Home /News /rajasthan /

bhim army chief chandra shekhar arrested in jaipur sent to jail know what is the reason check details rjsr

राजस्थान: भीम आर्मी चीफ चन्द्रशेखर जयपुर में गिरफ्तार, जेल भेजा, जानिये क्या है वजह

भीम आर्मी चीफ चन्द्रशेखर को दो दिन के लिये जेल भेजा गया है.

भीम आर्मी चीफ चन्द्रशेखर को दो दिन के लिये जेल भेजा गया है.

भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर काे जयपुर में गिरफ्तार कर जेल भेजा: कोविड स्वास्थ्य सहायकों के आंदोलन में शामिल होने के लिये जयपुर आये भीम आर्मी चीफ चन्द्रशेखर (Bhim Army Chief Chandra shekhar) काे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया. जयपुर पुलिस ने उदयपुर मर्डर केस के कारण राजस्थान में लगी हुई धारा-144 के मद्देनजर शांतिभंग की आशंका के चलते उनको गिरफ्तार किया था. चंद्रशेखर को जयपुर में होटल से गिरफ्तार किया गया था.

अधिक पढ़ें ...

जयपुर. भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर (Bhim Army Chief Chandra shekhar) को जयपुर आने पर गिरफ्तार कर लिया गया. चन्द्रशेखर राजस्थान में चल कोविड स्वास्थ्य सहायकों के आंदोलन में शामिल होने के लिये जयपुर आये थे. लेकिन राजस्थान में उदयपुर मर्डर केस (Udaipur Murder Case) के कारण लगी हुई धारा-144 के मद्देनजर शांतिभंग की आशंका को देखते हुये जयपुर पुलिस ने चन्द्रशेखर को गिरफ्तार कर लिया. बाद में उन्हें दो दिन के लिये जेल भेज दिया गया. जयपुर में कोविड स्वास्थ्य सहायकों का करीब तीन महीने से ज्यादा समय से आंदोलन चल रहा है.

पुलिस के अनुसार भीम आर्मी चीफ चन्द्रशेखर कोविड स्वास्थ्य सहायकों के धरने में शामिल होने के लिये 1 जुलाई की रात को जयपुर आये थे. कोविड स्वास्थ्य सहायकों ने 2 जुलाई को बड़े प्रदर्शन का ऐलान कर रखा था. चन्द्रशेखर उसी में शामिल होने के लिये आये थे. लेकिन चन्द्रशेखर के आने की पुलिस को जैसे ही सूचना मिली तो उनको गिरफ्तार कर लिया गया. चन्द्रशेखर जयपुर में एक होटल में ठहरे हुये थे. उसके बाद 2 जुलाई को चन्द्रशेखर को मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया गया. वहां से चन्द्रशेखर को दो दिन के लिये जेल भेज दिया गया.

सरकार ने कोविड स्वास्थ्य सहायकों की सेवायें समाप्त कर दी थी
उल्लेखनीय है कि राजस्थान सरकार ने कोविड काल में कोविड स्वास्थ्य सहायकों की भर्ती की थी. इनकी संख्या करीब 28000 है. उसके बाद राज्य सरकार ने बीते 31 मार्च को इन सभी कोविड स्वास्थ्य सहायकों की सेवायें समाप्त कर दी थी. इस पर ये कोविड स्वास्थ्य सहायक खुद को संविदा कैडर में शामिल किये जाने की मांग को लेकर आंदोलन पर उतर आये. उन्होंने जयपुर में शहीद स्मारक पर धरना शुरू कर दिया. कोविड स्वास्थ्य सहायकों का यह धरना 92 दिन तक चला.

पुलिस ने 30 जून को उनका धरना भी उठा दिया था
इस बीच उनकी सरकार से कई दौर की वार्तायें हो चुकी हैं लेकिन वे सब बेनतीजा रही. इस बीच हाल ही में हुये उदयपुर मर्डर केस के बाद प्रदेशभर में लगाई गई धारा-144 के बाद पुलिस ने बीते 30 जून को उनका धरना भी उठा दिया था. कोविड स्वास्थ्य सहायकों का यह धरना प्रदेशभर में काफी चर्चा का विषय भी बना हुआ है. वे अपनी मांगों को लेकर अड़े हुये हैं.

Tags: Chandrashekhar Azad, Crime News, Jaipur news, Rajasthan news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर