लाइव टीवी

लेटलतीफ अधिकारियों-कर्मचारियों के खिलाफ बड़ा एक्शन, 6000 की लगाई अनुपस्थिति

Prem Meena | News18 Rajasthan
Updated: October 12, 2019, 2:11 PM IST
लेटलतीफ अधिकारियों-कर्मचारियों के खिलाफ बड़ा एक्शन, 6000 की लगाई अनुपस्थिति
अधिकारियों और कर्मचारियों की कार्यप्रणाली से नाखुश मुख्यमंत्री अशोक गहलोत खुद कह चुके हैं सचिवालय के अधिकारी और कर्मचारी 6 बजने का इंतजार करते हैं. फाइल फोटो

प्रदेश की अशोक गहलोत सरकार (Ashok Gehlot Government) ने सरकारी कार्यप्रणाली (methodology) में पारदर्शिता (Transparency) लाने और अपने सुशासन के एजेंडे (Agenda) को जमीनी धरातल पर उतारने के लिए अधिकारियों और बाबुओं पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है.

  • Share this:
जयपुर. प्रदेश की अशोक गहलोत सरकार (Ashok Gehlot Government) ने सरकारी कार्यप्रणाली (methodology) में पारदर्शिता (Transparency) लाने और अपने सुशासन के एजेंडे (Agenda) को जमीनी धरातल पर उतारने के लिए अधिकारियों और बाबुओं पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है. प्रशासनिक सुधार विभाग (Administrative Reforms Department) की टीम के लगातार औचक निरीक्षणों (Surprise inspections) से दफ्तर लेट आने वाले सरकारी अधिकारियों (Government officials) और बाबुओं की सांसें फूलने लग गई हैं. राजधानी जयपुर (Jaipur) के बाद अब एआरडी प्रदेशभर में औचक निरीक्षण की कार्रवाई शुरू करेगा.

सचिवालय में 2700 अधिकारियों कर्मचारियों में से 2 हजार अनुपस्थित मिले
एआरडी गत 12 दिन में अलग-अलग महकमों का औचक निरीक्षण कर 1350 अधिकारियों समेत 6 हजार सरकारी बाबूओं की अनुपस्थिति लगा चुका है. एआरडी टीम ने औचक निरीक्षण शुरुआत सचिवालय में 30 सितंबर से की थी. एआरडी को प्रदेशवासियों के लिए नीति नियम और योजनाएं बनाने वाले शासन सचिवालय के कुल 2700 अधिकारियों कर्मचारियों में से औचक निरीक्षण में 2 हजार अनुपस्थित मिले थे.

सीएम अशोक गहलोत जता चुके हैं नाराजगी

सरकारी कार्यालयों में बाबूओं के लेट आने का खामियाजा आमजन को ही भुगतना पड़ता है. अधिकारियों और कर्मचारियों के समय पर दफ्तर नहीं आने से न तो फाइल क्लीयर हो पाती है और न ही आगे बढ़ पाती है. फाइल को क्लीयर होने में महीनों लग जाते हैं. अधिकारियों और कर्मचारियों की कार्यप्रणाली से नाखुश मुख्यमंत्री अशोक गहलोत खुद कह चुके हैं सचिवालय के अधिकारी और कर्मचारी 6 बजने का इंतजार करते हैं.

यहां देखें एआरडी टीम को जयपुर में अब तक कहां-कहां और कितने अधिकारी-कर्मचारी गैर हाजिर मिले

सचिवालय
Loading...

कुल कर्मचारी- 2700
अनुपस्थित मिले कर्मचारी अधिकारी - 2000
--------
स्वास्थ्य भवन
64 अफसर 630 कर्मचारी अनुपस्थित मिले
---------
उद्योग भवन
90 अफसर 360 कर्मचारी अनुपस्थित मिले
-------
खनिज भवन
35 अफसर 50 कर्मचारी अनुपस्थित मिले
----------
आरटीओ
250 अधिकारी-कर्मचारी अनुपस्थित मिले
-----------
पीडब्लयूडी
300 अधिकारी-कर्मचारी अनुपस्थित मिले
-------
वन भवन
150 अधिकारी-कर्मचारी अनुपस्थित मिले
-------
महिला एवं अधिकारिता विभाग
120 अधिकारी-कर्मचारी अनुपस्थित मिले

मकसद समय पर आने के लिए पाबंद करना है
प्रशासनिक सुधार विभाग के प्रमुख शासन सचिव आर. वेंकेटेश्वरन का कहना है कि हमार मकसद सिर्फ सरकारी कर्मचारियों को समय पर आने के लिए पाबंद करना है. जो कर्मचारी अधिकारी लेट आते हैं उन पर संबंधित विभाग के एचओडी को कार्रवाई करनी है. उन्होंने कहा कि औचक निरीक्षण पहले भी होते रहे हैं, लेकिन 2009 के बाद प्रशासनिक सुधार विभाग ने कोई औचक निरीक्षण नहीं किया.
कोई भी कर्मचारी-अधिकारी जो समय पर ऑफिस नहीं आते हैं तो उनकी अनुपस्थिति लगाई जाएगी.

बड़ी संख्या में कर्मचारी अनुपस्थित मिल रहे हैं
उल्लेखनीय है कि प्रशासनिक सुधार विभाग की टीम ने अपने ही विभाग के प्रमुख शासन सचिव आर. वेंकटेश्वरन की पत्नी के लेट आने पर उनकी भी अनुपस्थिति लगा दी थी. प्रशासनिक सुधार विभाग के सेक्शन ऑफिसर अनिल चतुर्वेदी का कहना है कि औचक निरीक्षण में बड़ी संख्या में कर्मचारी अनुपस्थित मिल रहे हैं.

1.25 लाख रुपए की रिश्वत लेते हुए जयपुर की कांग्रेस पार्षद सुमन गुर्जर गिरफ्तार

महिला कांग्रेस उपाध्यक्ष सुमन गुर्जर कांग्रेस से निष्कासित

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 12, 2019, 2:00 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...