• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • राजस्थान के चार संभागों में इस सीजन की सबसे अच्छी बारिश, बरसाती नदियां उफनीं

राजस्थान के चार संभागों में इस सीजन की सबसे अच्छी बारिश, बरसाती नदियां उफनीं

नागौर में तेज बारिश के कारण 9 ट्रेनों का रूट बदला

नागौर में तेज बारिश के कारण 9 ट्रेनों का रूट बदला

Rainy rivers overflow : प्रदेश में शुक्रवार रात से ही सावन की झड़ी लगी हुई है. जो शनिवार को 14 घंटे तक रुक—रुककर जारी रही. इसके चलते बरसाती नदियां, नाले उफान मारने लगे. जोधपुर में गुढ़ा—गोविंदी मारवाड़ स्टेशन के बीच पानी के तेज बहाव से अंडर ब्रिज पर पटरी बह गई. झालावाड़ में कालीसिंध नदी के बहाव के कारण पेयजल पाइप लाइन ही क्षतिग्रस्त हो गई.

  • Share this:

    जयपुर. राजस्थान में सावन में मानसून मेहरबान है. शनिवार को कोटा, अजमेर, भरतपुर, जोधपुर संभागों में जमकर बारिश हुई. कई जगह शुक्रवार रात से ही सावन की झड़ी लगी हुई है. इसके चलते बरसाती नदियां, नाले उफान मारने लगे. नागौर जिले में गुढ़ा—गोविंदी मारवाड़ स्टेशन के बीच पानी के तेज बहाव से अंडर ब्रिज पर पटरी बह गई. झालावाड़ में कालीसिंध नदी के बहाव के कारण पेयजल पाइप लाइन ही क्षतिग्रस्त हो गई. इसके लिए मुंबई से एक्सपर्ट टीम को बुलाया गया है.

    जयपुर जिले के चाकसू में भाऊ बांध बरसात अधिक होने से टूट गया है. राजधानी जयपुर में शुक्रवार रात शुरू हुई बारिश का दौर रुक-रुककर 14 घंटे से जारी है. जयपुर में आज इस मानसून सीजन की सबसे ज्यादा बारिश दर्ज हुई। अब तक चार इंच से ज्यादा बारिश हो चुकी है.

    प्रदेश के चार संभागों में जमकर बारिश
    प्रदेश के सात में से चार संभागों में जमकर बारिश हो रही है. कोटा, अजमेर, भरतपुर, जोधपुर संभागों में बारिश के कारण जन—जीवन अस्त—व्यस्त हो रहा है. बरसाती नदिया उभान पर हैं. कालीसिंध नदी के बहाव के कारण झालावाड़ में पेयजल पाइप लाइन ही क्षतिग्रस्त हो गई. पेयजल लाइन को दुरुस्त करने के लिए प्रभारी मुख्य अभियंता सीएम चौहान मौके पर पहुंचे. मौका मुआयना के बाद तय हुआ कि मुंबई से एक्सपर्ट की टीम को बुलाया जाएगा. ताकि कालीसिंध नदी में बिछी पाइप लाइन का रिप्लेसमेंट किया जा सके.

    इस सीजन की एक दिन में सबसे ज्यादा बारिश
    शुक्रवार रात से शुरू हुई बारिश शनिवार को भी रुक—रुककर जारी रही. कोटा, नागौर, सवाई माधोपुर, अलवर, बारां, भरतपुर, दौसा, जयपुर, झुंझुनूं, करौली, और टोंक में अच्छी बारिश हुई. राजस्थान में इस सीजन की एक दिन में दर्ज बारिश में सबसे ज्यादा मानी जा रही है. भारी बारिश के कारण यहां कई बरसाती नदियों उफान मारकर बहने लगीं, जिससे कई छोटे-छोटे गांवों का संपर्क शहर और मुख्य मार्गों से कट गया.

    नागौर में तेज बारिश से ट्रेन का रूट बदला
    नागौर जिले में तेज बारिश के बाद जोधपुर मंडल के गुढ़ा-गोविंदी मारवाड़ स्टेशन के बीच रोड अंडरब्रिज पर पटरी के नीचे बड़ा कटाव हो गया, जिससे रेल यातायात ठप हो गया. बारां जिले के शाहाबाद में सबसे ज्यादा 12 इंच पानी बरसा, जिससे कई बरसाती नदियां, नाले उफान मारने लगे. नागौर में तेज बारिश के कारण जयपुर-जोधपुर लाइन पर चलनी वाली 9 ट्रेनों को अजमेर, चूरू होकर संचालित किया गया.

    राजधानी जयपुर और ग्रामीण क्षेत्रों में बारिश
    जयपुर शहर के अलावा ग्रामीण इलाके चाकसू, नरैणा, मौजमाबाद, सांभर, दूदू, फागी और फुलेरा एरिया में 90 एमएम से ज्यादा पानी बरसा. जयपुर शहर की बात करें तो यहां 85 एमएम बारिश दर्ज हुई, जो इस सीजन में सबसे ज्यादा है. जयपुर में बारिश के बाद मौसम सुहावना हो गया. जयपुर के चाकसू 178, नरैणा 175 एमएम बारिश दर्ज की गई.

    प्रदेश में इन स्थानों पर मेघ रहे मेहरबान
    मौसम विभाग और जल संसाधन विभाग से मिले आंकड़ों के अनुसार अलवर के लक्ष्मणगढ़ में 66, चिड़ावा में 85, खेतरी में 68, झुंझुनूं में 67, कोटा के खातौली में 151, पिपल्दा में 105, डीडवाना में 158, कुचामन सिटी में 94, नावां में 90, लाडनू में 65, चूरू के सुजानगढ़ में 101, बारां के उम्मेदसागर 95, भरतपुर के नगर में 98, कुम्हेर 77, मौजमाबाद 172, छापरवाड़ा 158, सांभर 150 एमएम बारिश दर्ज हुई है।

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज