवों में महिलाओं ने कोरोना पीरियड में न सिर्फ अपने कौशल में वृद्धि की बल्कि कमाई कर परिवार को आर्थिक संबल भी दिया है. कोरोना पीरियड में लाखों महिलाओं के लिए राजस्थान ग्रामीण आजीविका मिशन योजना (राजीविका) किसी वरदान से कम साबित नहीं हुई है. जब घर के मुखिया की नौकरी या व्यवसाय कोरोना की चपेट में आया तो आजिविका मिशन योजना के तहत महिलाओं ने घर परिवार को आर्थिक संबल दिया. ये महिलाएं स्वयं सहायता से जुड़कर पैसे कमा रही हैं. कोई गोबर के दीपक बना रही हैं तो कोई ब्ल्यू पॉटरी. कोई हैंडीक्राफ्ट के जरिए हस्तकला क्षेत्र में अपनी धाक जमा रही हैं.

Sawai Madhopur: युवक की गोली मारकर हत्या, आक्रोशित परिजन दिल्ली-मुंबई रेलवे ट्रैक पर बैठे

प्रदेश की 21 लाख महिलाएं जुड़ी हैं इससे


योजना के स्टेट डायरेक्टर शुचि त्यागी बताती हैं कि ग्रामीण आजीविका मिशन योजना में महिलाओं को समूह के रूप में जोड़ा जाता है. महिलाओं की रुचि के अनुसार उन्हें काम सिखाया जाता है और फिर उन्हें बैंक के जरिए लोन दिलवाकर लघु उद्योग शुरू कराया जाता है. शुचि बताती हैं कि इस योजना से प्रदेश की 21 लाख महिलाएं और 1 लाख 82 हजार स्वयं सहायता समूह जुड़े हुये हैं. इस योजना से जुड़ी महिलाओं को आर्थिक संबल तो मिलता ही है इसके साथ उनके आत्मविश्वास में भी वृद्धि होती है.

महिलाओं की 22 हजार से अधिक की कमाई हो रही है
राजस्थान में 22.5 हजार गांव की महिलाएं राजीविका से जुड़ी हैं. ये वो महिलाएं हैं जो कम पढ़ी-लिखी हैं. इनको आवश्यकता अनुसार जिस काम में इच्छुक हैं उसकी ट्रेनिंग दी जाती है. जयपुर के बगरू खुर्द में महिलाओं ने गोबर के दीपक बनाकर मोटी कमाई की. अब होली आएगी तो उसके हिसाब से सामान बनाया जाएगा. महिलाओं की 22 हजार प्रतिमाह से अधिक की कमाई हो रही है
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज