राजस्थान की बड़ी खबर: पायलट गुट के वरिष्ठ विधायक हेमाराम चौधरी ने दिया इस्तीफा

विधायक हेमाराम चौधरी ने विधानसभा अध्यक्ष को अपना इस्तीफा भेजा है. उनकी चिट्ठी सोशल मीडिया में तेजी से वायरल हो रही है.

विधायक हेमाराम चौधरी ने विधानसभा अध्यक्ष को अपना इस्तीफा भेजा है. उनकी चिट्ठी सोशल मीडिया में तेजी से वायरल हो रही है.

Big politics news of rajasthan: राजस्थान की सियासत में एक बार फिर से जोरदार हलचल मच गई है. लंबे समय से पार्टी से नाराज चल रहे सचिन पायलट खेमे से जुड़े पूर्व मंत्री एवं कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक हेमाराम चौधरी ने विधायक पद से इस्तीफा दे दिया है.

  • Share this:

जयपुर. राजस्थान की सियासत से जुड़ी बड़ी खबर सामने आई है. सचिन पायलट खेमे (Sachin Pilot Group) से जुड़े पूर्व मंत्री एवं कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक हेमाराम चौधरी (MLA Hemaram Choudhary) ने विधायक पद से इस्तीफा दे दिया है. बाड़मेर के गुड़ामालानी विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस विधायक हेमाराम चौधरी ने विधानसभा अध्यक्ष को अपना इस्तीफा भेजा है.

वरिष्ठ कांग्रेस नेता हेमाराम चौधरी लंबे समय से पार्टी से नाराज चल रहे थे. गत वर्ष राजस्थान में आये सियासी संकट के समय वे गहलोत के विरोधी पायलट खेमे के साथ थे. हेमाराम चौधरी के इस्तीफे की खबर से प्रदेश की राजनीति का सियासी पारा एकाएक गरमा गया है. हालांकि अभी तक संबंध में चौधरी का पक्ष सामने नहीं आ पाया है. लेकिन उनकी ओर से विधानसभा अध्यक्ष को भेजा गया इस्तीफा सोशल मीडिया में तेजी से वायरल हो रहा है.

राजस्थान की बड़ी खबर: पायलट गुट के वरिष्ठ विधायक हेमाराम चौधरी ने दिया इस्तीफा ! Rajasthan News, Jaipur News, Big Politics News Pilot faction senior MLA Hemaram Chaudhary resigns!
कांग्रेस विधायक हेमाराम चौधरी ने विधानसभा अध्यक्ष को अपना इस्तीफा भेजा है.

अपनी ही सरकार पर साध चुके हैं निशाने
हेमाराम चौधरी इस बार गहलोत मंत्रिमंडल में जगह नहीं मिलने से भी काफी सुर्खियों में रहे थे. उसके बाद वे कई बार मुखर होकर अपनी नाराजगी जाहिर कर चुके हैं. हेमाराम चौधरी अपनी ही गहलोत सरकार पर क्षेत्र में विकास कार्यों में भेदभाव करने का आरोप भी लगाते रहे हैं. पिछले दिनों विधानसभा में भी चौधरी ने खुलकर अपनी ही सरकार पर निशाने साधे थे. चौधरी ने कहा था कि उनके क्षेत्र में विकास कार्य नहीं हो रहे हैं.

उजागर हुई थी चौधरी की पीड़ा

विधानसभा में बोलते हुये चौधरी के मन में दबी पीड़ा पूरी तरह से उजागर हुई थी. चौधरी ने कहा था कि दुश्मनी निकालनी है तो मेरे से निकालो, क्षेत्र की जनता को परेशान मत करो. चौधरी ने उनके विधानसभा क्षेत्र से अधिकारियों को हटाने लगाने को लेकर भी नाराजगी जताई थी. उनकी ताजा नाराजगी कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर भर्ती से जुड़ी बताई जा रही है. सूत्रों की मानें तो चौधरी ने 14 फरवरी 2019 को भी इस्तीफा दिया था इस्तीफा, लेकिन स्पीकर ने उसे स्वीकार नहीं किया गया था.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज