लाइव टीवी

गहलोत सरकार बनाएगी महात्मा गांधी के सपनों के गांव, शहरों से बेहतर होंगी सुविधाएं

Babulal Dhayal | News18 Rajasthan
Updated: December 12, 2019, 7:56 PM IST
गहलोत सरकार बनाएगी महात्मा गांधी के सपनों के गांव, शहरों से बेहतर होंगी सुविधाएं
गांव को राष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाने के लिए गहलोत सरकार इसे मॉडल विलेज के रूप में विकसित करेगी.

अशोक गहलोत सरकार (Ashok Gehlot Government) प्रदेश के हर जिले में महात्मा गांधी के सपनों का गांव (Mahatma Gandhi's dream village) बनाएगी. जयपुर जिले में इसके लिए अवानिया गांव (Avania) को सरकार ने चुना है.

  • Share this:
जयपुर. अशोक गहलोत सरकार (Ashok Gehlot Government) प्रदेश के हर जिले में महात्मा गांधी के सपनों का गांव (Mahatma Gandhi's dream village) बनाएगी. जयपुर जिले में इसके लिए अवानिया गांव (Avania) को सरकार ने चुना है. वहां शहरों से बेहतर सुविधाएं (Better facilities) उपलब्ध कराई जाएगी. सरकार की कोशिश है कि ये गांव महात्मा गांधी के सपनों को हकीकत में बदलता नजर आए.

गांव आत्मनिर्भर होगा और लोग एक दूसरे मददगार होंगे
सरकार के आला अफसर जयपुर के सांगानेर इलाके के अवानिया गांव की सूरत बदलने में जुट गए हैं. वहां आत्मनिर्भरता होगी. लोग एक दूसरे मददगार होंगे. वहां परिश्रम की पूजा होगी और गांव से शहर की ओर पलायन गुजरे जमाने की बात होगी. जयपुर जिला परिषद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के इस सपने को पूरा करने के लिए कार्ययोजना बनाने में जुटी है.

सरकार एक वर्षीय और पंचवर्षीय कार्य योजना हाथ में लेगी

जयपुर जिला परिषद के सीईओ भारती दीक्षित के अनुसार सरकार गांव की शक्ल बदलने के लिए एक वर्षीय और पंचवर्षीय कार्य योजना हाथ में लेगी. गांव के लोगों की सरकार के कार्यों में 100 फीसदी भागीदारी तय की जाएगी. गांव के विकास में ग्रामीणों की भूमिका न सिर्फ विचारों की होगी बल्कि सैद्धान्तिक और क्रियान्वति के स्तर पर भी होगी. यहां होने वाले हर काम को लोग सरकारी नहीं बल्कि अपना काम समझेंगे. गांव की हर महिला को सेल्फ हेल्प ग्रुप से जोड़ा जाएगा.

गांव में ढांचागत सुविधाओं का सुदृढ़ीकरण किया जाएगासरकार गांव में गैर कृषि क्षेत्र को बढ़ावा देगी. सामाजिक एवं आर्थिक विकास को बढ़ावा देने के लिए बिजली, पेयजल, खेल मैदान, बैंक, मंडी और हाट बाजार के साथ जरूरी संसाधन सरकार उपलब्ध कराएगी. खुद का कारोबार करने वालों को सरकार लोन दिलवाएगी. ढांचागत सुविधाओं का सरकार सुदृढ़ीकरण करेगी. इसके लिए सरकार ने 17 सूत्री कार्यक्रम हाथ में लिए हैं.

गांव नशामुक्त होगा
गांव को नशा मुक्त बनाया जाएगा. तंबाकू और शराब से लेकर अन्य तरह के तमाम नशों से सभी ग्रामीणों को जागरूक किया जाएगा. गांव को राष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाने के लिए गहलोत सरकार इसे मॉडल विलेज के रूप में विकसित करेगी. हर महीने ग्रामीण सामूहिक श्रमदान करेंगे और स्वच्छता अभियान चलाएंगे. पेड़ पौधे लगाकर गांव की आबोहवा को और शुद्ध बनाने की कोशिश होगी.

भारत की आत्मा गांव में बसती है
गांधीजी ने भारत को गांवों का देश कहा था. गांधीजी कहते थे कि भारत की आत्मा गांव में बसती है. अब बरसों बाद जब गांव गांव जैसे ही नहीं रहे तो गहलोत सरकार ने गांधीजी को 150वीं जयंती पर उनके सपनों के गांव को हकीकत में बदलने का बीड़ा उठाया है.

गहलोत सरकार का बेरोजगार के लिए तोहफा, GNM और ANM के 11233 पद फिर किए सृजित

गहलोत सरकार का बड़ा कदम: शवों पर नहीं की जा सकेगी राजनीति, चलेगा कानून का डंडा 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 12, 2019, 11:34 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर