कोरोना से जुड़ी बड़ी खबर: रेमडेसिविर इंजेक्शन को लेकर गहलोत सरकार का बड़ा फैसला, जानें क्या है नियम

सीएम अशोक गहलोत ने सभी से कोरोना प्रोटोकॉल की पालना की अपील की है. इसके बाद भी अगर लोग नहीं माने तो राज्य सरकार इससे भी ज्यादा कड़े कदम उठायेगी.

सीएम अशोक गहलोत ने सभी से कोरोना प्रोटोकॉल की पालना की अपील की है. इसके बाद भी अगर लोग नहीं माने तो राज्य सरकार इससे भी ज्यादा कड़े कदम उठायेगी.

Gehlot government's big decision: राजस्थान में रेमडेसिविर इंजेक्शन की उपलब्धता के बारे में कोई जानकारी चाहिए तो राज्य के सहायक औषधि नियंत्रक एवं औषधि नियंत्रण अधिकारी से प्राप्त की जा सकती है.

  • Share this:
जयपुर. कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर में बुरी तरह से जकड़े जा चुके राजस्थान में गहलोत सरकार ने रेमडेसिविर इंजेक्शन (Remdesivir injection) को लेकर बड़ा फैसला किया है. इस फैसले के मुताबिक रेमडेसिविर इंजेक्शन अब 'ओवर द काउंटर’ बेचा नहीं जाएगा. इसका सिर्फ सरकारी और सरकार से मान्यता प्राप्त अस्पतालों में ही इस्तेमाल हो सकेगा. निजी अस्पताल इसका सिर्फ दो दिन का ही स्टॉक रख सकेंगे.

कोरोना उपचार के लिए कारगर बताये जा रहे Remdesivir और Tocilizumab इंजेक्शन उपलब्ध करवाने की सरकार ने प्रक्रिया तय कर दी है. निजी चिकित्सालयों को अपनी मांग निर्धारित सूचना के साथ सीएमएचओ एवं औषधि नियंत्रक को भेजनी होगी. जयपुर के जिला कलक्टर अंतर सिंह नेहरा ने बताया कि कोरोना महामारी उपचार में कारगर बताये जा रहे Remdesivir और Tocilizumab इंजेक्शन की कालाबाजारी को रोकने और जरूरतमंद निजी चिकित्सा संस्थानों को दवा उपलब्ध कराए जाने के लिए तात्कालिक रूप से इसकी नई प्रक्रिया निर्धारित कर दी गई है. यह व्यवस्था अगले आदेशों तक लागू रहेगी.

Youtube Video

दो दिन के लिए ही इंजेक्शन का स्टॉक जारी होगा

आगे पढ़ें
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज